बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, August 2, 2014

सहायक


   मैं स्टोर से खरीद्दारी कर के बिल चुकाने के लिए लाईन में खड़ी थी और मेरा ध्यान खरीद्दारी की कुल कीमत का आँकलन करने और अपने बेटे को इधर-उधर हो जाने से रोके रखने के बीच में बंटा हुआ था। मुझे पता ही नहीं पड़ा कि कब मेरे सामने लाईन में खड़ी महिला अपनी खरीद्दारी की सारी वस्तुएं वहीं कलर्क के पास छोड़कर बाहर चली गई। पैसे लेने वाली कलर्क ने मुझ से कहा, उसके पास चुकाने के लिए पर्याप्त पैसे नहीं थे इसलिए वह खाली हाथ ही चली गई। मुझे बहुत बुरा लगा, काश मैंने थोड़ा ध्यान रखा होता, तो मैं उस महिला की सहायता करने पाती, उसे अपना सामान छोड़कर खाली हाथ नहीं जाना पड़ता।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में रूत की पुस्तक में खेतों के मालिक बोअज़ को रूत की दयनीय दशा के बारे में पता चलता है जब रूत उसके खेत में कटनी के पश्चात नीचे गिरी हुई अनाज की बालें अपनी आवश्यकता के लिए बटोरने आती है (रूत 2:5)। बोअज़ को मालूम पड़ता है कि वह विधवा है, और अपनी सास के साथ रहती है, तथा घर चलाने के लिए उनके पास कुछ नहीं है। बोअज़ ने उनकी आवश्यकता और सुरक्षा की स्थिति को समझा और अपने खेत में कार्य करने वाले मज़दूरों को निर्देश दिए कि उसे बिलकुल भी कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए, तथा यह भी निर्देश दिए कि रूत कि सहायता के लिए, जिस जगह वह अनाज बीन रही हो वहाँ कुछ अधिक अनाज भूमि पर गिरा दें। बोअज़ ने रुत की भावनात्मक आवश्यकताओं का भी ध्यान रखा, उससे बातचीत करी और उसे सान्तवना दी। जब रूत ने यह सब अपनी सास, नाओमी को बताया तब नाओमी ने कहा: "...धन्य वह हो जिसने तेरी सुधि ली है..." (रूत 2:19)।

   क्या आज आप अपने आस-पासे के किसी जन की आवश्यकताओं के बारे में जानते हैं - आपके चर्च में, पड़ौस में, या आपके अपने घर में? विचार कीजिए आप किस रिति से उनके सहायक हो सकते हैं, उनके किसी बोझ को बाँट सकते हैं। लोगों की सहायता करने के द्वारा आप अपने मसीही विश्वास की गवाही उनके सामने रख सकते हैं और उनके अनन्त जीवन को संवारने में परमेश्वर के सहायक भी हो सकते हैं। - जेनिफर बेन्सन शुल्ट


परमेश्वर हम में होकर हमारे आस-पास के लोगों के जीवनों में कार्य करता है।

क्या ही धन्य है वह, जो कंगाल की सुधि रखता है! विपत्ति के दिन यहोवा उसको बचाएगा। - भजन 41:1

