Monday, December 16, 2019

बड़ा और छोटा



      हम कार चलाते हुए उत्तरी मिशिगन से होकर निकल रहे थे, कि मेरी पत्नि मार्लीन ने आश्चर्यचकित होकर कहा “विशवास नहीं होता है कि हमारा संसार इतना बड़ा है!” उसने या टिप्पणी तब की जब हमने उस संकेत को पार किया जो भूमध्य रेखा और उत्तरी ध्रुव के मध्य की दूरी के बीच में स्थित समानान्तर की रेखा को दिखाता है। हम आपस में बात करते रहे कि हमारा संसार कितना बड़ा है और हम कितने छोटे हैं। फिर भी सृष्टि की तुलना में हमारा छोटा सा गृह धूल के एक कण के समान है।

      यदि हमारा संसार बड़ा है, और जगत उससे भी कहीं अधिक बड़ा है, तो वह कितना बड़ा होगा जिसने अपनी सामर्थ्य से इस सब की सृष्टि की? परमेश्वर का वचन बाइबल हमें बताती है कि “क्योंकि उसी [प्रभु यीशु] में सारी वस्‍तुओं की सृष्‍टि हुई, स्वर्ग की हो अथवा पृथ्वी की, देखी या अनदेखी, क्या सिंहासन, क्या प्रभुतांए, क्या प्रधानताएं, क्या अधिकार, सारी वस्तुएं उसी के द्वारा और उसी के लिये सृजी गई हैं” (कुलुस्सियों 1:16)।

      यह एक अच्छा समाचार है क्योंकि जिस प्रभु यीशु ने इस जगत की सृष्टि की, वही हमें हमारे पापों से सदा कल के लिए छुड़ाने के लिए आया है। अपनी मृत्यु से पहले की रात्रि को प्रभु यीशु ने अपने शिष्यों से कहा, “मैं ने ये बातें तुम से इसलिये कही हैं, कि तुम्हें मुझ में शान्‍ति मिले; संसार में तुम्हें क्‍लेश होता है, परन्तु ढाढ़स बांधो, मैं ने संसार को जीन लिया है” (यूहन्ना 16:33)।

      जब हम मसीही विश्वासी जीवन की छोटी – बड़ी चुनौतियों का सामना करते हैं, तो हम उसे पुकारते हैं जिसने इस सृष्टि की रचना की, तथा जो हमारे लिए मारा गया और फिर तीसरे दिन जी भी उठा, और जिसने इस संसार के पाप के टूटेपन पर विजय प्राप्त की। हमारी हर परिस्थिति में वह अपनी शान्ति हमें देता है। वह बड़ा परमेश्वर हमारी छोटी समस्याओं में भी हमारे साथ होता है। - बिल क्राउडर

परमेश्वर का अनुग्रह असीमित है, उसकी करुणा अपार है, और उसकी शान्ति अवर्णनीय है।

मैं तुम्हें शान्‍ति दिए जाता हूं, अपनी शान्‍ति तुम्हें देता हूं; जैसे संसार देता है, मैं तुम्हें नहीं देता: तुम्हारा मन न घबराए और न डरे। - यूहन्ना 14:27

बाइबल पाठ: कुलुस्सियों 1:12-17
Colossians 1:12 और पिता का धन्यवाद करते रहो, जिसने हमें इस योग्य बनाया कि ज्योति में पवित्र लोगों के साथ मीरास में समभागी हों।
Colossians 1:13 उसी ने हमें अन्धकार के वश से छुड़ाकर अपने प्रिय पुत्र के राज्य में प्रवेश कराया।
Colossians 1:14 जिस में हमें छुटकारा अर्थात पापों की क्षमा प्राप्त होती है।
Colossians 1:15 वह तो अदृश्य परमेश्वर का प्रतिरूप और सारी सृष्‍टि में पहिलौठा है।
Colossians 1:16 क्योंकि उसी में सारी वस्‍तुओं की सृष्‍टि हुई, स्वर्ग की हो अथवा पृथ्वी की, देखी या अनदेखी, क्या सिंहासन, क्या प्रभुतांए, क्या प्रधानताएं, क्या अधिकार, सारी वस्तुएं उसी के द्वारा और उसी के लिये सृजी गई हैं।
Colossians 1:17 और वही सब वस्‍तुओं में प्रथम है, और सब वस्तुएं उसी में स्थिर रहती हैं।

एक साल में बाइबल: 
  • अमोस 4-6
  • प्रकाशितवाक्य 7