बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, October 3, 2012

उपयोगी


   क्या आपको वे समय याद हैं जब फोन का कार्य बातें करने के लिए ही होता था? "स्मार्ट फोन" के अविष्कार के बाद सब कुछ बदल गया; जो पहले किसी दूसरे के साथ बात करने का साधन था वह अब निज उपयोग की बातों और तकनीकी का भण्डार बन गया है। अब फोन पर प्रयोग हो सकने वाली तकनीकों से आप समाचार पढ़ सकते हैं, खेल खेल सकते हैं, यात्रा का आयोजन कर सकते हैं, लेने के लिए घर ढूंढ सकते हैं और अन्य अनगिनित कार्य कर सकते हैं। फोन केवल बात करने के लिए उपयोगी नहीं रहा, वह जीवन की अन्य कई आवश्यक्ताओं के लिए उपयोगी हो गया है।

   यह विलक्षण है, किंतु परमेश्वर के वचन बाइबल के उपयोग के सामने इसकी उपयोगिता कुछ भी नहीं; बाइबल की यह उपयोगिता सदियों से बनी हुई है और आज भी कारगर है। बाइबल में परमेश्वर द्वारा लिखित निर्देष हैं जो हमें उसके सत्य मार्ग को अपने जीवन में लागू करना और उससे सफल तथा आशीषित होना सिखाते हैं। उदाहरणस्वरूप फिलिप्पियों २ में लिखी बातों को देखिए जो हमें एकता (२:२), नम्रता (२:३), कुड़कुड़ाना नहीं (२:१४), ज्योति के समान होना (२:१५) सिखाती हैं - वे गुण जिनके आभाव में आज व्यक्तियों और समाज में आपसी तनाव और वैमनस्य है, जिससे सामाजिक अस्थिरता है। या, गलतियों ५ में दी गई निज जीवन की बातों पर विचार कीजिए: परमेश्वर का अनुसरण करें (५:१), प्रेम में चलें (५:२), पवित्रता का जीवन जीएं (५:३), ज़ुबान को नियंत्रित रखें (५:४) - ऐसी बातें जो किसी भी व्यक्ति के जीवन को संवारने और धन्य तथा अनुसरणीय बनाने के लिए उपयोगी हैं। नीतिवचन की पुस्तक तो ऐसी ही उपयोगी बातों का संकलन ही है।

   फोन की उपयोगिता बढ़ाने वाली बातों के समान, कोई बाइबल की इन बातों को इंटरनैट के माध्यम से आपको पहुँचाए इसकी आवश्यक्ता नहीं है। आप स्वयं ही बाइबल खोलकर इन बातों को देख और पढ़ सकते हैं और परमेश्वर के इन आशीषि देने वाले निर्देशों को अपने जीवनों में लागू कर सकते हैं। क्या मसीही विश्वास के जीवन के संबंध में कोई प्रश्न आपके मन में उठता है? बाइबल में आपको उत्तर मिल जाएगा।

   परमेश्वर का यह अद्भुत वचन प्रत्येक के जीवन के लिए उपयोगी है - इसीलिए तो परमेश्वर ने इसे दिया है और सबके लिए उपलब्ध कराया है। - डेव ब्रैनन


ज्ञान और समझ के खज़ाने आपके लिए बाइबल में मौजूद हैं - पढ़िए और अपनाइए!

अपना हृदय शिक्षा की ओर, और अपने कान ज्ञान की बातों की ओर लगाना। - नीतिवचन २३:१२

बाइबल पाठ: इफिसियों ५:१-१५
Eph 5:1   इसलिये प्रिय, बालकों की नाईं परमेश्वर के सदृश बनो। 
Eph 5:2  और प्रेम में चलो, जैसे मसीह ने भी तुम से प्रेम किया, और हमारे लिये अपने आप को सुखदायक सुगन्‍ध के लिये परमेश्वर के आगे भेंट करके बलिदान कर दिया। 
Eph 5:3   और जैसा पवित्र लागों के योग्य है, वैसा तुम में व्यभिचार, और किसी प्रकार अशुद्ध काम, या लोभ की चर्चा तक न हो। 
Eph 5:4  और न निर्लज्ज़ता, न मूढ़ता की बातचीत की, न ठट्ठे की, क्‍योंकि ये बातें सोहती नहीं, वरन धन्यवाद ही सुना जाएं। 
Eph 5:5  क्‍योंकि तुम यह जानते हो, कि किसी व्यभिचारी, या अशुद्ध जन, या लोभी मनुष्य की, जो मूरत पूजने वाले के बराबर है, मसीह और परमेश्वर के राज्य में मीरास नहीं। 
Eph 5:6  कोई तुम्हें व्यर्थ बातों से धोखा न दे; क्‍योंकि इन ही कामों के कारण परमेश्वर का क्रोध आज्ञा ने मानने वालों पर भड़कता है। 
Eph 5:7   इसलिये तुम उन के सहभागी न हो। 
Eph 5:8  क्‍योंकि तुम तो पहले अन्‍धकार थे परन्‍तु अब प्रभु में ज्योति हो, सो ज्योति की सन्‍तान की नाईं चलो। 
Eph 5:9  (क्‍योंकि ज्योंति का फल सब प्रकार की भलाई, और धामिर्कता, और सत्य है)। 
Eph 5:10  और यह परखो, कि प्रभु को क्‍या भाता है? 
Eph 5:11  और अन्‍धकार के निष्‍फल कामों में सहभागी न हो, वरन उन पर उलाहना दो। 
Eph 5:12  क्‍योंकि उन के गुप्‍त कामों की चर्चा भी लाज की बात है। 
Eph 5:13  पर जितने कामों पर उलाहना दिया जाता है वे सब ज्योति से प्रगट होते हैं, क्‍योंकि जो सब कुछ को प्रगट करता है, वह ज्योति है। 
Eph 5:14   इस कारण वह कहता है, हे सोने वाले जाग और मुर्दों में से जी उठ, तो मसीह की ज्योति तुझ पर चमकेगी।
Eph 5:15   इसलिये ध्यान से देखो, कि कैसी चाल चलते हो; निर्बुद्धियों की नाईं नहीं पर बुद्धिमानों की नाईं चलो।

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह १७-१९ 
  • इफिसियों ५:१७-३३