बाइबल पाठ: रूत 2:5-20
Ruth 2:5 तब बोअज ने अपने उस सेवक से जो लवने वालों के ऊपर ठहराया गया था पूछा, वह किस की कन्या है। 
Ruth 2:6 जो सेवक लवने वालों के ऊपर ठहराया गया था उसने उत्तर दिया, वह मोआबिन कन्या है, जो नाओमी के संग मोआब देश से लौट आई है। 
Ruth 2:7 उसने कहा था, मुझे लवने वालों के पीछे पीछे पूलों के बीच बीनने और बालें बटोरने दे। तो वह आई, और भोर से अब तक यहीं है, केवल थोड़ी देर तक घर में रही थी। 
Ruth 2:8 तब बोअज ने रूत से कहा, हे मेरी बेटी, क्या तू सुनती है? किसी दूसरे के खेत में बीनने को न जाना, मेरी ही दासियों के संग यहीं रहना। 
Ruth 2:9 जिस खेत को वे लवतीं हों उसी पर तेरा ध्यान बन्धा रहे, और उन्हीं के पीछे पीछे चला करना। क्या मैं ने जवानों को आज्ञा नहीं दी, कि तुझ से न बोलें? और जब जब तुझे प्यास लगे, तब तब तू बरतनों के पास जा कर जवानों का भरा हुआ पानी पीना। 
Ruth 2:10 तब वह भूमि तक झुककर मुंह के बल गिरी, और उस से कहने लगी, क्या कारण है कि तू ने मुझ परदेशिन पर अनुग्रह की दृष्टि कर के मेरी सुधि ली है? 
Ruth 2:11 बोअज ने उत्तर दिया, जो कुछ तू ने पति मरने के पीछे अपनी सास से किया है, और तू किस रीति अपने माता पिता और जन्मभूमि को छोड़कर ऐसे लोगों में आई है जिन को पहिले तू ने जानती थी, यह सब मुझे विस्तार के साथ बताया गया है। 
Ruth 2:12 यहोवा तेरी करनी का फल दे, और इस्राएल का परमेश्वर यहोवा जिसके पंखों के तले तू शरण लेने आई है तुझे पूरा बदला दे 
Ruth 2:13 उसने कहा, हे मेरे प्रभु, तेरे अनुग्रह की दृष्टि मुझ पर बनी रहे, क्योंकि यद्यपि मैं तेरी दासियों में से किसी के भी बराबर नहीं हूं, तौभी तू ने अपनी दासी के मन में पैठनेवाली बातें कहकर मुझे शान्ति दी है। 
Ruth 2:14 फिर खाने के समय बोअज ने उस से कहा, यहीं आकर रोटी खा, और अपना कौर सिरके में बोर। तो वह लवने वालों के पास बैठ गई; और उसने उसको भुनी हुई बालें दी; और वह खाकर तृप्त हुई, वरन कुछ बचा भी रखा। 
Ruth 2:15 जब वह बीनने को उठी, तब बोअज ने अपने जवानों को आज्ञा दी, कि उसको पूलों के बीच बीच में भी बीनने दो, और दोष मत लगाओ। 
Ruth 2:16 वरन मुट्ठी भर जाने पर कुछ कुछ निकाल कर गिरा भी दिया करो, और उसके बीनने के लिये छोड़ दो, और उसे घुड़को मत। 
Ruth 2:17 सो वह सांझ तक खेत में बीनती रही; तब जो कुछ बीन चुकी उसे फटका, और वह कोई एपा भर जौ निकला। 
Ruth 2:18 तब वह उसे उठा कर नगर में गई, और उसकी सास ने उसका बीना हुआ देखा, और जो कुछ उसने तृप्त हो कर बचाया था उसको उसने निकाल कर अपनी सास को दिया। 
Ruth 2:19 उसकी सास ने उस से पूछा, आज तू कहां बीनती, और कहां काम करती थी? धन्य वह हो जिसने तेरी सुधि ली है। तब उसने अपनी सास को बता दिया, कि मैं ने किस के पास काम किया, और कहा, कि जिस पुरूष के पास मैं ने आज काम किया उसका नाम बोअज है। 
Ruth 2:20 नाओमी ने अपनी बहू से कहा, वह यहोवा की ओर से आशीष पाए, क्योंकि उसने न तो जीवित पर से और न मरे हुओं पर से अपनी करूणा हटाई! फिर नाओमी ने उस से कहा, वह पुरूष तो हमारा कुटुम्बी है, वरन उन में से है जिन को हमारी भूमि छुड़ाने का अधिकार है।

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह 19-21