बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, June 5, 2014

बस एक बार


   अपने लड़कपन में मैं गो-कार्ट चलाया करता था, जो लकड़ी के तखते पर लगा एक छोटा ईंजन, चार पहिए और उसे दाएं-बाएं मोड़ने के लिए एक हत्था होता था। यह गो-कार्ट कुछ खास गति से तो नहीं चल पाती थी, लेकिन बच्चों को गाड़ी चलाने का सा अनुभव अवश्य कराती थी। मेरे माता-पिता के कड़े निर्देश थे कि गो-कार्ट चलाते हुए अपने घर की गली से सड़क पर आते समय मैं सड़क पर दोनों तरफ देखकर सुनिश्चित कर लूँ कि कोई अन्य गाड़ी तो नहीं आ रही है, तभी अपनी गो-कार्ट को सड़क पर मोड़ूँ। एक दिन जब मैं गो-कार्ट चलाते हुए गली से सड़क पर मुड़ने लगा तो मेरे मन में आया, "क्या फर्क पड़ता है, बस एक बार आज ऐसे ही मोड़ लेता हूँ" और मैंने बिना सड़क पर ध्यान करे अपनी गो-कार्ट सड़क पर मोड़ ली। तुरंत ही बड़े ज़ोर से ब्रेक लगने की आवाज़ आई और एक कार मुझसे टकराते टकराते बची। अपने माता-पिता के निर्देशों की अवहेलना करना मेरे लिए घातक होते होते रह गया।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में ऐसे अनेक उदाहरण हैं जहाँ लोगों ने, यह जानते हुए भी कि ऐसा करना परमेश्वर के निर्देशों के खिलाफ है, सोचा बस एक बार ऐसा कर लेने से कुछ होने वाला नहीं है, कुछ गलत किया और फिर अपने जीवन में उस अनाज्ञाकारिता के बड़े दुषपरिणाम उन्हें उठाने पड़े।

   दाऊद बचपन से ही, जब वह अपनी भेड़ें चरा रहा होता था, परमेश्वर की आज्ञाओं और बातों पर मनन करता आया था। वह जानता था कि परमेश्वर द्वारा दी गई दस आज्ञाओं में से सातवीं आज्ञा सिखाती है कि व्यभिचार गलत है और परमेश्वर उसकी भर्तसना करता है। लेकिन राजा बन जाने के बाद जब दाऊद ने एक सुन्दर स्त्री को स्नान करते देखा तो उसने अपनी राजसी ताकत का दुरुपयोग किया और उस स्त्री को अपने पास बुलवा लिया और व्यभिचार में पड़ गया। वह स्त्री उसके एक सेनापति उरियाह की पत्नि थी, इसलिए अपने पाप को छुपाने के लिए दाऊद ने उरियाह को युद्ध में घात भी करवा दिया। उसके ये पाप उसे बहुत भारी पड़े और परिणामस्वरूप उसे अपने परिवार तथा राज्य में बहुत मुसीबतों और ताड़नाओं का सामना करना पड़ा (2 शमूएल 11-12)। इसीलिए वह अपने एक भजन में लिखता है, "तू अपने दास को ढिठाई के पापों से भी बचाए रख; वह मुझ पर प्रभुता करने न पाएं! तब मैं सिद्ध हो जाऊंगा, और बड़े अपराधों से बचा रहूंगा" (भजन 19:13)।

   क्या कभी आप इस प्रलोभन में पड़े हैं कि "बस एक बार" यह करके देखते हैं, यह जानते हुए भी कि जो आप करना चाह रहे हैं वह गलत है, अनुचित है? यह उन सामन्य सी लगने वाली बातों के लिए हो सकता है जैसे कि इंटरनैट पर अश्लील चित्रों पर एक झलक मार लेना, किसी के द्वारा या दफतर से कार्य करने के लिए दिए गए पैसों में से अपने कार्यों के लिए कुछ पैसे "उधार" ले लेना, या किसी सत्य को वैसा ना बता कर उसे बढ़ा-चढ़ा कर या फिर गोल-मोल करके बयान करना, आदि। इनमें से या इनके समान कोई भी गलत कार्य अपने आप में किया गया अकेला ही कार्य हो सकता है, लेकिन उसके दुषपरिणाम बहुत बड़े और परेशान करने वाले हो जाएंगे।

   परमेश्वर और उसके वचन बाइबल के आधीन रहें, पापों से पश्चाताप करें और परमेश्वर द्वारा दिए गए मार्ग - प्रभु यीशु मसीह में होकर उन दुषपरिणामों से निकलें। - डेनिस फिशर


प्रलोभन तो आपका द्वार खटखटाएंगे ही, उनके लिए ना तो द्वार खोलें और ना ही उन्हें अन्दर आने का अवसर दें।

वह तो और भी अनुग्रह देता है; इस कारण यह लिखा है, कि परमेश्वर अभिमानियों से विरोध करता है, पर दीनों पर अनुग्रह करता है। इसलिये परमेश्वर के आधीन हो जाओ; और शैतान का साम्हना करो, तो वह तुम्हारे पास से भाग निकलेगा। - याकूब 4:6-7

बाइबल पाठ: भजन 19:7-14
Psalms 19:7 यहोवा की व्यवस्था खरी है, वह प्राण को बहाल कर देती है; यहोवा के नियम विश्वासयोग्य हैं, साधारण लोगों को बुद्धिमान बना देते हैं; 
Psalms 19:8 यहोवा के उपदेश सिद्ध हैं, हृदय को आनन्दित कर देते हैं; यहोवा की आज्ञा निर्मल है, वह आंखों में ज्योति ले आती है; 
Psalms 19:9 यहोवा का भय पवित्र है, वह अनन्तकाल तक स्थिर रहता है; यहोवा के नियम सत्य और पूरी रीति से धर्ममय हैं। 
Psalms 19:10 वे तो सोने से और बहुत कुन्दन से भी बढ़कर मनोहर हैं; वे मधु से और टपकने वाले छत्ते से भी बढ़कर मधुर हैं। 
Psalms 19:11 और उन्हीं से तेरा दास चिताया जाता है; उनके पालन करने से बड़ा ही प्रतिफल मिलता है। 
Psalms 19:12 अपनी भूलचूक को कौन समझ सकता है? मेरे गुप्त पापों से तू मुझे पवित्र कर। 
Psalms 19:13 तू अपने दास को ढिठाई के पापों से भी बचाए रख; वह मुझ पर प्रभुता करने न पाएं! तब मैं सिद्ध हो जाऊंगा, और बड़े अपराधों से बचा रहूंगा।
Psalms 19:14 मेरे मुंह के वचन और मेरे हृदय का ध्यान तेरे सम्मुख ग्रहण योग्य हों, हे यहोवा परमेश्वर, मेरी चट्टान और मेरे उद्धार करने वाले!

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 34-36