बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, November 24, 2011

पुनःस्थापना

   एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी अवैध पदार्थों के प्रयोग और विक्रय करने के जुर्म में पकड़ा गया और बन्दीगृह में डाल दिया गया। उसके मित्रों ने इस बात के लिए कहा, "कैसी शर्म की बात है; ज़रा सोचो, यदि वह यह काम ना करता तो कितना कुछ प्राप्त कर सकता था, कितना अधिक आनन्द उठा सकता था।"

   इस खिलाड़ी का अपनी प्रतिभा के अनुरूप कार्य ना करना, एक तरह से समस्त मानव जाति का चित्रण है। परमेश्वर ने हमें अपने स्वरूप में बनाया जिससे हम उसकी आज्ञाकारिता में रहकर उसके साथ संगति का आनन्द उठाएं और उसकी महिमा के लिए इस पृथ्वी पर राज्य करें। किंतु ना तो हम जैसा रहना चाहिए वैसे उसकी आज्ञाकारिता में रहते हैं, ना ही उस की संगति का आनन्द लेते हैं और ना ही पृथ्वी पर जैसे हमें राज्य करना चाहिए वैसे राज्य करते हैं। संसार में लगातार बने और बढ़ते हुए अनैतिकता, अपराध, अकाल, आपसी बैर और संघर्ष, संभावित परमाणु युद्ध और विनाश के खतरे लगातार हमें स्मरण दिलाते रहते हैं कि जो प्रतिभा परमेश्वर ने हम में डालीं थीं, हमने उसके अनुरूप कार्य नहीं किया है।

   लेकिन बात यहीं समाप्त नहीं हो जाती। हमारी इस विफलता के बावजूद, परमेश्वर ने हम में से प्रत्येक को अपनी इस नैतिक असफलता से निकल कर आत्मिक सिद्धता तक उठने का मार्ग उपलब्ध कराया है। प्रभु यीशु के रूप में परमेश्वर स्वयं मनुष्य जाति का हिस्सा बन गया, जिसने सिद्ध जीवन जीया, हमारे पापों को अपने ऊपर लेकर हमारे बदले में उनका दण्ड क्रूस की मृत्यु के रूप में सहा और तीसरे दिन मृत्यु पर जयवन्त होकर फिर जीवित हो गया। आज भी वो प्रत्येक उस व्यक्ति को जो उसके इस बलिदान और उद्धार के कार्य को स्वीकार करता है, उसे स्वीकार करता है, उसके पाप क्षमा करता है और उन्हें उस सृजे गए स्वरूप में बहाल करता है। वह अपने प्रत्येक विश्वासी को अपने साथ, अपने आने वाले अनन्त साम्राज्य में, राज्य करने के लिए राजा और पुरोहित बना देता है (प्रकाशितवाक्य १:५, ६)।

   यदि हमें किसी चकनाचूर कर देने वाली हार का भी सामना करना पड़े, तौभी हमें निराषा में पड़े रहने की आवश्यक्ता नहीं है। सुसमाचार हमारे लिए अच्छी खबर है - प्रभु यीशु में विश्वास के द्वारा परमेश्वर हमें नया जीवन देता है, हमें हमारी असफलताओं से निकालता है और पुनः हम में अपने पूर्व-निर्धारित उद्देश्यों की पूर्ति के लिए उठा कर खड़ा करता है। - हर्ब वैण्डर लुग्ट

प्रभु यीशु से मिले उद्धार द्वारा निकम्मे पापी उपयोगी सन्त बन जाते हैं।

और यीशु मसीह की ओर से, जो विश्वासयोग्य साक्षी और मरे हुओं में से जी उठने वालों में पहिलौठा, और पृथ्वी के राजाओं का हाकिम है, तुम्हें अनुग्रह और शान्‍ति मिलती रहे: जो हम से प्रेम रखता है, और जिस ने अपने लोहू के द्वारा हमें पापों से छुड़ाया है। और हमें एक राज्य और अपने पिता परमेश्वर के लिये याजक भी बना दिया; उसी की महिमा और पराक्रम युगानुयुग रहे। आमीन। - प्रकाशितवाक्य १:५, ६

बाइबल पाठ: प्रकाशितवाक्य १:१-८
    Rev 1:1  यीशु मसीह का प्रकाशितवाक्‍य जो उसे परमेश्वर ने इसलिये दिया, कि अपने दासों को वे बातें, जिन का शीघ्र होना अवश्य है, दिखाए: और उस ने अपने स्‍वर्गदूत को भेज कर उसके द्वारा अपने दास यूहन्ना को बताया।
    Rev 1:2  जिस ने परमेश्वर के वचन और यीशु मसीह की गवाही, अर्थात जो कुछ उस ने देखा था उस की गवाही दी।
    Rev 1:3  धन्य है वह जो इस भविष्यद्वाणी के वचन को पढ़ता है, और वे जो सुनते हैं और इस में लिखी हुई बातों को मानते हैं, क्‍योंकि समय निकट आया है।
    Rev 1:4  यूहन्ना की ओर से आसिया की सात कलीसियाओं के नाम: उस की ओर से जो है, और जो था, और जो आनेवाला है; और उन सात आत्माओं की ओर से, जो उसके सिंहासन के साम्हने है।
    Rev 1:5  और यीशु मसीह की ओर से, जो विश्वासयोग्य साक्षी और मरे हुओं में से जी उठने वालों में पहिलौठा, और पृथ्वी के राजाओं का हाकिम है, तुम्हें अनुग्रह और शान्‍ति मिलती रहे: जो हम से प्रेम रखता है, और जिस ने अपने लोहू के द्वारा हमें पापों से छुड़ाया है।
    Rev 1:6  और हमें एक राज्य और अपने पिता परमेश्वर के लिये याजक भी बना दिया; उसी की महिमा और पराक्रम युगानुयुग रहे। आमीन।
    Rev 1:7  देखो, वह बादलों के साथ आने वाला है; और हर एक आंख उसे देखेगी, वरन जिन्‍होंने उसे बेधा था, वे भी उसे देखेंगे, और पृथ्वी के सारे कुल उसके कारण छाती पीटेंगे। हां। आमीन।
    Rev 1:8  प्रभु परमेश्वर वह जो है, और जो था, और जो आनेवाला है; जो सर्वशक्तिमान है: यह कहता है, कि मैं ही अल्फा और ओमिगा हूं।
 
एक साल में बाइबल: 
  • यहेजकेल २२-२३ 
  • १ पतरस १