बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, November 28, 2016

शान्तिदायक


   अफ्रिका की स्वाहीलि भाषा में "अमानी" का अर्थ होता है "शान्ति"; और यह नाम है एक लैब्राडोर रिट्रीवर जाति के पिल्ले का, जिसके कुछ विशेष मित्र हैं। इस पिल्ले, अमानी, को डैलस के चिड़ियाघर में चीते के दो शावकों के साथ रखा गया है। प्राणी शस्त्रियों ने इन्हें एक साथ इसलिए रखा है क्योंकि कुत्ते सार्वजनिक स्थितियों में भी अकसर शान्त ही रहते हैं; इसलिए उन विशेषज्ञों का मानना है कि अमानी की उपस्थिति साथ साथ बढ़ते हुए उन चीतों को भी शान्त बनाए रखेगी।

   परमेश्वर के वचन बाइबल का एक प्रमुख पात्र, दाऊद, इस्त्राएल के पहले राजा शाऊल के लिए शान्तिदायक होता था, जब भी शाऊल पर उसे अशान्त कर देने वाला दुष्ट-आत्मा आता था (1 शमूएल 16:14)। जब शाऊल के सेवकों ने शाऊल के अशान्त होने जाने के बारे में जाना, तो उन्हें लगा कि संगीत उसकी समस्या का समाधान हो सकता है। इसलिए शाऊल का एक सेवक दाऊद को, जो कुशल हार्प (तारों वाला एक संगीत वाद्य) वादक था, बुला लाया। जब भी राजा परेशान होता, दाऊद उसके लिए हार्प बजाता, और "शाऊल चैन पाकर अच्छा हो जाता था, और वह दुष्ट आत्मा उस में से हट जाता था" (1 शमूएल 16:23)।

   जब भी हम क्रोध, आवेश, भय, उदासी या अन्य किसी कारणवश परेशान हों, तब हम सभी तरोताज़ा और स्वच्छानन्दित होना चाहते हैं। बाइबल का परमेश्वर "शान्ति का परमेश्वर" है (इब्रानियों १३:२०-२१); जो कोई भी स्वेच्छा से उस प्रभु परमेश्वर पर विश्वास लाता है और उससे अपने पापों की क्षमा माँग कर अपना जीवन उसे समर्पित कर देता है, उसे वह अपना पवित्र आत्मा देता है जो उसके अन्दर निवास करता है, उसका मार्ग-दर्शन करता है उसे शान्ति में बनाए रखता है। जब कभी हम विचलित, या चिंतित हों, हमें स्मरण कर लेना चाहिए कि परमेश्वर का आत्मा हमें सामर्थ, प्रेम और आत्मसंयम के लिए दिया गया है: "क्योंकि परमेश्वर ने हमें भय की नहीं पर सामर्थ, और प्रेम, और संयम की आत्मा दी है" (2 तिमुथियुस 1:7)।

   हमारे जीवनों में परमेश्वर का प्रभाव हमें शान्त बनाता है, जिससे हम स्वयं भी शान्त रहें और दूसरों के लिए भी शान्तिदायक बने रहें (2 कुरिन्थियों 1:3-4)। - जेनिफर बेन्सन शुल्ट

प्रभु यीशु ने कहा: "मैं तुम्हें शान्‍ति दिए जाता हूं, अपनी शान्‍ति तुम्हें देता हूं; 
जैसे संसार देता है, मैं तुम्हें नहीं देता: तुम्हारा मन न घबराए और न डरे" (यूहन्ना 14:27)।

हमारे प्रभु यीशु मसीह के परमेश्वर, और पिता का धन्यवाद हो, जो दया का पिता, और सब प्रकार की शान्‍ति का परमेश्वर है। वह हमारे सब क्‍लेशों में शान्‍ति देता है; ताकि हम उस शान्‍ति के कारण जो परमेश्वर हमें देता है, उन्हें भी शान्‍ति दे सकें, जो किसी प्रकार के क्‍लेश में हों। - 2 कुरिन्थियों 1:3-4

बाइबल पाठ: 1 शमूएल 16:14-23
1 Samuel 16:14 और यहोवा का आत्मा शाऊल पर से उठ गया, और यहोवा की ओर से एक दुष्ट आत्मा उसे घबराने लगा। 
1 Samuel 16:15 और शाऊल के कर्मचारियों ने उस से कहा, सुन, परमेश्वर की ओर से एक दुष्ट आत्मा तुझे घबराता है। 
1 Samuel 16:16 हमारा प्रभु अपने कर्मचारियों को जो उपस्थित हैं आज्ञा दे, कि वे किसी अच्छे वीणा बजाने वाले को ढूंढ़ ले आएं; और जब जब परमेश्वर की ओर से दुष्ट आत्मा तुझ पर चढ़े, तब तब वह अपने हाथ से बजाए, और तू अच्छा हो जाए। 
1 Samuel 16:17 शाऊल ने अपने कर्मचारियों से कहा, अच्छा, एक उत्तम बजवैया देखो, और उसे मेरे पास लाओ। 
1 Samuel 16:18 तब एक जवान ने उत्तर देके कहा, सुन, मैं ने बेतलहमी यिशै के एक पुत्र को देखा जो वीणा बजाना जानता है, और वह वीर योद्धा भी है, और बात करने में बुद्धिमान और रूपवान भी है; और यहोवा उसके साथ रहता है। 
1 Samuel 16:19 तब शाऊल ने दूतों के हाथ यिशै के पास कहला भेजा, कि अपने पुत्र दाऊद को जो भेड़-बकरियों के साथ रहता है मेरे पास भेज दे। 
1 Samuel 16:20 तब यिशै ने रोटी से लदा हुआ एक गदहा, और कुप्पा भर दाखमधु, और बकरी का एक बच्चा ले कर अपने पुत्र दाऊद के हाथ से शाऊल के पास भेज दिया। 
1 Samuel 16:21 और दाऊद शाऊल के पास जा कर उसके साम्हने उपस्थित रहने लगा। और शाऊल उस से बहुत प्रीति करने लगा, और वह उसका हथियार ढोने वाला हो गया। 
1 Samuel 16:22 तब शाऊल ने यिशै के पास कहला भेजा, कि दाऊद को मेरे साम्हने उपस्थित रहने दे, क्योंकि मैं उस से बहुत प्रसन्न हूं। 
1 Samuel 16:23 और जब जब परमेश्वर की ओर से वह आत्मा शाऊल पर चढ़ता था, तब तब दाऊद वीणा ले कर बजाता; और शाऊल चैन पाकर अच्छा हो जाता था, और वह दुष्ट आत्मा उस में से हट जाता था।

एक साल में बाइबल: 
  • यहेजेकल 33-34
  • 1 पतरस 5