Tuesday, February 25, 2020

नींव



      बहुत वर्षों से हमारे शहर के लोग उस भूमि पर घर बनाते या खरीदते रहे हैं जहाँ भूस्खलन की संभावना बहुत अधिक है। कुछ को इस असुरक्षित भूमि के विषय पता था, किन्तु औरों को इसके विषय बताया ही नहीं गया। हमारे स्थानीय अखबार में इस सम्बन्ध में एक लेखा छपा जिसमें लिखा था, “चालीस वर्षों से भूवैज्ञानिकों की चेतावनियों और सुरक्षित गृह निर्माण के लिए बनाए गए शहर के नियमों की अवहेलना की जाती रही है।” लोगों को या तो बताया अथवा समझाया नहीं गया, या उन्होंने चेतावनियों को अनेदखा किया। उन घरों से दिखने वाला दृश्य बहुत सुन्दर है, परन्तु उनके नींव की भूमि किसी हादसे के घटित होने की प्रतीक्षा में है।

      प्राचीन इस्राएल में भी बहुत से लोगों ने मूर्तियों से फिरकर, परमेश्वर के पीछे चलने की परमेश्वर की चेतावनियों की अवहेलना की। परमेश्वर के वचन बाइबल के पुराने नियम में उनकी इस अनाज्ञाकारिता के दुखद परिणाम दर्ज हैं। परन्तु इस अनाज्ञाकारिता के कारण उन पर आई परेशानियों और मुसीबतों में भी परमेश्वर क्षमा और आशा के सन्देश को उनको पहुँचाता रहा, यदि वे उसकी ओर मुड़ें और उसकी आज्ञाकारिता में चलें तो।

      यशायाह नबी ने कहा, “और उद्धार, बुद्धि और ज्ञान की बहुतायत तेरे दिनों का आधार होगी; यहोवा का भय उसका धन होगा” (यशायाह 33:6)।

      जैसा तब पुराने नियम के उस समय में था, वैसा ही आज भी है, और परमेश्वर हमें उस नींव के विषय विकल्प देता है, जिस पर हमें अपने जीवनों को बनाना है। हम अपनी लालसाओं का अनुसरण करते रह सकते हैं, या हम उसके वचन में दिए गए तथा प्रभु यीशु द्वारा सिखाए गए अनन्तकालीन सिद्धांतों का पालन कर सकते हैं। एडवर्ड मोटे ने कहा, “उस ठोस चट्टान, मसीह पर ही मैं खड़ा हूँ; उसके अतिरिक्त बाकी सब धंसती हुई रेत है।” – डेविड सी. मेक्कैसलैंड

जीवन के लिए प्रभु परमेश्वर ही हमारी सुदृढ़ नींव है।

उसने मुझे सत्यानाश के गड़हे और दलदल की कीच में से उबारा, और मुझ को चट्टान पर खड़ा कर के मेरे पैरों को दृढ़ किया है। - भजन  40:2

बाइबल पाठ: मत्ती 7:24-27
Matthew 7:24 इसलिये जो कोई मेरी ये बातें सुनकर उन्हें मानता है वह उस बुद्धिमान मनुष्य के समान ठहरेगा जिसने अपना घर चट्टान पर बनाया।
Matthew 7:25 और मेंह बरसा और बाढ़ें आईं, और आन्‍धियां चलीं, और उस घर पर टक्करें लगीं, परन्तु वह नहीं गिरा, क्योंकि उस की नेव चट्टान पर डाली गई थी।
Matthew 7:26 परन्तु जो कोई मेरी ये बातें सुनता है और उन पर नहीं चलता वह उस निर्बुद्धि मनुष्य के समान ठहरेगा जिसने अपना घर बालू पर बनाया।
Matthew 7:27 और मेंह बरसा, और बाढ़ें आईं, और आन्‍धियां चलीं, और उस घर पर टक्करें लगीं और वह गिरकर सत्यानाश हो गया।

एक साल में बाइबल: 
  • गिनती 12-14
  • मरकुस 5:21-43