Friday, February 5, 2021

परिवर्तन

 

          अमेरिका के जनगणना विभाग के अनुसार, एक सामान्य अमरीकी व्यक्ति, अपने जीवन काल में औसतन ग्यारह से बारह बार रहने का स्थान परिवर्तित करता है। हाल ही के एक वर्ष में 280 लाख लोगों ने अपने सामान बांधे, स्थान परिवर्तन किया, और फिर से नए स्थान पर सामान खोलकर लगाया।

          परमेश्वर के वचन बाइबल में इस्राएल के चालीस वर्ष की जंगल की यात्रा में परमेश्वर की उपस्थिति का बादल और आग का खम्भा उन्हें उनके नए निवासस्थान की यात्रा में एक से दूसरे स्थान को लिए चला, और उन्हें बार-बार अपना, और साथ ही मिलाप वाले तम्बू का भी जहाँ पर परमेश्वर मूसा के साथ मिला करता था (निर्गमन 25:22) सामान बांधना और खोलना पड़ता था।

          अनेकों वर्ष के बाद प्रभु यीशु ने इस्राएल के स्थान परिवर्तन करते रहने के अनुभव को संपूर्ण अर्थ प्रदान किया। अब, प्रभु परमेश्वर बादल और आग के खम्भे में से निकलकर सदेह उनके मध्य आ गया था। जब प्रभु ने कहा “मेरे पीछे हो लो” (मत्ती 4:19) तो उसने यह भी दिखाना आरंभ कर दिया कि सबसे महत्वपूर्ण परिवर्तन तो हृदय के मार्ग का होता है। मित्रों और शत्रुओं, दोनों को ही अपने क्रूस तक लाने के द्वारा प्रभु ने दिखाया कि हम पापी मनुष्यों को हमारे पापों से छुड़ाने और बचाने के लिए वह किस सीमा तक गया।

          निवास स्थान के परिवर्तन के समान हृदय का परिवर्तन भी अस्त-व्यस्त कर देने वाला हो सकता है। परन्तु किसी दिन हम अपने स्वर्गीय पिता के घर की किसी खिड़की से झाँक कर देखेंगे कि परिवर्तन के उस सारे मार्ग में हमारा मार्गदर्शक, सहायक, और साथी स्वयं प्रभु ही था। - मार्ट डीहान

 

प्रभु, चाहे परिवर्तन हमने अस्त-व्यस्त करे, परन्तु हमें अपनी ओर परिवर्तित अवश्य करें।


सुन, मैं एक दूत तेरे आगे आगे भेजता हूं जो मार्ग में तेरी रक्षा करेगा, और जिस स्थान को मैं ने तैयार किया है उस में तुझे पहुंचाएगा। - निर्गमन 23:20

बाइबल पाठ: गिनती 9:15-23

गिनती 9:15 जिस दिन निवास जो साक्षी का तम्बू भी कहलाता है खड़ा किया गया, उस दिन बादल उस पर छा गया; और संध्या को वह निवास पर आग सा दिखाई दिया और भोर तक दिखाई देता रहा।

गिनती 9:16 और नित्य ऐसा ही हुआ करता था; अर्थात दिन को बादल छाया रहता, और रात को आग दिखाई देती थी।

गिनती 9:17 और जब जब वह बादल तम्बू पर से उठ जाता तब इस्राएली प्रस्थान करते थे; और जिस स्थान पर बादल ठहर जाता वहीं इस्राएली अपने डेरे खड़े करते थे।

गिनती 9:18 यहोवा की आज्ञा से इस्राएली कूच करते थे, और यहोवा ही की आज्ञा से वे डेरे खड़े भी करते थे; और जितने दिन तक वह बादल निवास पर ठहरा रहता उतने दिन तक वे डेरे डाले पड़े रहते थे।

गिनती 9:19 और जब जब बादल बहुत दिन निवास पर छाया रहता तब इस्राएली यहोवा की आज्ञा मानते, और प्रस्थान नहीं करते थे।

गिनती 9:20 और कभी कभी वह बादल थोड़े ही दिन तक निवास पर रहता, और तब भी वे यहोवा की आज्ञा से डेरे डाले पड़े रहते थे और फिर यहोवा की आज्ञा ही से प्रस्थान करते थे।

गिनती 9:21 और कभी कभी बादल केवल संध्या से भोर तक रहता; और जब वह भोर को उठ जाता था तब वे प्रस्थान करते थे, और यदि वह रात दिन बराबर रहता तो जब बादल उठ जाता तब ही वे प्रस्थान करते थे।

गिनती 9:22 वह बादल चाहे दो दिन, चाहे एक महीना, चाहे वर्ष भर, जब तक निवास पर ठहरा रहता तब तक इस्राएली अपने डेरों में रहते और प्रस्थान नहीं करते थे; परन्तु जब वह उठ जाता तब वे प्रस्थान करते थे।

गिनती 9:23 यहोवा की आज्ञा से वे अपने डेरे खड़े करते, और यहोवा ही की आज्ञा से वे प्रस्थान करते थे; जो आज्ञा यहोवा मूसा के द्वारा देता था उसको वे माना करते थे।

 

एक साल में बाइबल: 

  • निर्गमन 36-38 
  • मत्ती 23:1-22