बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, July 27, 2019

साथी



      नर्सिंग होम में वह वृद्ध महिला न तो किसी से बात करती थी और न ही किसी से कुछ मांगती थी। उससे मिलने वाले भी कम ही आते थे। लगता था कि बस वह अपनी पुरानी चरमराती झूलने वाली कुर्सी पर बैठकर हिलते हुए अपने जीवन के दिन बिता रही है। उस महिला से कोई भी प्रश्न पूछे बिना या उससे किसी वार्तालाप को आरंभ करने का प्रयास किए बिना, एक युवा नर्स अपने अवकाश के समय में उस महिला के कमरे में जाकर एक और झूलने वाली कुर्सी को उसके पास खींचकर चुपचाप उसके साथ बैठी झूलती रहती थी। कई महीनों तक ऐसा होने के पश्चात एक दिन उस वृद्ध महिला ने नर्स से कहा, “मेरे साथ बैठकर झूलने के लिए धन्यवाद।” वह उस नर्स द्वारा उसे संगति देने के लिए आभारी थी।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में, अपने स्वर्गारोहण से पहले, प्रभु यीशु ने अपने शिष्यों से वायदा किया कि वे उन्हें अकेला नहीं  छोड़ेंगे, उनके साथ सदा बने रहने वाला एक साथी उनकी सहायता के लिए भेजेंगे (यूहन्ना 14:17), जो उनमें बसा रहेगा। प्रभु का यह वायदा आज भी मसीही विश्वासियों के लिए उतना ही सत्य है। प्रभु यीशु ने कहा कि त्रिएक परमेश्वर हम में अपना “घर” बनाएगा (पद 23)।

      प्रभु हमारे जीवन भर, हमारा निकट और विश्वासयोग्य साथी है। वह हमारे सभी संघर्षों में सदा हमारा मार्गदर्शन करता है, हमारे पापों को क्षमा करता है, हमारी प्रत्येक प्रार्थना को सुनता है, और जिन बोझों को हम नहीं उठा पाते हैं उन्हें हमारे लिए उठाता है।

      हम अपने इस भरोसेमंद साथी की मधुर संगति का आनन्द लेते रह सकते हैं। - एनी सेटास


मसीही विश्वासी का हृदय पवित्र आत्मा का घर है।

क्या तुम नहीं जानते, कि तुम्हारी देह पवित्रात्मा का मन्दिर है; जो तुम में बसा हुआ है और तुम्हें परमेश्वर की ओर से मिला है, और तुम अपने नहीं हो? – 1 कुरिन्थियों 6:19

बाइबल पाठ: यूहन्ना 14:15-26
John 14:15 यदि तुम मुझ से प्रेम रखते हो, तो मेरी आज्ञाओं को मानोगे।
John 14:16 और मैं पिता से बिनती करूंगा, और वह तुम्हें एक और सहायक देगा, कि वह सर्वदा तुम्हारे साथ रहे।
John 14:17 अर्थात सत्य का आत्मा, जिसे संसार ग्रहण नहीं कर सकता, क्योंकि वह न उसे देखता है और न उसे जानता है: तुम उसे जानते हो, क्योंकि वह तुम्हारे साथ रहता है, और वह तुम में होगा।
John 14:18 मैं तुम्हें अनाथ न छोडूंगा, मैं तुम्हारे पास आता हूं।
John 14:19 और थोड़ी देर रह गई है कि फिर संसार मुझे न देखेगा, परन्तु तुम मुझे देखोगे, इसलिये कि मैं जीवित हूं, तुम भी जीवित रहोगे।
John 14:20 उस दिन तुम जानोगे, कि मैं अपने पिता में हूं, और तुम मुझ में, और मैं तुम में।
John 14:21 जिस के पास मेरी आज्ञा है, और वह उन्हें मानता है, वही मुझ से प्रेम रखता है, और जो मुझ से प्रेम रखता है, उस से मेरा पिता प्रेम रखेगा, और मैं उस से प्रेम रखूंगा, और अपने आप को उस पर प्रगट करूंगा।
John 14:22 उस यहूदा ने जो इस्करियोती न था, उस से कहा, हे प्रभु, क्या हुआ की तू अपने आप को हम पर प्रगट किया चाहता है, और संसार पर नहीं।
John 14:23 यीशु ने उसको उत्तर दिया, यदि कोई मुझ से प्रेम रखे, तो वह मेरे वचन को मानेगा, और मेरा पिता उस से प्रेम रखेगा, और हम उसके पास आएंगे, और उसके साथ वास करेंगे।
John 14:24 जो मुझ से प्रेम नहीं रखता, वह मेरे वचन नहीं मानता, और जो वचन तुम सुनते हो, वह मेरा नहीं वरन पिता का है, जिसने मुझे भेजा।
John 14:25 ये बातें मैं ने तुम्हारे साथ रहते हुए तुम से कहीं।
John 14:26 परन्तु सहायक अर्थात पवित्र आत्मा जिसे पिता मेरे नाम से भेजेगा, वह तुम्हें सब बातें सिखाएगा, और जो कुछ मैं ने तुम से कहा है, वह सब तुम्हें स्मरण कराएगा।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 43-45
  • प्रेरितों 27:27-44