बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, May 21, 2017

नया जीवन


   क्रोएशिया के ज़गरेब शहर में टूटे हुए संबंधों का संग्रहालय है, जिसमें अनेकों अज्ञात लोगों द्वारा दिए गए टूटे हुए प्रेम संबंधों के स्मारक चिन्ह रखे गए हैं। वहाँ एक कुल्हाड़ी है जिससे एक ठुकराए हुए प्रेमी ने अपनी प्रेमिका के घर का सामान तोड़ डाला था। प्रेमियों द्वारा एक दुसरे को भेंट में दिए गए अनेकों खिलोने हैं, टूटे काँच और फ्रेम में लगे कई प्रेम-पत्र हैं, बहुत से विवाह-वस्त्र हैं; ये सभी अपनी मूक भाषा में उस टूटे हुए प्रेम से होने वाली व्यथा और गहरी चोट का ब्यान करते हैं। उस संग्रहालय में आने वाले आगन्तुकों में से कुछ अपने साथ हुई किसी ऐसी ही घटना को याद करके रोते हैं या नम आँखों के साथ जाते हैं, तो कुछ प्रेमी-जोड़े एक दूसरे से वायदे कर के कि वे ऐसा अपने साथ नहीं होने देंगे, एक दूसरे का आलिंगन करके जाते हैं।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में परमेश्वर के भविष्यद्वकता, यशायाह ने लिखा, "प्रभु यहोवा का आत्मा मुझ पर है; क्योंकि यहोवा ने सुसमाचार सुनाने के लिये मेरा अभिषेक किया और मुझे इसलिये भेजा है कि खेदित मन के लोगों को शान्ति दूं; कि बंधुओं के लिये स्वतंत्रता का और कैदियों के लिये छुटकारे का प्रचार करूं" (यशायाह 61:1)। सैंकड़ों वर्षों के बाद प्रभु यीशु मसीह ने अराधनालय में खड़े होकर यशायाह द्वारा लिखे गए इस लेख को पढ़ा, और "तब वह उन से कहने लगा, कि आज ही यह लेख तुम्हारे साम्हने पूरा हुआ है" (लूका 4:21)। यशायाह द्वारा लिखे गए ये शब्द भावनाओं की किसी चोट में सहायता से बढ़कर, परमेश्वर की सहायता से मिलने वाले बदले हुए हृदय और नूतन आत्मा की बात करते हैं, जो परमेश्वर से उसके अनुयायियों को उपहार स्वरूप मिलते हैं: "और सिय्योन के विलाप करने वालों के सिर पर की राख दूर कर के सुन्दर पगड़ी बान्ध दूं, कि उनका विलाप दूर कर के हर्ष का तेल लगाऊं और उनकी उदासी हटाकर यश का ओढ़ना ओढ़ाऊं; जिस से वे धर्म के बांजवृक्ष और यहोवा के लगाए हुए कहलाएं और जिस से उसकी महिमा प्रगट हो" (यशायाह 61:3)।

   हम सब ने अपने जीवनों में टूटे हुए वायदे और पछतावे का अनुभव किया है। लेकिन हम जिस भी दुःख से होकर निकले हों, प्रभु यीशु हमें नए जीवन, चँगाई और आशा की प्रतिज्ञा देता है। - डेविड मैक्कैसलैंड


परमेश्वर त्रासदी को भी विजयोत्सव में परिवर्तित कर सकता है।

सो यदि कोई मसीह में है तो वह नई सृष्‍टि है: पुरानी बातें बीत गई हैं; देखो, वे सब नई हो गईं। - 2 कुरिन्थियों 5:17

बाइबल पाठ: यशायाह 61:1-3; लूका 4:16-22
Isaiah 61:1 प्रभु यहोवा का आत्मा मुझ पर है; क्योंकि यहोवा ने सुसमाचार सुनाने के लिये मेरा अभिषेक किया और मुझे इसलिये भेजा है कि खेदित मन के लोगों को शान्ति दूं; कि बंधुओं के लिये स्वतंत्रता का और कैदियों के लिये छुटकारे का प्रचार करूं; 
Isaiah 61:2 कि यहोवा के प्रसन्न रहने के वर्ष का और हमारे परमेश्वर के पलटा लेने के दिन का प्रचार करूं; कि सब विलाप करने वालों को शान्ति दूं 
Isaiah 61:3 और सिय्योन के विलाप करने वालों के सिर पर की राख दूर कर के सुन्दर पगड़ी बान्ध दूं, कि उनका विलाप दूर कर के हर्ष का तेल लगाऊं और उनकी उदासी हटाकर यश का ओढ़ना ओढ़ाऊं; जिस से वे धर्म के बांजवृक्ष और यहोवा के लगाए हुए कहलाएं और जिस से उसकी महिमा प्रगट हो।

Luke 4:16 और वह नासरत में आया; जहां पाला पोसा गया था; और अपनी रीति के अनुसार सब्त के दिन आराधनालय में जा कर पढ़ने के लिये खड़ा हुआ। 
Luke 4:17 यशायाह भविष्यद्वक्ता की पुस्‍तक उसे दी गई, और उसने पुस्‍तक खोल कर, वह जगह निकाली जहां यह लिखा था। 
Luke 4:18 कि प्रभु का आत्मा मुझ पर है, इसलिये कि उसने कंगालों को सुसमाचार सुनाने के लिये मेरा अभिषेक किया है, और मुझे इसलिये भेजा है, कि बन्‍धुओं को छुटकारे का और अन्‍धों को दृष्टि पाने का सुसमाचार प्रचार करूं और कुचले हुओं को छुड़ाऊं। 
Luke 4:19 और प्रभु के प्रसन्न रहने के वर्ष का प्रचार करूं। 
Luke 4:20 तब उसने पुस्‍तक बन्‍द कर के सेवक के हाथ में दे दी, और बैठ गया: और आराधनालय के सब लोगों की आंख उस पर लगी थीं। 
Luke 4:21 तब वह उन से कहने लगा, कि आज ही यह लेख तुम्हारे साम्हने पूरा हुआ है। 
Luke 4:22 और सब ने उसे सराहा, और जो अनुग्रह की बातें उसके मुंह से निकलती थीं, उन से अचम्भा किया; और कहने लगे; क्या यह यूसुफ का पुत्र नहीं?

एक साल में बाइबल: 
  • 1 इतिहास 13-15
  • यूहन्ना 7:1-27