बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, May 4, 2016

आँसू


   मैंने और मेरी पत्नि ने प्रभु-भोज की एक सभा में भाग लिया जहाँ मसीही विश्वासियों को निमंत्रण दिया गया कि वे आगे आकर पादरी और उसके सहायकों से रोटी और दाखरस के प्याले को ग्रहण करें। जितने लोग भाग लेने के लिए आगे आए उन सभी से पादरी और उसके सहायकों ने उनके पापों की क्षमा और उद्धार के लिए प्रभु यीशु द्वारा दिए गए बलिदान के बारे में कहा, जिससे वह जो महज़ एक रस्म बन सकता है, एक मर्मस्पर्शी अवसर बन गया था। हम जब लौट कर अपने स्थानों पर आए तो हम ने कई लोगों को धीरे-धीरे विचारमग्न होकर वापस आते देखा, और उन में अनेक की आँखों में आँसू थे। मेरे लिए और उन लोगों के लिए, जिनसे मैंने सभा के बाद बातचीत करी, वे कृतज्ञता के आँसू थे।

   कृतज्ञता के उन आँसुओं का कारण प्रभु-भोज के कारण में ही निहित है। प्रेरित पौलुस ने कुरिन्थुस के मसीही विश्वासियों को लिखी अपनी पत्री में प्रभु-भोज के अर्थ को उन्हें समझाया, जिनमें ये सशक्त शब्द भी हैं: "क्योंकि जब कभी तुम यह रोटी खाते, और इस कटोरे में से पीते हो, तो प्रभु की मृत्यु को जब तक वह न आए, प्रचार करते हो" (1 कुरिन्थियों 11:26)। जबकि प्रभु-भोज की वस्तुएं सीधे तौर पर प्रभु यीशु और क्रूस पर दिए गए उनके बलिदान की ओर इशारा कर रही हैं, तो प्रभु-भोज कोई रस्म नहीं है; यह मसीह यीशु के साथ संभागी होना है। प्रभु-भोज हमें मसीह यीशु के प्रेम, बलिदान, क्रूस और उसके द्वारा अपने विश्वासियों के लिए तैयार करे गए पापों की क्षमा, उद्धार तथा अनन्त जीवन के मार्ग का स्मरण करना है; साथ ही यह स्मरण कराता है कि हम मसीही विश्वासियों को अपने प्रभु का गवाह होना है।

   मसीह यीशु के इस बेशकीमत बलिदान के बेबयान महत्व और बहुमूल्यता को समझा और बता पाने के लिए हमारे शब्द कितने कमज़ोर और अधूरे हैं! जो बात शब्द नहीं समझा पाते, कई बार वह आँसुओं से व्यक्त हो जाती है। - बिल क्राउडर


जो प्रेम प्रभु यीशु ने हमारे लिए क्रूस पर प्रदर्शित किया है, उसे बयान करने के लिए शब्द काफी नहीं हैं।

इस से बड़ा प्रेम किसी का नहीं, कि कोई अपने मित्रों के लिये अपना प्राण दे। - यूहन्ना 15:13 

बाइबल पाठ: 1 कुरिन्थियों 11:23-32
1 Corinthians 11:23 क्योंकि यह बात मुझे प्रभु से पहुंची, और मैं ने तुम्हें भी पहुंचा दी; कि प्रभु यीशु ने जिस रात वह पकड़वाया गया रोटी ली। 
1 Corinthians 11:24 और धन्यवाद कर के उसे तोड़ी, और कहा; कि यह मेरी देह है, जो तुम्हारे लिये है: मेरे स्मरण के लिये यही किया करो। 
1 Corinthians 11:25 इसी रीति से उसने बियारी के पीछे कटोरा भी लिया, और कहा; यह कटोरा मेरे लोहू में नई वाचा है: जब कभी पीओ, तो मेरे स्मरण के लिये यही किया करो। 
1 Corinthians 11:26 क्योंकि जब कभी तुम यह रोटी खाते, और इस कटोरे में से पीते हो, तो प्रभु की मृत्यु को जब तक वह न आए, प्रचार करते हो। 
1 Corinthians 11:27 इसलिये जो कोई अनुचित रीति से प्रभु की रोटी खाए, या उसके कटोरे में से पीए, वह प्रभु की देह और लोहू का अपराधी ठहरेगा। 
1 Corinthians 11:28 इसलिये मनुष्य अपने आप को जांच ले और इसी रीति से इस रोटी में से खाए, और इस कटोरे में से पीए। 
1 Corinthians 11:29 क्योंकि जो खाते-पीते समय प्रभु की देह को न पहिचाने, वह इस खाने और पीने से अपने ऊपर दण्‍ड लाता है। 
1 Corinthians 11:30 इसी कारण तुम में से बहुत से निर्बल और रोगी हैं, और बहुत से सो भी गए। 
1 Corinthians 11:31 यदि हम अपने आप में जांचते, तो दण्‍ड न पाते। 
1 Corinthians 11:32 परन्तु प्रभु हमें दण्‍ड देकर हमारी ताड़ना करता है इसलिये कि हम संसार के साथ दोषी न ठहरें।

एक साल में बाइबल: 
  • 1 राजा 16-18
  • लूका 22:47-71