बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, October 21, 2013

एक एक जन

   क्वेकर जॉन वूलमैन अमेरिका में एक मसीही प्रचारक थे जो स्थान स्थान पर जाकर मसीह यीशु का प्रचार करते थे। वे एक ऐसे व्यक्ति भी थे जिन्होंने उस समय के उपनिवेशी अमेरिका में रंग-भेद और दासत्व के अन्त के लिए अभियान चला रखा था। वे दासों के मालिकों से मिलते और उन्हें दास प्रथा के अन्तर्गत किसी मनुष्य को संपत्ति के समान रखने, बेचने और खरीदने में निहित अन्याय तथा अमानवीयता के बारे में समझाते। यद्यपि वुलमैन दास प्रथा को पूरी रीति से समाप्त तो नहीं कर सके लेकिन वे कई स्वामियों को मना सके कि वे दासों को मुक्त कर दें। उनकी यह सफलता व्यक्तिगत रीति से एक-एक जन से अनुनय करने के कारण थी।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरित पौलुस द्वारा फिलेमौन को लिखी पत्री में भी हम व्यक्तिगत रीति से करे गए निवेदन का प्रभाव देखते हैं। फिलेमौन नामक व्यक्ति के पास ओनिसिमस नामक एक दास था, जो अपने स्वामी के पास से भाग निकला था। ओनिसिमस पौलुस के संपर्क में आया और पौलुस की सेवकाई द्वारा मसीही विश्वास में आ गया। अब पौलुस उसे वापस उसके स्वामी फिलेमौन के पास भेज रहा था, जिससे फिलेमौन और ओनेसिमुस के मतभेद दूर हो जाएं और वे प्रभु यीशु में मिलने वाली स्वतंत्रता और आनन्द के सहभागी हो जाएं। पौलुस ने फिलेमौन को लिखा: "क्योंकि क्या जाने वह तुझ से कुछ दिन तक के लिये इसी कारण अलग हुआ कि सदैव तेरे निकट रहे। परन्तु अब से दास की नाईं नहीं, वरन दास से भी उत्तम, अर्थात भाई के समान रहे जो शरीर में भी और विशेष कर प्रभु में भी मेरा प्रिय हो" (फिलेमौन 1:15-16)। हम यह तो नहीं जानते कि ओनेसिमुस दासत्व से मुक्त हो सका कि नहीं, परन्तु मसीह यीशु में लाए गए विश्वास के द्वारा अब उसका स्तर बदल गया था, उसके स्वामी के साथ उसका संबंध बदल गया था। अब मसीह यीशु में होकर वह अपने स्वामी का सहविश्वासी भाई था, उसी के समान मसीह यीशु का विश्वासी और मसीह यीशु की विश्वासी मण्डली का समान-स्तरीय सदस्य था। पौलुस भी व्यक्तिगत प्रयासों द्वारा ही संसार पर प्रभाव डाल रहा था।

   प्रभु यीशु मसीह में सेंत-मेंत मिलने वाली पापों की क्षमा तथा उद्धार, और सबको बिना किसी भेद-भाव के समान रूप से परमेश्वर की सन्तान होने का दर्जा मिलना जीवन को बदल देता है। पाप क्षमा तथा उद्धार का यह सुसमाचार जीवनों, संबंधों और परिस्थितियों को प्रभावित करने और बदलने की सामर्थ रखता है। शैतान इस बात को भली-भांति जानता है इसीलिए इस सुसमाचार और मसीही विश्वास के प्रचार में इतने रोड़े अटकाता है, और प्रचारकों पर अत्याचार लाता है। बूँद-बूँद से भी घड़ा भरता है; जॉन वुलमैन और पौलुस के समान ही मसीही विश्वास के सुसमाचार द्वारा संसार पर व्यक्तिगत सम्पर्क तथा अनुनय के द्वारा प्रभाव डालने वाले बनें। हर जन महत्वपूर्ण है; एक एक जन करके ही सही, संसार प्रभु यीशु और उद्धार को तो जानेगा। - डेनिस फिशर


किसी दूसरे के लिए आपके द्वारा हो सकने वाला सबसे भला कार्य है उसे सत्य से परिचित कराना।

परन्तु अब से दास की नाईं नहीं, वरन दास से भी उत्तम, अर्थात भाई के समान रहे जो शरीर में भी और विशेष कर प्रभु में भी मेरा प्रिय हो। - फिलेमौन1:16

बाइबल पाठ: फिलेमौन 1:12-21
Philemon 1:12 उसी को अर्थात जो मेरे हृदय का टुकड़ा है, मैं ने उसे तेरे पास लौटा दिया है। 
Philemon 1:13 उसे मैं अपने ही पास रखना चाहता था कि तेरी ओर से इस कैद में जो सुसमाचार के कारण है, मेरी सेवा करे। 
Philemon 1:14 पर मैं ने तेरी इच्छा बिना कुछ भी करना न चाहा कि तेरी यह कृपा दबाव से नहीं पर आनन्द से हो। 
Philemon 1:15 क्योंकि क्या जाने वह तुझ से कुछ दिन तक के लिये इसी कारण अलग हुआ कि सदैव तेरे निकट रहे। 
Philemon 1:16 परन्तु अब से दास की नाईं नहीं, वरन दास से भी उत्तम, अर्थात भाई के समान रहे जो शरीर में भी और विशेष कर प्रभु में भी मेरा प्रिय हो। 
Philemon 1:17 सो यदि तू मुझे सहभागी समझता है, तो उसे इस प्रकार ग्रहण कर जैसे मुझे। 
Philemon 1:18 और यदि उसने तेरी कुछ हानि की है, या उस पर तेरा कुछ आता है, तो मेरे नाम पर लिख ले। 
Philemon 1:19 मैं पौलुस अपने हाथ से लिखता हूं, कि मैं आप भर दूंगा; और इस के कहने की कुछ आवश्यकता नहीं, कि मेरा कर्ज जो तुझ पर है वह तू ही है। 
Philemon 1:20 हे भाई यह आनन्द मुझे प्रभु में तेरी ओर से मिले: मसीह में मेरे जी को हरा भरा कर दे। 
Philemon 1:21 मैं तेरे आज्ञाकारी होने का भरोसा रखकर, तुझे लिखता हूं और यह जानता हूं, कि जो कुछ मैं कहता हूं, तू उस से कहीं बढ़कर करेगा। 

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह 62-64 
  • 1 तीमुथियुस 1