Thursday, November 7, 2019

अवसर



      लिंडा को बहुत अचम्भा हो रहा था; उसने उस दंपत्ति से कहा, “जबकि आप मुझे जानते भी नहीं हैं, तो भी आप मेरे प्रति इतने कृपालु कैसे हो सकते हैं?” लिंडा के कुछ गलत निर्णयों के कारण उसे एक अन्य देश में जेल में छः वर्ष बिताने पड़े थे। जब वह रिहा हुई तो उसके पास जाने के लिए कोई स्थान नहीं था और उसे लग रहा था कि अब जीवन में उसके लिए कुछ शेष नहीं रहा है। उसका परिवार उसे वापस घर लाने के लिए आवश्यक पैसों को जुटाने के प्रयास में लगा था; ऐसे में एक कृपालु दंपत्ति ने उसे अपने घर में आश्रय और भोजन दिया, तथा उसकी सहायता करने के लिए हाथ बढ़ाया। लिंडा उनकी इस कृपा से इतनी प्रभावित हुई कि उसने उनसे उस प्रेमी और दयालु परमेश्वर के सुसमाचार के बारे में सुनना स्वीकार किया जो अब भी उससे भी प्रेम करता था और उसे फिर से जीवन का अवसर देना चाहता था।

      लिंडा मुझे परमेश्वर के वचन बाइबल की एक पात्र, नाओमी की याद दिलाती है; नाओमी विधवा थी, उसने परदेश में अपने पति और दोनों बेटों को गँवा दिया था, और तब उसे भी लगता था कि अब उसके जीवन में कुछ शेष नहीं रहा है (रूत 1)। परन्तु प्रभु परमेश्वर ने नाओमी को नहीं छोड़ा था; नाओमी की बहु के प्रेम और बोआज़ नामक एक धर्मी व्यक्ति की सहायता से नाओमी ने परमेश्वर के प्रेम का अनुभव किया और उसे जीवन में एक अवसर और मिला (रूत 4:13-17)।

      वही परमेश्वर आज हमारी भी चिंता एवँ देखभाल करता है। औरों के प्रेम के द्वारा हमें उसकी उपस्थिति और कार्य का आभास मिलता है; वह हमें ऐसे लोगों के द्वारा भी जिन्हें हम भलीभांति नहीं जानते हैं, सहायता प्रदान करता है। सबसे उत्तम बात यह है कि वह हमें भी एक और अवसर देने के लिए तैयार है। लिंडा और नाओमी के समान हमें भी हमारे दैनिक जीवन में कार्यरत परमेश्वर के अनदेखे हाथ की पहचान, और उसके द्वारा प्रदान किए गए अवसर का सदुपयोग करने की आवश्यकता है। - कीला ओकोआ

परमेश्वर हमें अवसर देता है।

उसने न तो जीवित पर से और न मरे हुओं पर से अपनी करूणा हटाई! – रूत 2:20

बाइबल पाठ: रूत 4:13-17
Ruth 4:13 तब बोअज ने रूत को ब्याह लिया, और वह उसकी पत्नी हो गई; और जब वह उसके पास गया तब यहोवा की दया से उसको गर्भ रहा, और उसके एक बेटा उत्पन्न हुआ।
Ruth 4:14 तब स्त्रियों ने नाओमी से कहा, यहोवा धन्य है, जिसने तुझे आज छुड़ाने वाले कुटुम्बी के बिना नहीं छोड़ा; इस्राएल में इसका बड़ा नाम हो।
Ruth 4:15 और यह तेरे जी में जी ले आनेवाला और तेरा बुढ़ापे में पालने वाला हो, क्योंकि तेरी बहू जो तुझ से प्रेम रखती और सात बेटों से भी तेरे लिये श्रेष्ट है उसी का यह बेटा है।
Ruth 4:16 फिर नाओमी उस बच्चे को अपनी गोद में रखकर उसकी धाई का काम करने लगी।
Ruth 4:17 और उसकी पड़ोसिनों ने यह कहकर, कि नाओमी के एक बेटा उत्पन्न हुआ है, लड़के का नाम ओबेद रखा। यिशै का पिता और दाऊद का दादा वही हुआ।

एक साल में बाइबल: 
  • यिर्मयाह 40-42
  • इब्रानियों 4