Sunday, July 18, 2021

सहायता

 

          मैंने जब अपनी कार लाल बत्ती होने से रोकी, तो मैंने फिर से उसी आदमी को सड़क के किनारे खड़ा हुआ देखा। उसके हाथ में गत्ते की एक तख्ती थी, जिस पर लिखा था: “भोजन के लिए पैसे चाहिएँ; जितना भी देंगे, सहायता होगी।” मैंने दूसरी ओर मुँह फेर लिया और लम्बी साँस ली। क्या मैं ऐसा व्यक्ति हूँ जो ज़रूरतमंदों की उपेक्षा करता है? मुझे बुरा तो लगा, किन्तु मैंने उसकी उपेक्षा की, और गाड़ी आगे बढ़ा दी।

          वास्तविकता है कि कुछ लोग आवश्यकताएं होने का ढोंग करते हैं, किन्तु असल में ठग होते हैं। कुछ ऐसे भी होते हैं जिनकी वास्तविक आवश्यकताएं होती हैं किन्तु साथ ही उनमें कुछ बुरी आदतें होना उन्हें इस प्रकार माँगने की स्थिति में लाकर खड़ा कर देता है। लोगों की सहायता करने में लगे सामाजिक कार्यकर्ता कहते हैं कि सहायता करने के लिए सबसे सही अपने स्थान में लोगों की सहायता में लगी संस्थाओं को पैसा देना होता है।

          परमेश्वर के वचन बाइबल में परमेश्वर हम से कहता है,और हे भाइयों, हम तुम्हें समझाते हैं, कि जो ठीक चाल नहीं चलते, उन को समझाओ, कायरों को ढाढ़स दो, निर्बलों को संभालो, सब की ओर सहनशीलता दिखाओ” (1 थिस्स्लुनीकियों 5:14)।  सही रीति से सहायता करने के लिए हमें यह जानना आवश्यक है कि कौन किस श्रेणी में आता है? यदि हम किसी निराश अथवा कमज़ोर हुए व्यक्ति को चेतावनी देंगे, तो हम उसकी आत्मा को तोड़ भी सकते हैं। और यदि हम किसी सक्षम किन्तु आलसी व्यक्ति की सहायता करेंगे, तो हम आलसीपन को बढ़ावा देंगे। तो उचित यही है कि सहायता देने के लिए व्यक्ति को पहले पहचान लें, उसकी आवश्यकताओं को जान लें, और उसके आधार पर निर्णय लें कि किसको क्या और कितना देना है।

          क्या परमेश्वर ने आपके मन में किसी की सहायता करने के लिए कुछ बोझ दिया है? बहुत अच्छा; असली कार्य यहाँ से आरंभ होता है! अनुमान लगाकर यह धारणा मत बना लीजिए कि उस व्यक्ति को क्या चाहिए होगा। जाकर उससे मिलें, उसकी बात को सुनें, ध्यानपूर्वक सही जानकारी लेने के बाद निर्णय लें कि उसे क्या चाहिए होगा, और फिर प्रार्थना पूर्वक उसे उचित दें; केवल अपने मन में भला अनुभव करने के लिए ही न दें। जब हम वास्तविकता में सब की भलाई करने की चेष्टा करेंगे, तो हम औरों के प्रति धैर्य भी रखेंगे, उनके ठोकर खाने में उन्हें संभालेंगे, और हमारी सहायता सार्थक होगी। - माईक विटमर

 

प्रभु मुझे औरों की सही सहायता करने की सद्बुद्धि दें, और करवाएं।


इसलिये जहां तक अवसर मिले हम सब के साथ भलाई करें; विशेष कर के विश्वासी भाइयों के साथ। - गलातियों 6:10

बाइबल पाठ: 1 थिस्सलुनीकियों 5:12-15

1 थिस्स्लुनीकियों 5:12 और हे भाइयों, हम तुम से बिनती करते हैं, कि जो तुम में परिश्रम करते हैं, और प्रभु में तुम्हारे अगुवे हैं, और तुम्हें शिक्षा देते हैं, उन्हें मानो।

1 थिस्स्लुनीकियों 5:13 और उन के काम के कारण प्रेम के साथ उन को बहुत ही आदर के योग्य समझो: आपस में मेल-मिलाप से रहो।

1 थिस्स्लुनीकियों 5:14 और हे भाइयों, हम तुम्हें समझाते हैं, कि जो ठीक चाल नहीं चलते, उन को समझाओ, कायरों को ढाढ़स दो, निर्बलों को संभालो, सब की ओर सहनशीलता दिखाओ।

1 थिस्स्लुनीकियों 5:15 सावधान! कोई किसी से बुराई के बदले बुराई न करे; पर सदा भलाई करने पर तत्पर रहो आपस में और सब से भी भलाई ही की चेष्टा करो।

 

एक साल में बाइबल: 

  • भजन 20-22
  • प्रेरितों 21:1-17