बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, February 22, 2016

प्रोत्साहन


   जमाइका के यूसेन बोल्ट और योहन ब्लेक ने, लंडन में आयोजित 2012 के ओलंपिक खेलों में ऐतिहासिक कीर्तीमान स्थापित किया; वे दोनों ही 100 और 200 मीटर की दोनों दौड़ों में, क्रमशः प्रथम और द्वितीय आए। दौड़ के मैदान पर उनकी परस्पर स्पर्धा के बावजूद बोल्ट ने प्रशिक्षण सहयोगी होने के लिए ब्लेक की प्रशंसा करते हुए कहा: "बीते वर्षों में योहन ने मुझे एक बेहतर खिलाड़ी बनाया है। वह लगातार मुझे और बेहतर करने के लिए उकसाता रहा, मेरे पीछे पड़ा रहा।" यह स्पष्ट था कि वे दोनों दौड़ की उस स्पर्धा द्वारा एक दूसरे को और बेहतर बनाने में लगे रहते थे।

   मसीह यीशु के विश्वासी और अनुयायी होने के नाते यह हमारी ज़िम्मेदारी और हमें प्रदान किया गया आदर है कि हम एक दूसरे को मसीही विश्वास में प्रोत्साहित करती रहें। परमेश्वर के वचन बाइबल में इब्रानियों को लिखी पत्री में लिखा है: "और प्रेम, और भले कामों में उकसाने के लिये एक दूसरे की चिन्‍ता किया करें" (इब्रानियों 10:24)।

   चर्च अर्थात, मसीही विश्वासियों की मण्डली, कोई सामाजिक संस्था या समय व्यतीत करने के लिए प्रति सप्ताह मिलने-जुलने का स्थान नहीं है। चर्च वह स्थान है जहाँ हम, जो प्रभु यीशु के द्वारा पापों की क्षमा प्राप्त करके परमेश्वर के निकट लाए गए हैं, मसीह यीशु के स्वरूप में ढलने और बढ़ने में एक दूसरे की सहायता करते हैं। चर्च में हमारे एक साथ एकत्रित होने का उद्देश्य ही एक दूसरे को मसीही विश्वास में उभारना और प्रोत्साहित करना है।

   कोई भी मसीही विश्वासी अकेला रहकर कार्य नहीं कर सकता है; जैसा हमारा प्रभु हमसे चाहता है, वैसा जीवन जीने के लिए हमें मसीही विश्वासियों की संगति चाहिए। जब आप अन्य मसीही विश्वासियों से मिलें, तो यह जानने का प्रयास करें कि ऐसा कौन है जिसके निकट आकर आप उसे अपने शब्दों और कार्यों के द्वारा अपने प्रभु मसीह यीशु की समानता में और अधिक आने के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं। - सी. पी. हिया


पाप से दुःखी संसार के लिए एक स्वस्थ्य मसीही मण्डली सर्वोत्तम साक्षी है।

और वे प्रेरितों से शिक्षा पाने, और संगति रखने में और रोटी तोड़ने में और प्रार्थना करने में लौलीन रहे। - प्रेरितों 2:42

बाइबल पाठ: इब्रानियों 10:19-25
Hebrews 10:19 सो हे भाइयो, जब कि हमें यीशु के लोहू के द्वारा उस नए और जीवते मार्ग से पवित्र स्थान में प्रवेश करने का हियाव हो गया है। 
Hebrews 10:20 जो उसने परदे अर्थात अपने शरीर में से हो कर, हमारे लिये अभिषेक किया है, 
Hebrews 10:21 और इसलिये कि हमारा ऐसा महान याजक है, जो परमेश्वर के घर का अधिकारी है। 
Hebrews 10:22 तो आओ; हम सच्चे मन, और पूरे विश्वास के साथ, और विवेक को दोष दूर करने के लिये हृदय पर छिड़काव ले कर, और देह को शुद्ध जल से धुलवा कर परमेश्वर के समीप जाएं। 
Hebrews 10:23 और अपनी आशा के अंगीकार को दृढ़ता से थामें रहें; क्योंकि जिसने प्रतिज्ञा किया है, वह सच्चा है। 
Hebrews 10:24 और प्रेम, और भले कामों में उकसाने के लिये एक दूसरे की चिन्‍ता किया करें। 
Hebrews 10:25 और एक दूसरे के साथ इकट्ठा होना ने छोड़ें, जैसे कि कितनों की रीति है, पर एक दूसरे को समझाते रहें; और ज्यों ज्यों उस दिन को निकट आते देखो, त्यों त्यों और भी अधिक यह किया करो।

एक साल में बाइबल: 
  • गिनती 4-6
  • मरकुस 4:1-20