बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, May 21, 2018

निवास स्थान



   ब्रिटिश जनरल और संसद सदस्य जेम्स ओग्लेथोर्प का दर्शन एक महान नगर बनाने का था। उन्हें उत्तरी अमेरिका में जॉर्जिया प्रांत को बसाने का बीड़ा दिया गया था। उन्होंने अपने दर्शन के अनुसार वहाँ एक नगर स्थापित करने की योजना बनाई। अपनी इस योजना में उन्होंने अनेकों चौकोर स्थानों को परस्पर निकटता में बनाया। प्रत्येक चौकोर स्थान में चर्च और दुकानों के लिए स्थान और हरित स्थान थे, और शेष इलाका, रिहायशी मकान बनाए जाने के लिए था। उस समय जेम्स ओग्लेथोर्प द्वारा दर्शन के साथ बनाया गया शहर सवान्ना, आज अमेरिका के दक्षिणी क्षेत्र का उत्कृष्ठ शहर है।

   परमेश्वर के वचन बाइबल की अंतिम पुस्तक, प्रकाशिवाक्य, के 21 अध्याय में यूहन्ना ने एक भिन्न नगर – नए यरूशलेम का दर्शन देखा। यूहन्ना ने इस शहर के बारे जो वर्णन दिया है वह उसकी परियोजना एवँ बनावट के विषय में कम और उसमें निवास करने वालों के चरित्र के बारे में अधिक है। जब यूहन्ना ने हम मसीही विश्वासियों के अनन्तकाल के निवास स्थान का वर्णन किया, तो उसने लिखा, “फिर मैं ने सिंहासन में से किसी को ऊंचे शब्द से यह कहते सुना, कि देख, परमेश्वर का डेरा मनुष्यों के बीच में है; वह उन के साथ डेरा करेगा, और वे उसके लोग होंगे, और परमेश्वर आप उन के साथ रहेगा; और उन का परमेश्वर होगा” (पद 3)। जो वहाँ था – परमेश्वर पिता – उसकी उपस्थित के कारण यह निवास स्थान उस बात के लिए उल्लेखनीय है जो वहाँ नहीं होगी। यशायाह 25:8 को उद्धृत करते हुए यूहन्ना ने लिखा, “और वह उन की आंखों से सब आंसू पोंछ डालेगा; और इस के बाद मृत्यु न रहेगी, और न शोक, न विलाप, न पीड़ा रहेगी; पहिली बातें जाती रहीं” (पद 4)।

   फिर कोई मृत्यु नहीं होगी! न ही कोई विलाप या पीड़ा रहेगी। हमारे दुखों के स्थान पर परमेश्वर की अद्भुत चंगाई और शान्ति देने वाली, सृष्टि के परमेश्वर की उपस्थिति आ जाएगी। यही वह स्थान है जिसे आज प्रभु यीशु अपने विश्वासियों, अनुयायियों के लिए तैयार कर रहा है; उनके लिए जो पश्चाताप के साथ उससे अपने पापों की क्षमा माँगकर अपना जीवन उसे समर्पित कर देते हैं। - बिल क्राउडर


हे प्रभु, जब आप हमारे लिए स्थान तैयार कर रहे हैं, 
तो उस स्थान के लिए हमें भी तैयार करें।

तुम्हारा मन व्याकुल न हो, तुम परमेश्वर पर विश्वास रखते हो मुझ पर भी विश्वास रखो। मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं, यदि न होते, तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं। और यदि मैं जा कर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूं, तो फिर आकर तुम्हें अपने यहां ले जाऊंगा, कि जहां मैं रहूं वहां तुम भी रहो। - यूहन्ना 14:1-3

बाइबल पाठ: प्रकाशितवाक्य 21:1-7
Revelation 21:1 फिर मैं ने नये आकाश और नयी पृथ्वी को देखा, क्योंकि पहिला आकाश और पहिली पृथ्वी जाती रही थी, और समुद्र भी न रहा।
Revelation 21:2 फिर मैं ने पवित्र नगर नये यरूशलेम को स्वर्ग पर से परमेश्वर के पास से उतरते देखा, और वह उस दुल्हिन के समान थी, जो अपने पति के लिये सिंगार किए हो।
Revelation 21:3 फिर मैं ने सिंहासन में से किसी को ऊंचे शब्द से यह कहते सुना, कि देख, परमेश्वर का डेरा मनुष्यों के बीच में है; वह उन के साथ डेरा करेगा, और वे उसके लोग होंगे, और परमेश्वर आप उन के साथ रहेगा; और उन का परमेश्वर होगा।
Revelation 21:4 और वह उन की आंखों से सब आंसू पोंछ डालेगा; और इस के बाद मृत्यु न रहेगी, और न शोक, न विलाप, न पीड़ा रहेगी; पहिली बातें जाती रहीं।
Revelation 21:5 और जो सिंहासन पर बैठा था, उसने कहा, कि देख, मैं सब कुछ नया कर देता हूं: फिर उसने कहा, कि लिख ले, क्योंकि ये वचन विश्वास के योग्य और सत्य हैं।
Revelation 21:6 फिर उसने मुझ से कहा, ये बातें पूरी हो गई हैं, मैं अलफा और ओमिगा, आदि और अन्‍त हूं: मैं प्यासे को जीवन के जल के सोते में से सेंतमेंत पिलाऊंगा।
Revelation 21:7 जो जय पाए, वही इन वस्‍तुओं का वारिस होगा; और मैं उसका परमेश्वर होऊंगा, और वह मेरा पुत्र होगा।
                                                 

एक साल में बाइबल: 
  • 1 इतिहास 13-15
  • यूहन्ना 7:1-27