बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, January 2, 2020

दृढ़



      मैं जिस दफ्तर में काम करता हूँ, एक दिन उसके भवन की एक दीवार के साथ-साथ चलते हुए मैंने कॉन्क्रीट के स्लेबस के बीच की दरार में से होकर एक पौधे को उगे हुए और उसमें बहुत सुन्दर फूल को लगे हुए देखा। मैं उसे देखकर बहुत चकित हुआ; उसकी विपरीत परिस्थितयों के बावजूद उस पौधे को उसे बंजर दरार में जड़ जमाने का स्थान मिल गया था और वह पनप तथा फूल रहा था। बाद में मैंने देखा कि उस पौधे के ऊपर लगे हुए एक एयर कंडिश्नर से दिन भर टपकती हुई पानी की बूँदें उसे तर रखती थीं। यद्यपि उस पौधे के लिए परिस्थितियाँ सहायक नहीं थीं परन्तु ‘ऊपर’ से आने वाली ‘सहायता’ ने उसे पनपने और फूल लाने वाला बना दिया था।

      मसीही जीवन में बढ़ना भी कभी-कभी कठिन हो सकता है, परन्तु जब हम मसीह यीशु के साथ दृढ़ बने रहते हैं तो बाधाओं पर पार पाया जा सकता है। हो सकता है कि हमारी परिस्थितियाँ प्रतिकूल हों और निराशाएं बाधा बन जाएँ। परन्तु यदि हम प्रभु यीशु के साथ अपने संबंध में दृढ़ बने रहेंगे तो हम उस अकेले पौधे के समान पनपेंगे और फूलेंगे भी। परमेश्वर के वचन बाइबल में हम देखते हैं कि प्रेरित पौलुस का भी यही अनुभव था। उन अत्यंत कठिन परिस्थितियों और परीक्षाओं के बावजूद जिनका उसे सामना करना पड़ा (2 कुरिन्थियों 11:23-27) उसने हार नहीं मानी; वह प्रभु में दृढ़ बना ही रहा। वह लिखता है, “यह मतलब नहीं, कि मैं पा चुका हूं, या सिद्ध हो चुका हूं: पर उस पदार्थ को पकड़ने के लिये दौड़ा चला जाता हूं, जिस के लिये मसीह यीशु ने मुझे पकड़ा था। निशाने की ओर दौड़ा चला जाता हूं, ताकि वह इनाम पाऊं, जिस के लिये परमेश्वर ने मुझे मसीह यीशु में ऊपर बुलाया है” (फिलिप्पियों 3:12, 14)।

      पौलुस को यह भरोसा था कि वह प्रभु की सहायता से सब कुछ कर सकता है (4:13)। यदि हम भी पौलुस के समान प्रत्येक परिस्थिति में प्रभु के साथ दृढ़ बने रहें, तो हम भी सब कुछ कर सकेंगे। - लौरेंस दरमानी

हमें दृढ़ बने रहने और बढ़ने के लिए जिस बल की आवश्यकता है, 
परमेश्वर हमें प्रदान करता है।

जो मुझे सामर्थ्य देता है उस में मैं सब कुछ कर सकता हूं। - फिलिप्पियों 4:13

बाइबल पाठ: फिलिप्पियों 3:7-14
Philippians 3:7 परन्तु जो जो बातें मेरे लाभ की थीं, उन्‍हीं को मैं ने मसीह के कारण हानि समझ लिया है।
Philippians 3:8 वरन मैं अपने प्रभु मसीह यीशु की पहिचान की उत्तमता के कारण सब बातों को हानि समझता हूं: जिस के कारण मैं ने सब वस्‍तुओं की हानि उठाई, और उन्हें कूड़ा समझता हूं, जिस से मैं मसीह को प्राप्त करूं।
Philippians 3:9 और उस में पाया जाऊं; न कि अपनी उस धामिर्कता के साथ, जो व्यवस्था से है, वरन उस धामिर्कता के साथ जो मसीह पर विश्वास करने के कारण है, और परमेश्वर की ओर से विश्वास करने पर मिलती है।
Philippians 3:10 और मैं उसको और उसके मृत्युंजय की सामर्थ को, और उसके साथ दुखों में सहभागी हाने के मर्म को जानूँ, और उस की मृत्यु की समानता को प्राप्त करूं।
Philippians 3:11 ताकि मैं किसी भी रीति से मरे हुओं में से जी उठने के पद तक पहुंचूं।
Philippians 3:12 यह मतलब नहीं, कि मैं पा चुका हूं, या सिद्ध हो चुका हूं: पर उस पदार्थ को पकड़ने के लिये दौड़ा चला जाता हूं, जिस के लिये मसीह यीशु ने मुझे पकड़ा था।
Philippians 3:13 हे भाइयों, मेरी भावना यह नहीं कि मैं पकड़ चुका हूं: परन्तु केवल यह एक काम करता हूं, कि जो बातें पीछे रह गई हैं उन को भूल कर, आगे की बातों की ओर बढ़ता हुआ।
Philippians 3:14 निशाने की ओर दौड़ा चला जाता हूं, ताकि वह इनाम पाऊं, जिस के लिये परमेश्वर ने मुझे मसीह यीशु में ऊपर बुलाया है।

एक साल में बाइबल: 
  • उत्पत्ति 4-6
  • मत्ती 2