बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, December 18, 2019

आशा



      क्रिसमस को एक सप्ताह शेष था, और मेरी माँ के देहांत के दो महीने हुए थे, ऐसे में त्यौहार के लिए ख़रीदारी करना और घर को सजाना मेरी प्राथमिकताओं की सूची में बहुत नीचे था। मैं अपनी माँ के देहांत का शोक मना रही थी, और मुझे सान्तवना देने के मेरे पति के सभी प्रयासों का प्रतिरोध कर रही थी। जब मेरा बेटे जेवियर, क्रिसमस की बत्तियों को दीवारों पर लगा रहा था, तब भी मैं बहुत उदास और निष्क्रीय थी। मेरे व्यवहार को देख कर मेरे बेटे ने बिना कुछ कहे उन बत्तियों के तार को बिजली के प्लग के साथ जोड़कर अपने पिता के साथ घर से बाहर काम पर जाते हुए, उन्हें चालू कर दिया।

      उन रंगीन बत्तियों के जगमगाहट में होकर परमेश्वर ने मुझे धीरे से मेरे अन्धकार में से बाहर खींचा। परिस्थितियाँ चाहे कितनी भी पीड़ादायक क्यों न हों मेरी आशा परमेश्वर के उस सत्य की ज्योति में सुरक्षित है, जो सदा ही उसके अपरिवर्तनीय चरित्र को दिखाता है।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में भजन 146 हमें स्मरण करवाता है कि मेरी अनन्त आशा “परमेश्वर यहोवा पर है” जो मेरा सहायक, मेरा सर्वशक्तिमान और करुणामय परमेश्वर है (पद 5)। वह हम सभी का सृष्टिकर्ता है और हमारे प्रति “अपना वचन सदा के लिए पूरा करता रहेगा” (पद 6)। वही “पिसे हुओं का न्याय चुकाता हिया और भूखों को रोटी देता है” (पद 7)। “यहोवा झुके हुओं को सीधा खड़ा करता है” (पद 8)। वह “ रक्षा करता है,” “संभालता है,” और वही “पीढ़ी पीढ़ी राज्य करता रहेगा” (पद 9, 10)।

      कभी कभी जब क्रिसमस आता है तब हमारे दिन आनन्द भरे होंगे। और कभी कभी हम किसी हानि का सामना कर रहे होंगे, किसी दुःख में से होकर निकल रहे होंगे, या अपने आप को अकेला अनुभव कर रहे होंगे। परन्तु हर समय में और हर परिस्थिति में हमारा परमेश्वर हमारे प्रत्येक अन्धकार में हमारी ज्योति बने रहने का वायदा करता है, हमें वास्तविक सहायता और अनंतकाल की आशा प्रदान करता है। - जोशील डिक्सन

परमेश्वर अपने कभी न बदलने वाले चरित्र द्वारा हमारी आशा को सुरक्षित बनाए रहता है।

यीशु मसीह कल और आज और युगानुयुग एकसा है। - इब्रानियों 13:8

बाइबल पाठ: भजन 146
Psalms 146:1 याह की स्तुति करो। हे मेरे मन यहोवा की स्तुति कर!
Psalms 146:2 मैं जीवन भर यहोवा की स्तुति करता रहूंगा; जब तक मैं बना रहूंगा, तब तक मैं अपने परमेश्वर का भजन गाता रहूंगा।
Psalms 146:3 तुम प्रधानों पर भरोसा न रखना, न किसी आदमी पर, क्योंकि उस में उद्धार करने की भी शक्ति नहीं।
Psalms 146:4 उसका भी प्राण निकलेगा, वही भी मिट्टी में मिल जाएगा; उसी दिन उसकी सब कल्पनाएं नाश हो जाएंगी।
Psalms 146:5 क्या ही धन्य वह है, जिसका सहायक याकूब का ईश्वर है, और जिसका भरोसा अपने परमेश्वर यहोवा पर है।
Psalms 146:6 वह आकाश और पृथ्वी और समुद्र और उन में जो कुछ है, सब का कर्ता है; और वह अपना वचन सदा के लिये पूरा करता रहेगा।
Psalms 146:7 वह पिसे हुओं का न्याय चुकाता है; और भूखों को रोटी देता है। यहोवा बन्धुओं को छुड़ाता है;
Psalms 146:8 यहोवा अन्धों को आंखें देता है। यहोवा झुके हुओं को सीधा खड़ा करता है; यहोवा धर्मियों से प्रेम रखता है।
Psalms 146:9 यहोवा परदेशियों की रक्षा करता है; और अनाथों और विधवा को तो सम्भालता है; परन्तु दुष्टों के मार्ग को टेढ़ा मेढ़ा करता है।
Psalms 146:10 हे सिय्योन, यहोवा सदा के लिये, तेरा परमेश्वर पीढ़ी पीढ़ी राज्य करता रहेगा। याह की स्तुति करो!

एक साल में बाइबल: 
  • ओबद्याह
  • प्रकाशितवाक्य 9