बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, September 1, 2011

दोहरी सामर्थ

मेरी मेज़ पर एक पेन-नाईफ (मोड़कर बन्द हो सकने वाले बहुत से छोटे औज़ारों से मिलकर बना चाकू) है, जिसके किनारे गोलाकार हैं। मैं कितनी भी सावधानी से, कितना भी प्रयास करूं, यह पेन-नाईफ अपने सिरे पर खड़ा नहीं किया जा सकता, छोड़ते ही वह लुढ़क कर गिर जाता है। यदि मैं आप से कहूँ कि पेन-नाईफ को खड़ा करना कठिन है, तो आप कहेंगे, "कठिन नहीं असंभव है; क्यों व्यर्थ परिश्रम करते हो।" लेकिन लीजिए, यह तो खड़ा हो गया; आप उत्तर देंगे, "अवश्य खड़ा हो गया, क्योंकि आपने उस खड़ा पकड़ा हुआ है, यह आपके सहारे से खड़ा है, और केवल तब तक खड़ा रहेगा जब तक आप इसे सहारा दिए रहेंगे।"

हाल ही में मैं एक आटा पीसने की चक्की पर गया। वहाँ एक कोने में खाली बोरियाँ रखीं थीं। यदि मैं खाली बोरी को खड़ी करता तो वह मुड़कर गिर जाती। लेकिन जब वहाँ काम करने वाले मज़दूर ने उस बोरी को आटे से भर दिया, तो भरी हुई बोरी बिना किसी अन्य सहारे के खड़ी रह सकी।
ये दोनो उदाहरण हमें परमेश्वर के पवित्र आत्मा के कार्य को समझाते हैं। प्रत्येक मसीही विश्वासी में परमेश्वर का पवित्र आत्मा वास करता है, जो उसे अन्दर से सहारा देता है और जीवन की परिस्थितियों में खड़ा रखता है। प्रत्येक मसीही विश्वासी प्रभु की मण्डली का सदस्य है और मण्डली के सदस्य एक दूसरे को बाहर से संभालते हैं। परमेश्वर द्वारा, उसकी प्रत्येक संतान की सहायता के लिए यह दोहरी सामर्थ सदा उपलब्ध रहती है।

मसीही विश्वासी जब कभी कठिनाईयों में पड़े, या उसका प्रलभनों से सामना हो, तो उसे दो बातें ध्यान रखनी चाहिएं - अपनी असमर्थता और परमेश्वर की उपलब्ध सामर्थ। अगर हम अपनी असमर्थता को ही देखते रहेंगे तो पेन-नाईफ के समान कभी खड़े नहीं रह सकेंगे। लेकिन अपनी ओर देखना छोड़कर हम मण्डली और परमेश्वर की ओर देखेंगे तो पवित्र आत्मा की भीतरी सामर्थ तथा दूसरे विश्वासियों की सहायता हमें हर विपरीत परिस्थिति में भी खड़ा रख सकेगी।

हम अपने आप में कमज़ोर हो सकते हैं, लेकिन घबाराइए नहीं, हमारी रक्षा के लिए परमेश्वर ने दोहरी सामर्थ का प्रबंध कर रखा है - भीतरी भी और बाहरी भी। - पौल वैन गोर्डर


परमेश्वर के साधन हमारी हर आवश्यक्ता की पूर्ति के लिए काफी हैं।

मत डर, क्योंकि मैं तेरे संग हूं, इधर उधर मत ताक, क्योंकि मैं तेरा परमेश्वर हूं; मैं तुझे दृढ़ करूंगा और तेरी सहायता करूंगा, अपने धर्ममय दाहिने हाथ से मैं तुझे सम्हाले रहूंगा। - यशायाह ४१:१०

बाइबल पाठ: यशायाह ४१:८-१४

Isa 41:8 हे मेरे दास इस्राएल, हे मेरे चुने हुए याकूब, हे मेरे प्रेमी इब्राहीम के वंश;
Isa 41:9 तू जिसे मैं ने पृथ्वी के दूर दूर देशों से लिया और पृथ्वी की छोर से बुला कर यह कहा, तू मेरा दास है, मैं ने तुझे चुना है और तजा नहीं;
Isa 41:10 मत डर, क्योंकि मैं तेरे संग हूं, इधर उधर मत ताक, क्योंकि मैं तेरा परमेश्वर हूं; मैं तुझे दृढ़ करूंगा और तेरी सहायता करूंगा, अपने धर्ममय दहिने हाथ से मैं तुझे सम्हाले रहूंगा।
Isa 41:11 देख, जो तुझ से क्रोधित हैं, वे सब लज्जित होंगे; जो तुझ से झगड़ते हैं उनके मुंह काले होंगे और वे नाश होकर मिट जाएंगे।
Isa 41:12 जो तुझ से लड़ते हैं उन्हें ढूंढने पर भी तू न पाएगा; जो तुझ से युद्ध करते हैं वे नाश होकर मिट जाएंगे।
Isa 41:13 क्योंकि मैं तेरा परमेश्वर यहोवा, तेरा दहिना हाथ पकड़ कर कहूंगा, मत डर, मैं तेरी सहायता करूंगा।
Isa 41:14 हे कीड़े सरीखे याकूब, हे इस्राएल के मनुष्यों, मत डरो! यहोवा की यह वाणी है, मैं तेरी सहायता करूंगा; इस्राएल का पवित्र तेरा छुड़ाने वाला है।

एक साल में बाइबल:
  • भजन १३५-१३६
  • १ कुरिन्थियों १२