बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, June 15, 2017

ऊपर देखो


   हमारे घर के निकट के एक उद्यान में एक पगडंडी है जिस पर चलना मुझे बहुत अच्छा लगता है। उस पगडंडी के एक भाग से गार्डन ऑफ द गौड्स में स्थित लाल पत्थर की चट्टानों का विहंगम दृश्य दिखता है, जिनके पीछे 14,115 फुट ऊँची पाईक्स पीक नामक पर्वत चोटी दिखाई देती है और यह सारा दृश्य बड़ा ही मनोरम होता है। कभी-कभी, किसी समस्या में उलझा हुआ मैं उस भाग से अपना सिर झुकाए, नीचे सपाट पगडंडी को देखता हुआ चला जाता हूँ। ऐसे में, यदि मेरे आस-पास कोई और ना हो तो मैं ठिठक कर रुक भी जाता हूँ और ऊँची आवाज़ में अपने आप से कहता हूँ, "डेविड, ऊपर देखो!"

   परमेश्वर के वचन बाइबल में भजन संहिता नामक पुस्तक में कुछ भजन हैं (भजन 120-134) जिन्हें "यात्रा के गीत" कहा जाता है। ये वो भजन हैं जिन्हें इसत्राएल के लोग, जब वे तीनों वार्षिक तीर्थ-त्यौहारों को मनाने के लिए आते थे, तो यरुशलेम की ओर चढ़ते जाते हुए गाते थे। इनमें से भजन 121 का आरंभ एक प्रशन से होता है: "मैं अपनी आंखें पर्वतों की ओर लगाऊंगा। मुझे सहायता कहां से मिलेगी?" (पद 1), और अगले पद में उसका उत्तर भी दिया गया है, "मुझे सहायता यहोवा की ओर से मिलती है, जो आकाश और पृथ्वी का कर्ता है" (पद 2)। हमारा सृष्टिकर्ता परमेश्वर ऐसा नहीं है जो हमसे अलग-थलग रहता हो, वरन वह हमारा ऐसा साथी है जो सदा हमारे साथ बना रहता है, हमारी परिस्थितियों के प्रति सदिव सजग रहता है (पद 3-7), हमारी जीवन यात्रा में, "अब से लेकर सदा तक" हमारा मार्गदर्शन एवं सुरक्षा प्रदान करता रहता है (पद 8)।

   जीवन के पथ पर हमारा अपने प्रभु परमेश्वर पर, जो हमारी सहायता का स्त्रोत है, अपनी दृष्टि लगाए रखना कितना आवश्यक है। जब भी हम अपनी परिस्थितियों या किसी परेशानी से अभिभूत और निराश अनुभव करते हैं, हमें भी रुक कर अपने आप से ऊँची आवाज़ में कहना चाहिए, "ऊपर देखो!" - डेविड मैक्कैसलैंड


अपनी सहायता के स्त्रोत, प्रभु परमेश्वर पर, अपनी दृष्टि सदा लगाए रखें।

परमेश्वर हमारा शरणस्थान और बल है, संकट में अति सहज से मिलने वाला सहायक। - भजन 46:1

बाइबल पाठ: भजन 121
Psalms 121:1 मैं अपनी आंखें पर्वतों की ओर लगाऊंगा। मुझे सहायता कहां से मिलेगी? 
Psalms 121:2 मुझे सहायता यहोवा की ओर से मिलती है, जो आकाश और पृथ्वी का कर्ता है।
Psalms 121:3 वह तेरे पांव को टलने न देगा, तेरा रक्षक कभी न ऊंघेगा। 
Psalms 121:4 सुन, इस्राएल का रक्षक, न ऊंघेगा और न सोएगा।
Psalms 121:5 यहोवा तेरा रक्षक है; यहोवा तेरी दाहिनी ओर तेरी आड़ है। 
Psalms 121:6 न तो दिन को धूप से, और न रात को चांदनी से तेरी कुछ हानि होगी।
Psalms 121:7 यहोवा सारी विपत्ति से तेरी रक्षा करेगा; वह तेरे प्राण की रक्षा करेगा। 
Psalms 121:8 यहोवा तेरे आने जाने में तेरी रक्षा अब से ले कर सदा तक करता रहेगा।

एक साल में बाइबल: 
  • नहेम्याह 1-3
  • प्रेरितों 2:1-21