Thursday, May 9, 2019

गवाह



      न्यायालय की कार्यवाही में गवाह केवल मूक दर्शक नहीं होते हैं, वरन वे सक्रीय भागीदार होते हैं, उनकी बात और सहायता से मुक़दमे का निर्णय होता है। यही बात प्रभु यीशु के विषय हम मसीही विश्वासियों की गवाही पर भी लागू होती है। हमें एक अत्यंत महत्वपूर्ण तथ्य – प्रभु यीशु की मृत्यु और पुनरुत्थान, प्रभु यीशु में विश्वास द्वारा उद्धार के सुसमाचार के विषय सक्रीय भागीदार बनना है।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में हम पाते हैं कि जब यूहन्ना बपतिस्मा देने वाला लोगों को जगत की ज्योति प्रभु यीशु के विषय बताने आया, तो उसने यह कार्य प्रभु के विषय अपनी जानकारी लोगों के साथ साझा करके किया। और प्रभु यीशु के शिष्य यूहन्ना ने इन बातों को लिखा और प्रभु यीशु के साथ अपने अनुभवों की गवाही दी: “और वचन देहधारी हुआ; और अनुग्रह और सच्चाई से परिपूर्ण हो कर हमारे बीच में डेरा किया, और हम ने उस की ऐसी महिमा देखी, जैसी पिता के एकलौते की महिमा” (यूहन्ना 1:14)। प्रेरित पौलुस ने अपने युवा सहकर्मी तिमुथियुस से कहा, “और जो बातें तू ने बहुत गवाहों के साम्हने मुझ से सुनी हैं, उन्हें विश्वासी मनुष्यों को सौंप दे; जो औरों को भी सिखाने के योग्य हों” (2 तिमुथियुस 2:2)।

      प्रत्येक मसीही विश्वासी को सँसार रूपी न्यायालय में प्रस्तुत किया गया है। बाइबल बताती है कि हम मूक दर्शक नहीं, वरन सक्रीय भागीदार हैं, और हम मसीही विश्वासियों को अपनी यह भूमिका निभानी है। हम प्रभु यीशु की मृत्यु और पुनरुत्थान के विषय अपने जीवनों में प्रभु के प्रभावों द्वारा गवाही देते हैं। यूहन्ना बपतिस्मा देने वाला जंगल में एक पुकारने वाले की आवाज़ था। हमारी आवाज़ हमारे कार्यस्थल, पड़ौस, चर्च, और हमारे परिवार तथा मित्रजनों में सुनाई देनी चाहिए। हमउन्हें हमारे जीवनों में प्रभु यीशु की वास्तविकता की गवाही देने वाले सक्रीय गवाह होना है। - लौरेंस दरमानी


प्रभु यीशु में उद्धार का सुसमाचार बाँटने के लिए है।

और वे मेम्ने के लोहू के कारण, और अपनी गवाही के वचन के कारण, उस पर जयवन्‍त हुए, और उन्होंने अपने प्राणों को प्रिय न जाना, यहां तक कि मृत्यु भी सह ली। - प्रकाशितवाक्य 12:11

बाइबल पाठ: यूहन्ना 1:6-14
John 1:6 एक मनुष्य परमेश्वर की ओर से आ उपस्थित हुआ जिस का नाम यूहन्ना था।
John 1:7 यह गवाही देने आया, कि ज्योति की गवाही दे, ताकि सब उसके द्वारा विश्वास लाएं।
John 1:8 वह आप तो वह ज्योति न था, परन्तु उस ज्योति की गवाही देने के लिये आया था।
John 1:9 सच्ची ज्योति जो हर एक मनुष्य को प्रकाशित करती है, जगत में आनेवाली थी।
John 1:10 वह जगत में था, और जगत उसके द्वारा उत्पन्न हुआ, और जगत ने उसे नहीं पहिचाना।
John 1:11 वह अपने घर आया और उसके अपनों ने उसे ग्रहण नहीं किया।
John 1:12 परन्तु जितनों ने उसे ग्रहण किया, उसने उन्हें परमेश्वर के सन्तान होने का अधिकार दिया, अर्थात उन्हें जो उसके नाम पर विश्वास रखते हैं।
John 1:13 वे न तो लोहू से, न शरीर की इच्छा से, न मनुष्य की इच्छा से, परन्तु परमेश्वर से उत्पन्न हुए हैं।
John 1:14 और वचन देहधारी हुआ; और अनुग्रह और सच्चाई से परिपूर्ण हो कर हमारे बीच में डेरा किया, और हम ने उस की ऐसी महिमा देखी, जैसी पिता के एकलौते की महिमा।

एक साल में बाइबल:  
  • 2 राजा 7-9
  • यूहन्ना 1:1-28