Friday, April 2, 2021

शुभ सन्देश

 

          वह एक अंधकारमय और निराशाजनक दिन था, और यरूशलेम नगर की दीवार के बाहर स्थित एक पहाड़ी पर, एक आदमी क्रूस पर टंगा हुआ था। वह आदमी पिछले लगभग साढ़े तीन वर्षों से लोगों की बड़ी भीड़ को आकर्षित करता रहा था, किन्तु आज वह अपमानित और पीड़ा में काठ के एक खुरदरे क्रूस पट टंगा हुआ अपनी अंतिम साँसें ले रहा था। कुछ लोग उसके लिए दुखी होकर विलाप कर रहे थे। दोपहरी का सूरज आकाश को चमक प्रदान नहीं करने पा रहा था; और अन्ततः उस आदमी की घोर पीड़ा का अन्त हुआ जब उसने ऊँचे शब्द से पुकार कर कहा, “पूरा हुआ”, और अपने प्राण त्याग दिए (मत्ती 27:50; यूहन्ना 19:30)।

          ठीक उसी समय, नगर के अंदर स्थित मंदिर में से एक आवाज़ और आई – कपड़े के फटने की आवाज़। आश्चर्यजनक रीति से, बिना किसी मनुष्य के हस्तक्षेप के, मंदिर में महापवित्र स्थान को पवित्र स्थान से पृथक करने वाला बहुत बड़ा और मोटा पर्दा, ऊपर से नीचे तक फट कर दो भाग हो गया (मत्ती 27:51)।

          वह फटा हुआ पर्दा क्रूस की वास्तविकता का चिह्न था; परमेश्वर तक पहुँचने का एक नया मार्ग खुल गया था। क्रूस पर टंगे हुए उस आदमी, प्रभु यीशु मसीह, ने अपने लहू को अंतिम बलिदान के रूप में बहा दिया था, और यह अब पर्याप्त और सच्चा प्रभावी बलिदान हो गया था (इब्रानियों 10:10)। इस बलिदान के कारण, अब जो कोई भी प्रभु यीशु मसीह में विश्वास लाता है, उससे अपने पापों की क्षमा माँगता है, वह परमेश्वर के साथ उसकी संतान होने के रिश्ते में जुड़ जाता है (रोमियों 5:6-11)।

          उस मूल ‘शुभ शुक्रवार’ के अन्धकार में होकर हमें सबसे शुभ और भला समाचार मिला – प्रभु यीशु ने हमारे पापों की क्षमा और उनके घातक परिणामों से बचने के लिए, तथा परमेश्वर के साथ संगति और सहभागिता रखने के लिए, संसार के सभी लोगों के लिए, हमेशा-हमेशा के लिए मार्ग तैयार करके, और खोलकर दे दिया है (इब्रानियों 10:19 22)। उस फटे हुए परदे और क्रूस के बलिदान के शुभ सन्देश के लिए परमेश्वर का बहुत-बहुत धन्यवाद हो। - डेव ब्रैनन

 

 

सेंत-मेंत पापों से क्षमा तथा उद्धार का मार्ग सभी के लिए खुला और उपलब्ध है।


परन्तु परमेश्वर हम पर अपने प्रेम की भलाई इस रीति से प्रगट करता है, कि जब हम पापी ही थे तभी मसीह हमारे लिये मरा। सो जब कि हम, अब उसके लहू के कारण धर्मी ठहरे, तो उसके द्वारा क्रोध से क्यों न बचेंगे? - रोमियों 5:8-9

बाइबल पाठ: इब्रानियों 10:10-23

इब्रानियों 10:10 उसी इच्छा से हम यीशु मसीह की देह के एक ही बार बलिदान चढ़ाए जाने के द्वारा पवित्र किए गए हैं।

इब्रानियों 10:11 और हर एक याजक तो खड़े हो कर प्रति दिन सेवा करता है, और एक ही प्रकार के बलिदान को जो पापों को कभी भी दूर नहीं कर सकते; बार बार चढ़ाता है।

इब्रानियों 10:12 पर यह व्यक्ति तो पापों के बदले एक ही बलिदान सर्वदा के लिये चढ़ा कर परमेश्वर के दाहिने जा बैठा।

इब्रानियों 10:13 और उसी समय से इस की बाट जोह रहा है, कि उसके बैरी उसके पांवों के नीचे की पीढ़ी बनें।

इब्रानियों 10:14 क्योंकि उसने एक ही चढ़ावे के द्वारा उन्हें जो पवित्र किए जाते हैं, सर्वदा के लिये सिद्ध कर दिया है।

इब्रानियों 10:15 और पवित्र आत्मा भी हमें यही गवाही देता है; क्योंकि उसने पहिले कहा था

इब्रानियों 10:16 कि प्रभु कहता है; कि जो वाचा मैं उन दिनों के बाद उन से बान्धूंगा वह यह है कि मैं अपनी व्यवस्थाओं को उनके हृदय पर लिखूंगा और मैं उन के विवेक में डालूंगा।

इब्रानियों 10:17 (फिर वह यह कहता है, कि) मैं उन के पापों को, और उन के अधर्म के कामों को फिर कभी स्मरण न करूंगा।

इब्रानियों 10:18 और जब इन की क्षमा हो गई है, तो फिर पाप का बलिदान नहीं रहा।

इब्रानियों 10:19 सो हे भाइयों, जब कि हमें यीशु के लहू के द्वारा उस नए और जीवते मार्ग से पवित्र स्थान में प्रवेश करने का हियाव हो गया है।

इब्रानियों 10:20 जो उसने परदे अर्थात अपने शरीर में से हो कर, हमारे लिये अभिषेक किया है,

इब्रानियों 10:21 और इसलिये कि हमारा ऐसा महान याजक है, जो परमेश्वर के घर का अधिकारी है।

इब्रानियों 10:22 तो आओ; हम सच्चे मन, और पूरे विश्वास के साथ, और विवेक को दोष दूर करने के लिये हृदय पर छिड़काव ले कर, और देह को शुद्ध जल से धुलवा कर परमेश्वर के समीप जाएं।

इब्रानियों 10:23 और अपनी आशा के अंगीकार को दृढ़ता से थामें रहें; क्योंकि जिसने प्रतिज्ञा किया है, वह सच्चा है।

 

एक साल में बाइबल: 

  • न्यायियों 16-18
  • लूका 7:1-30