बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, July 4, 2017

हृदय परिवर्तन


   पुरातत्ववेताओं को 1879 में, वर्तमान इराक (बाइबल के बैबिलोन/बाबुल) से एक छोटी किंतु विलक्षण वस्तु मिली। उस बेलनाकार वस्तु की लंबाई केवल 9 इन्च ही है; और उसे Cyrus Cylinder (सायरस सिलिंडर) कहा गया क्योंकि उसमें राजा कुस्त्रु (Cyrus) द्वारा 2500 वर्ष पहले किए गए एक महत्वपूर्ण कार्य का वर्णन है। उसमें लिखा है कि राजा कुस्त्रु ने लोगों के एक समूह को वापस अपने देश लौट जाने दिया जिससे कि वे जाकर अपने देश के "पवित्र नगरों" को फिर से बनाएं।

   यही घटना परमेश्वर के वचन बाइबल में एज़्रा की पुस्तक के आरंभ में भी लिखी गई है, जहाँ हम पढ़ते हैं कि, "फारस के राजा कुस्रू के पहिले वर्ष में यहोवा ने फारस के राजा कुस्रू का मन उभारा..." (एज़्रा 1:1)। राजा कुस्त्रु ने कहा कि वह बाबुल से कुछ बन्दियों को मुक्त कर रहा है जिससे वे अपने घर यरुशलेम को लौट जाएं, और वहाँ जाकर अपने घरों को और अपने परमेश्वर के मन्दिर को फिर से बनाएं (पद 2-5)। लेकिन इस कहानी से संबंधित और भी कुछ विशेष बात है। यरुशलेम से बाबुल लाए गए उन बन्दियों में से एक बन्दी दानिय्येल ने अपने तथा अपने लोगों के पापों का परमेश्वर के सम्मुख अंगीकार किया और परमेश्वर से विनती की कि वह अपने लोगों को बाबुल की बन्धुवाई से मुक्त करे (दनिय्येल 9); प्रत्युत्तर में परमेश्वर ने एक स्वर्गदूत को दानिय्येल के पास भेजा (पद 20-21)। इसके बाद हम पाते हैं कि परमेश्वर ने राजा कुस्त्रु के दिल को परिवर्तित किया कि वह उन इस्त्राएली बन्दियों को जाने दे (देखें यर्मियाह 25:11-12; 39:10)।

   परमेश्वर का वचन और सायरस सिलिंडर मिल-जुल कर हमें सप्रमाण दिखाते हैं कि परमेश्वर ने एक अन्य जाति तथा गैर यहूदी राजा का भी ऐसा हृदय परिवर्तन किया, कि उसने अपने देश के लोगों की गुलामी में आए इस्त्राएलियों को मुक्त होकर वापस अपने देश चले जाने की आज्ञा दी जिससे कि वे जाकर अपने परमेश्वर की आराधना करने पाएं, उसके लिए मन्दिर को पुनः बनाने पाएं।

   हमारे लिए आज यह घटना बहुत अर्थपूर्ण है। इस संसार में, जो नियंत्रण से बाहर हो चुका प्रतीत होता है, हम आश्वस्त रह सकते हैं कि हमारा प्रभु परमेश्वर संसार के अधिकारियों के हृदयों को परिवर्तित कर सकता है। ऐसा कहना कोई कल्पना नहीं वरन बाइबल का स्पष्ट कथन है: "राजा का मन नालियों के जल के समान यहोवा के हाथ में रहता है, जिधर वह चाहता उधर उसको फेर देता है" (नीतिवचन 21:1); क्योंकि " ...कोई अधिकार ऐसा नहीं, जो परमेश्वर की ओर से न हो; और जो अधिकार हैं, वे परमेश्वर के ठहराए हुए हैं" (रोमियों 13:1)।

   हमारा प्रभु परमेश्वर, जो हमारे तथा हमारे अधिकारियों के हृदयों को परिवर्तित कर सकता है, प्रत्येक परिस्थिति पर नियंत्रण रखता है, और इस बिगड़ते हुए संसार में भी हम उस पर अपना भरोसा बनाए रख सकते हैं। हम उससे प्रार्थना करते रहें कि वह हृदय परिवर्तन के इस कार्य को ज़ारी रखे। - डेव ब्रैनन


असंतोष प्रकट करने और शिकायत करने के स्थान पर प्रार्थना करें।

इस प्रकार मैं प्रार्थना करता, और अपने और अपने इस्राएली जाति भाइयों के पाप का अंगीकार करता हुआ, अपने परमेश्वर यहोवा के सम्मुख उसके पवित्र पर्वत के लिये गिड़गिड़ाकर बिनती करता ही था, तब वह पुरूष जिब्राएल जिसे मैं ने उस समय देखा जब मुझे पहिले दर्शन हुआ था, उसने वेग से उड़ने की आज्ञा पाकर, सांझ के अन्नबलि के समय मुझ को छू लिया; और मुझे समझाकर मेरे साथ बातें करने लगा। - दनिय्येल 9:20-21

बाइबल पाठ: एज़्रा 1:1-8
Ezra 1:1 फारस के राजा कुस्रू के पहिले वर्ष में यहोवा ने फारस के राजा कुस्रू का मन उभारा कि यहोवा का जो वचन यिर्मयाह के मुंह से निकला था वह पूरा हो जाए, इसलिये उसने अपने समस्त राज्य में यह प्रचार करवाया और लिखवा भी दिया: 
Ezra 1:2 कि फारस का राजा कुस्रू यों कहता है: कि स्वर्ग के परमेश्वर यहोवा ने पृथ्वी भर का राज्य मुझे दिया है, और उसने मुझे आज्ञा दी, कि यहूदा के यरूशलेम में मेरा एक भवन बनवा। 
Ezra 1:3 उसकी समस्त प्रजा के लोगों में से तुम्हारे मध्य जो कोई हो, उसका परमेश्वर उसके साथ रहे, और वह यहूदा के यरूशलेम को जा कर इस्राएल के परमेश्वर यहोवा का भवन बनाए - जो यरूशलेम में है वही परमेश्वर है। 
Ezra 1:4 और जो कोई किसी स्थान में रह गया हो, जहां वह रहता हो, उस स्थान के मनुष्य चान्दी, सोना, धन और पशु दे कर उसकी सहायता करें और इस से अधिक परमेश्वर के यरूशलेम के भवन के लिये अपनी अपनी इच्छा से भी भेंट चढ़ाएं।
Ezra 1:5 तब यहूदा और बिन्यामीन के जितने पितरों के घरानों के मुख्य पुरूषों और याजकों और लेवियों का मन परमेश्वर ने उभारा था कि जा कर यरूशलेम में यहोवा के भवन को बनाएं, वे सब उठ खड़े हुए; 
Ezra 1:6 और उनके आस-पास सब रहने वालों ने चान्दी के पात्र, सोना, धन, पशु और अनमोल वस्तुएं देकर, उनकी सहायता की; यह उन सब से अधिक था, जो लोगों ने अपनी अपनी इच्छा से दिया। 
Ezra 1:7 फिर यहोवा के भवन के जो पात्र नबूकदनेस्सर ने यरूशलेम से निकाल कर अपने देवता के भवन में रखे थे, 
Ezra 1:8 उन को कुस्रू राजा ने, मिथ्रदात खजांची से निकलवा कर, यहूदियों के शेशबस्सर नाम प्रधान को गिन कर सौंप दिया। 

एक साल में बाइबल: 
  • अय्युब 28-29
  • प्रेरितों 13:1-25