बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, May 31, 2016

रूपांतरण


   मैं अपने बेटे को स्कूल से लेकर कार द्वारा घर वापस आ रही थी कि बर्फ गिरनी आरंभ हो गई; सफेद रूई के मुलायम रेशों के समान बर्फ लगातार और काफी मात्रा में गिरनी आरंभ हो गई, जिसके कारण यातायात धीमा होता गया और अंततः थम भी गया। सड़क पर खड़ी गाड़ियों के बीच में हम भी खड़े हो गए, और कार के अन्दर से बाहर हो रहे रूपांतरण को देखने लगे - मिट्टी के गहरे भूरे-काले रंग सफेद बर्फ से ढक गए और सफेद हो गए, मकानों पर गिरने वाली बर्फ ने उनके भिन्न रंग छुपा कर सफेद बना दिए, उन मकानों के किनारे अब गोलाकार हो गए, पेड़ों की डालियों पर भी बर्फ आ गई - दूर दूर तक, चारों ओर, सब कुछ एक निर्मल सफेद चादर से ढंप गया।

   इस बर्फबारी से हुए रूपांतरण ने मुझे एक आत्मिक सत्य की भी याद दिलाई - जैसे उस बर्फ ने सब कुछ को ढांप कर सफेद कर दिया, उनके स्वरूप का परिवर्तन कर दिया, वैसे ही प्रभु यीशु के बलिदान में होकर हम को उपलब्ध करवाया गया परमेश्वर का अनुग्रह भी हमारे सारे पाप ढांप कर हमें निर्मल कर देता है। लेकिन बर्फ से हुए उस रूपांतरण और परमेश्वर के अनुग्रह से होने वाले हमारे रूपांतरण में एक भारी अन्तर है - अनुग्रह अस्थायी रूप से केवल ढांपता ही नहीं है, वरन वह हमारे पाप और उसके सभी दुषप्रभावों को स्थायी रूप से मिटा देता है।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में परमेश्वर ने अपने भविष्यद्वक्ता यशायाह में होकर अपने लोगों से आग्रह किया: "...आओ, हम आपस में वादविवाद करें: तुम्हारे पाप चाहे लाल रंग के हों, तौभी वे हिम की नाईं उजले हो जाएंगे; और चाहे अर्गवानी रंग के हों, तौभी वे ऊन के समान श्वेत हो जाएंगे" (यशायाह 1:18)। जब परमेश्वर ने यह बात कही, उस समय परमेश्वर की प्रजा इस्त्राएल पाप की पीड़ादायक स्थिति में धंसा हुआ था, परमेश्वर से दूर हो गया था (यशायाह 1:4)। इसीलिए परमेश्वर ने उनकी तुलना खुले घावों और सड़ान से भरे शरीर से भी करी (यशायाह 1:6)। उन लोगों के पाप चाहे कितने भी बुरे थे, लेकिन परमेश्वर उन पर अपना अनुग्रह बढ़ाना चाहता था, उन्हें पुनः स्वस्थ और स्वच्छ करना चाहता था। 

   आज भी समस्त संसार के हर व्यक्ति के लिए प्रभु यीशु में लाए गए विश्वास और समर्पण द्वारा परमेश्वर की क्षमा और अनुग्रह का यह द्वार खुला है, सेंत-मेंत उपलब्ध है। पाप हमारे जीवनों को दूषित और दाग़दार बना देता है, लेकिन जब हम उन पापों का अंगीकार करके प्रभु यीशु से उनकी क्षमा मांगते हैं तो परमेश्वर का वचन हमें आश्वस्त करता है कि "हम को उस में उसके लोहू के द्वारा छुटकारा, अर्थात अपराधों की क्षमा, उसके उस अनुग्रह के धन के अनुसार मिला है" (इफिसियों 1:7) और उसका यह अनुग्रह हमारा रूपांतरण करके हमें अनन्तकाल के लिए परमेश्वर की सन्तान बना देता है (यूहन्ना 1:12-13)। - जेनिफर बेन्सन शुल्ट


पापों के दाग़ केवल प्रभु यीशु मसीह के लोहू से ही धुल सकते हैं।

मैं ने तेरे अपराधों को काली घटा के समान और तेरे पापों को बादल के समान मिटा दिया है; मेरी ओर फिर लौट आ, क्योंकि मैं ने तुझे छुड़ा लिया है। - यशायाह 44:22

