बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, February 19, 2019

अनुग्रह



      मेक्सिको में कोई भी उत्सव पिनाटा के बिना नहीं मनाया जा सकता है। पिनाटा मिट्टी या गत्ते का बना एक पात्र होता है जिसमें टॉफियां और अन्य मिट्ठाइयाँ रखी हुई होती हैं, और बच्चे उसे एक डंडे से मारकर तोड़ने तथा उन टॉफियों और मिट्ठाइयों को पाने का प्रयास करते हैं।

      सोलहवीं शताब्दी में भिक्षुओं ने पिनाटा को मेक्सिको के मूल निवासियों को शिक्षा देने के लिए प्रयोग करना आरंभ किया था। उनके पिनाटा सात कोनों वाले सितारों के जैसे होते थे, जो सात घातक पापों के प्रतीक थे। पिनाटा को मारना बुराई के विरुद्ध संघर्ष को दिखाता था, और एक बार पिनाटा के टूटने पर उसके अन्दर की मिट्ठाइयाँ निकल पड़ती थीं तो लोग उन्हें घर लेजा सकते थे, विश्वास को रखने के उपहार के स्मृति के रूप में।

      बुराई के एक प्रतीक को मारना और तोड़ना, सांकेतिक रीति से संभव हो सकता है, किन्तु वास्तविकता में हम मनुष्य पाप और शैतान को अपनी सामर्थ्य और युक्तियों से नहीं हरा सकते हैं। न ही परमेश्वर इस प्रतीक्षा में है कि हम अपने प्रयासों से बुराई को हराएं और वह हम पर कृपा करे। परमेश्वर के वचन बाइबल में इफिसियों की पत्री हमें सिखाती है कि “क्योंकि विश्वास के द्वारा अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है, और यह तुम्हारी ओर से नहीं, वरन परमेश्वर का दान है” (इफिसियों 2:8)। हमें पाप से संघर्ष करके उसे हारने का प्रयास करने की आवश्यकता नहीं है, मसीह यीशु ने हमारे लिए यह कर दिया है।

      पिनाटा से निकलने वाली टॉफियों और मिट्ठाइयों के लिए बच्चे आपस में लड़ भी पड़ते हैं, परन्तु परमेश्वर के उपहार और वरदान सभी मसीही विश्वासियों के लिए बिना किसी संघर्ष के उपलब्ध रहते हैं – “हमारे प्रभु यीशु मसीह के परमेश्वर और पिता का धन्यवाद हो, कि उसने हमें मसीह में स्‍वर्गीय स्थानों में सब प्रकार की आशीष दी है” (इफिसियों 1:3)। प्रभु यीशु मसीह पर विश्वास करने और उससे अपने पापों की क्षमा मांगकर अपना जीवन उसे समर्पित करने से हमें पापों की क्षमा, छुटकारा, लेपालकपन, नया जीवन, आनन्द, प्रेम, और अन्य बहुत सी आशीषें मिलती हैं।

      हमें ये आशीषें विश्वास को रखने और विश्वास में दृढ़ होने के कारण, हमारे किन्हीं कर्मों के कारण नहीं मिलती हैं; वरन वे सभी आशीषें मसीह यीशु में लाए गए विश्वास के परिणामस्वरूप परमेश्वर के अनुग्रह के द्वारा हमारे उद्धार के साथ ही हमें मिल जाती हैं। आत्मिक आशीषें केवल परमेश्वर के अनुग्रह के द्वारा, उस अनुग्रह के द्वारा जिसके हम योग्य नहीं थे, विश्वास लाने से मिलती हैं। - कीला ओकोआ


हमने अनुग्रह द्वारा उद्धार पाया है। 
अब उस अनुग्रह से मिलने वाली आशीषों का भी आनन्द उठाते हैं।

परन्तु जितनों ने उसे ग्रहण किया, उसने उन्हें परमेश्वर के सन्तान होने का अधिकार दिया, अर्थात उन्हें जो उसके नाम पर विश्वास रखते हैं। - यूहन्ना 1:12

बाइबल पाठ: इफिसियों 2:1-10
Ephesians 2:1 और उसने तुम्हें भी जिलाया, जो अपने अपराधों और पापों के कारण मरे हुए थे।
Ephesians 2:2 जिन में तुम पहिले इस संसार की रीति पर, और आकाश के अधिकार के हाकिम अर्थात उस आत्मा के अनुसार चलते थे, जो अब भी आज्ञा न मानने वालों में कार्य करता है।
Ephesians 2:3 इन में हम भी सब के सब पहिले अपने शरीर की लालसाओं में दिन बिताते थे, और शरीर, और मन की मनसाएं पूरी करते थे, और और लोगों के समान स्‍वभाव ही से क्रोध की सन्तान थे।
Ephesians 2:4 परन्तु परमेश्वर ने जो दया का धनी है; अपने उस बड़े प्रेम के कारण, जिस से उसने हम से प्रेम किया।
Ephesians 2:5 जब हम अपराधों के कारण मरे हुए थे, तो हमें मसीह के साथ जिलाया; (अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है।)
Ephesians 2:6 और मसीह यीशु में उसके साथ उठाया, और स्‍वर्गीय स्थानों में उसके साथ बैठाया।
Ephesians 2:7 कि वह अपनी उस कृपा से जो मसीह यीशु में हम पर है, आने वाले समयों में अपने अनुग्रह का असीम धन दिखाए।
Ephesians 2:8 क्योंकि विश्वास के द्वारा अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है, और यह तुम्हारी ओर से नहीं, वरन परमेश्वर का दान है।
Ephesians 2:9 और न कर्मों के कारण, ऐसा न हो कि कोई घमण्‍ड करे।
Ephesians 2:10 क्योंकि हम उसके बनाए हुए हैं; और मसीह यीशु में उन भले कामों के लिये सृजे गए जिन्हें परमेश्वर ने पहिले से हमारे करने के लिये तैयार किया।

एक साल में बाइबल: 
  • लैव्यवस्था 25
  • मरकुस 1:23-45