बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, March 20, 2014

पुनर्मिलन


   लड़कपन में मेरे पास एक पालतु कुत्ता था जिसे मैं बहुत चाहता था। एक दिन अचानक ही वह ग़ायब हो गया। मुझे पता नहीं कि कोई उसे चुराकर ले गया, या वह खुद ही कहीं भाग गया, लेकिन उसके जाने से मैं बहुत टूट गया। मैंने उसे सब जगह ढूंढा, मुझे अच्छे से याद है कि मैं एक ऊँचे पेड़ पर चढ़कर अपने आस-पास के स्थानों को देखा करता था कि वह मुझे कहीं नज़र आ जाए। मैं अपने उस चहेते कुत्ते को वापस पाना चाहता था, और बहुत समय तक उसके लौट आने या उसके मिल जाने की खबर की प्रतीक्षा में रहा, लेकिन मैं अपने उस प्रीय कुत्ते से फिर कभी मिल नहीं पाया।

   मेरे इस विछोह के दुख से भी कहीं अधिक बढ़कर होता है वह दुख जब हमारा कोई प्रीय जन इस संसार से विदा हो जाता है। संसार के लोगों के पास उस बिछुड़े हुए प्रीय जन से फिर कभी मिल सकने की कोई आशा नहीं है, लेकिन हम मसीही विश्वासी जानते हैं कि हमारे जो प्रीय जन इस जीवन में प्रभु यीशु के विश्वासी रहे हैं, उनसे हमारा बिछुड़ना अस्थायी है, हम उनसे फिर मिलेंगे और उसके बाद फिर कभी जुदा नहीं होंगे; उन से हमारा पुनर्मिलन अनन्तकाल का होगा।

   प्रेरित पौलुस ने थिस्सलुनीकिया के विश्वासियों को आश्वस्त किया: "क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे। तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिये जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे" (1 थिस्सलुनीकियों 4:16-17)। इन पदों में लिखे जो शब्द बिछुड़ने से दुखी मनों को सान्तवना और शांति देते हैं वे हैं ’साथ’ और ’सदा’; ये हमें आश्वस्त करते हैं कि मसीह यीशु के अनुयायियों को स्थायी विछोह कभी सहना नहीं पड़ेगा। हम मसीही विश्वासियों के लिए मृत्यु का अर्थ ’अलविदा’ नहीं, ’फिर मिलेंगे’ है। - बिल क्राउडर


मसीह यीशु के विश्वासी कभी अन्तिम अलविदा नहीं कहते।

और मैं[यीशु] उन्हें अनन्त जीवन देता हूं, और वे कभी नाश न होंगी, और कोई उन्हें मेरे हाथ से छीन न लेगा। - यूहन्ना 10:28

बाइबल पाठ: 1 थिस्सलुनीकियों 4:13-18
1 Thessalonians 4:13 हे भाइयों, हम नहीं चाहते, कि तुम उनके विषय में जो सोते हैं, अज्ञान रहो; ऐसा न हो, कि तुम औरों की नाईं शोक करो जिन्हें आशा नहीं। 
1 Thessalonians 4:14 क्योंकि यदि हम प्रतीति करते हैं, कि यीशु मरा, और जी भी उठा, तो वैसे ही परमेश्वर उन्हें भी जो यीशु में सो गए हैं, उसी के साथ ले आएगा। 
1 Thessalonians 4:15 क्योंकि हम प्रभु के वचन के अनुसार तुम से यह कहते हैं, कि हम जो जीवित हैं, और प्रभु के आने तक बचे रहेंगे तो सोए हुओं से कभी आगे न बढ़ेंगे। 
1 Thessalonians 4:16 क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे। 
1 Thessalonians 4:17 तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिये जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे। 
1 Thessalonians 4:18 सो इन बातों से एक दूसरे को शान्‍ति दिया करो।

एक साल में बाइबल: 
  • 1 शमूएल 21-24