बाइबल पाठ: यशायाह 1:1-18
Isaiah 1:1 आमोस के पुत्र यशायाह का दर्शन, जिस को उसने यहूदा और यरूशलेम के विषय में उज्जियाह, योताम, आहाज, और हिजकिय्याह नाम यहूदा के राजाओं के दिनों में पाया। 
Isaiah 1:2 हे स्वर्ग सुन, और हे पृथ्वी कान लगा; क्योंकि यहोवा कहता है: मैं ने बाल-बच्चों का पालन पोषण किया, और उन को बढ़ाया भी, परन्तु उन्होंने मुझ से बलवा किया। 
Isaiah 1:3 बैल तो अपने मालिक को और गदहा अपने स्वामी की चरनी को पहिचानता है, परन्तु इस्राएल मुझें नहीं जानता, मेरी प्रजा विचार नहीं करती।
Isaiah 1:4 हाय, यह जाति पाप से कैसी भरी है! यह समाज अधर्म से कैसा लदा हुआ है! इस वंश के लोग कैसे कुकर्मी हैं, ये लड़के-बाले कैसे बिगड़े हुए हैं! उन्होंने यहोवा को छोड़ दिया, उन्होंने इस्राएल के पवित्र को तुच्छ जाना है! वे पराए बनकर दूर हो गए हैं।
Isaiah 1:5 तुम बलवा कर कर के क्यों अधिक मार खाना चाहते हो? तुम्हारा सिर घावों से भर गया, और तुम्हारा हृदय दु:ख से भरा है। 
Isaiah 1:6 नख से सिर तक कहीं भी कुछ आरोग्यता नहीं, केवल चोट और कोड़े की मार के चिन्ह और सड़े हुए घाव हैं जो न दबाये गए, न बान्धे गए, न तेल लगा कर नरमाये गए हैं।
Isaiah 1:7 तुम्हारा देश उजड़ा पड़ा है, तुम्हारे नगर भस्म हो गए हैं; तुम्हारे खेतों को परदेशी लोग तुम्हारे देखते ही निगल रहे हैं; वह परदेशियों से नाश किए हुए देश के समान उजाड़ है। 
Isaiah 1:8 और सिय्योन की बेटी दाख की बारी में की झोंपड़ी की नाईं छोड़ दी गई है, वा ककड़ी के खेत में की छपरिया या घिरे हुए नगर के समान अकेली खड़ी है। 
Isaiah 1:9 यदि सेनाओं का यहोवा हमारे थोड़े से लोगों को न बचा रखता, तो हम सदोम के समान हो जाते, और अमोरा के समान ठहरते।
Isaiah 1:10 हे सदोम के न्याइयों, यहोवा का वचन सुनो! हे अमोरा की प्रजा, हमारे परमेश्वर की शिक्षा पर कान लगा। 
Isaiah 1:11 यहोवा यह कहता है, तुम्हारे बहुत से मेलबलि मेरे किस काम के हैं? मैं तो मेढ़ों के होमबलियों से और पाले हुए पशुओं की चर्बी से अघा गया हूं; 
Isaiah 1:12 मैं बछड़ों वा भेड़ के बच्चों वा  बकरों के लोहू से प्रसन्न नहीं होता। तुम जब अपने मुंह मुझे दिखाने के लिये आते हो, तब यह कौन चाहता है कि तुम मेरे आंगनों को पांव से रौंदो? 
Isaiah 1:13 व्यर्थ अन्नबलि फिर मत लाओ; धूप से मुझे घृणा है। नये चांद और विश्रामदिन का मानना, और सभाओं का प्रचार करना, यह मुझे बुरा लगता है। महासभा के साथ ही साथ अनर्थ काम करना मुझ से सहा नहीं जाता। 
Isaiah 1:14 तुम्हारे नये चांदों और नियत पर्वों के मानने से मैं जी से बैर रखता हूं; वे सब मुझे बोझ से जान पड़ते हैं, मैं उन को सहते सहते उकता गया हूं। 
Isaiah 1:15 जब तुम मेरी ओर हाथ फैलाओ, तब मैं तुम से मुंह फेर लूंगा; तुम कितनी ही प्रार्थना क्यों न करो, तौभी मैं तुम्हारी न सुनूंगा; क्योंकि तुम्हारे हाथ खून से भरे हैं। 
Isaiah 1:16 अपने को धोकर पवित्र करो: मेरी आंखों के साम्हने से अपने बुरे कामों को दूर करो; भविष्य में बुराई करना छोड़ दो, 
Isaiah 1:17 भलाई करना सीखो; यत्न से न्याय करो, उपद्रवी को सुधारो; अनाथ का न्याय चुकाओ, विधवा का मुकद्दमा लड़ो।
Isaiah 1:18 यहोवा कहता है, आओ, हम आपस में वादविवाद करें: तुम्हारे पाप चाहे लाल रंग के हों, तौभी वे हिम की नाईं उजले हो जाएंगे; और चाहे अर्गवानी रंग के हों, तौभी वे ऊन के समान श्वेत हो जाएंगे।

एक साल में बाइबल: 
  • 2 इतिहास 13-14
  • यूहन्ना 12:1-26