बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, May 4, 2017

सर्वोत्तम विवाह


   पिछले लगभग 800 वर्षों में यहूदी विवाह समारोह में एक नई परंपरा जुड़ गई है। विवाह की सारी रस्मों के अन्त में दूल्हा वाईन का गिलास अपने पाँव के नीचे रख कर तोड़ देता है। इस की एक व्याख्या यह है कि यह गिलास का टूटना 70 ईसवीं में यरुशलेम में बने परमेश्वर के मन्दिर के विनाश किए जाने का द्योतक है। युवा दंपत्तियों को, जो अपना नया घर बनाने जा रहे हैं, यह स्मरण रखने की शिक्षा दी जाती है कि परमेश्वर का घर टूटा पड़ा है।

   परन्तु, परमेश्वर बेघर नहीं है। उसने अपने निवास के लिए एक नया स्थान बना लिया है - अपने अनुयायियों में, हम मसीही विश्वासियों में। परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रयुक्त रूपक अलंकारों में, मसीही विश्वासी मसीह यीशु की दुल्हिन भी हैं और परमेश्वर के निवास का मन्दिर भी। परमेश्वर अपने लोगों को एक साथ जोड़ता जा रहा है जिससे वे एक साथ मिलकर उसका स्थाई निवास-स्थान बन सकें। साथ ही वह अपनी दुल्हिन, अर्थात अपने विश्वासियों की मण्डली को भी तैयार कर रहा है, और एक ऐसे विवाह समारोह की तैयारियाँ कर रहा है जिसमें समय के आरंभ से लेकर उस समय तक के परमेश्वर के परिवार के सभी लोग सम्मिलित होंगे।

   इसमें हमारा भाग सरल परन्तु कभी-कभी कष्टदायक होता है। परमेश्वर इस तैयारी में हमें अपने पुत्र हमारे प्रभु यीशु मसीह के स्वरूप में ढाल रहा है, और उसके साथ इस कार्य में सहयोग करके हम उस तैयारी का भाग बन रहे हैं। फिर वह समय आएगा जब सृष्टि के इतिहास का सर्वोत्तम विवाह समारोह संपन्न होगा, हम सभी मसीही विश्वासी एक साथ मिलकर एक देह होकर, उसके द्वारा बेदाग़ और बेझुर्री बनाए जाकर उसकी दुल्हिन के रूप में उसके साथ पवित्र तथा निर्दोष होकर खड़े होंगे (इफिसियों 5:27)।

   यह सर्वोत्तम विवाह अनन्तकाल के लिए सारे दुःख और पीड़ा का अन्त होगा। - जूली ऐकैअरमैन लिंक


प्रभु यीशु का दोबारा आना निश्चित है।

जिस में सारी रचना एक साथ मिलकर प्रभु में एक पवित्र मन्दिर बनती जाती है। जिस में तुम भी आत्मा के द्वारा परमेश्वर का निवास स्थान होने के लिये एक साथ बनाए जाते हो। - इफिसियों 2:21-22

बाइबल पाठ: प्रकाशितवाक्य 21:1-8
Revelation 21:1 फिर मैं ने नये आकाश और नयी पृथ्वी को देखा, क्योंकि पहिला आकाश और पहिली पृथ्वी जाती रही थी, और समुद्र भी न रहा। 
Revelation 21:2 फिर मैं ने पवित्र नगर नये यरूशलेम को स्वर्ग पर से परमेश्वर के पास से उतरते देखा, और वह उस दुल्हिन के समान थी, जो अपने पति के लिये सिंगार किए हो। 
Revelation 21:3 फिर मैं ने सिंहासन में से किसी को ऊंचे शब्द से यह कहते सुना, कि देख, परमेश्वर का डेरा मनुष्यों के बीच में है; वह उन के साथ डेरा करेगा, और वे उसके लोग होंगे, और परमेश्वर आप उन के साथ रहेगा; और उन का परमेश्वर होगा। 
Revelation 21:4 और वह उन की आंखों से सब आंसू पोंछ डालेगा; और इस के बाद मृत्यु न रहेगी, और न शोक, न विलाप, न पीड़ा रहेगी; पहिली बातें जाती रहीं। 
Revelation 21:5 और जो सिंहासन पर बैठा था, उसने कहा, कि देख, मैं सब कुछ नया कर देता हूं: फिर उसने कहा, कि लिख ले, क्योंकि ये वचन विश्वास के योग्य और सत्य हैं। 
Revelation 21:6 फिर उसने मुझ से कहा, ये बातें पूरी हो गई हैं, मैं अलफा और ओमेगा, आदि और अन्‍त हूं: मैं प्यासे को जीवन के जल के सोते में से सेंत-मेंत पिलाऊंगा। 
Revelation 21:7 जो जय पाए, वही इन वस्‍तुओं का वारिस होगा; और मैं उसका परमेश्वर होऊंगा, और वह मेरा पुत्र होगा। 
Revelation 21:8 पर डरपोकों, और अविश्वासियों, और घिनौनों, और हत्यारों, और व्यभिचारियों, और टोन्‍हों, और मूर्तिपूजकों, और सब झूठों का भाग उस झील में मिलेगा, जो आग और गन्‍धक से जलती रहती है: यह दूसरी मृत्यु है।

एक साल में बाइबल: 
  • 1 राजा 16-18
  • लूका 22:47-71