बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, September 9, 2017

सुगन्ध


   मैं जब भी खिले हुए गुलाबों वाले पौधे या किसी फूलों के गुलदस्ते के निकट होता हूँ, तो मेरा मन करता है कि मैं उन फूलों को अपनी नाक के निकट लाकर उसकी सुगन्ध का आनन्द लूँ। फूलों की वह भीनी सुगन्ध मेरे मन को आनन्दित करती है और मेरे अन्दर अच्छी भावनाएं जागृत करती है।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में कुरिन्थुस के मसीही विश्वासियों को लिखी अपनी पत्री में प्रेरित पौलुस ने कहा, क्योंकि हम मसीह के हैं इसलिए परमेश्वर "... अपने ज्ञान का सुगन्‍ध हमारे द्वारा हर जगह फैलाता है" (2 कुरिन्थियों 2:14)। परमेश्वर की सामर्थ्य से हम जयवन्त जीवन जी सकते हैं, अपने स्वार्थ के स्थान पर उस से उसकी प्रेम और दया ले सकते हैं, और उससे मिलने वाले उद्धार की भलाई का प्रचार कर सकते हैं। जब हम ऐसा करते हैं तो हम परमेश्वर के लिए एक मनभावनी सुगन्ध होते हैं।

   पौलुस इसके पश्चात एक दूसरा शब्द चित्र भी प्रस्तुत करता है, मसीही विश्वासियों को "मसीह की पत्रियाँ" कहता है। पत्र समान हमारे मसीही विश्वास का जीवन किसी साधारण स्याही से नहीं लिखा जाता है, परन्तु परमेश्वर के पवित्र आत्मा के द्वारा लिखा जाता है (3:3)। प्रभु यीशु मसीह में स्वेच्छा से लाए गए विश्वास के द्वारा परमेश्वर जब हमें परिवर्तित करता है, तो वह अपना वचन हमारे हृदय में, दूसरों द्वारा पढ़े जाने के लिए लिख देता है।

   बाइबल में दिए गए ये दोनों ही शब्द चित्र हमें प्रोत्साहित करते हैं कि हम प्रभु यीशु मसीह की सुन्दरता को अपने जीवनों द्वारा लोगों को दिखाएं जिससे वे मसीह यीशु की ओर आकर्षित हो सकें। जैसे पौलुस ने इफिसीयों 5:2 में लिखा, मसीह यीशु ही है जिसने हम से "...प्रेम किया; और हमारे लिये अपने आप को सुखदायक सुगन्‍ध के लिये परमेश्वर के आगे भेंट कर के बलिदान कर दिया।" - लॉरेंस दरमानी


हमारे कार्य हमारे प्रचार से अधिक बोलते हैं।

जो बुद्धिमान हो, वही इन बातों को समझेगा; जो प्रवीण हो, वही इन्हें बूझ सकेगा; क्योंकि यहोवा के मार्ग सीधे हैं, और धर्मी उन में चलते रहेंगे, परन्तु अपराधी उन में ठोकर खाकर गिरेंगे। - होशे 14:9

बाइबल पाठ: 2 कुरिन्थियों 2:14-3:3
2 Corinthians 2:14 परन्तु परमेश्वर का धन्यवाद हो, जो मसीह में सदा हम को जय के उत्‍सव में लिये फिरता है, और अपने ज्ञान का सुगन्‍ध हमारे द्वारा हर जगह फैलाता है। 
2 Corinthians 2:15 क्योंकि हम परमेश्वर के निकट उद्धार पाने वालों, और नाश होने वालों, दोनों के लिये मसीह के सुगन्‍ध हैं। 
2 Corinthians 2:16 कितनो के लिये तो मरने के निमित्त मृन्यु की गन्‍ध, और कितनो के लिये जीवन के निमित्त जीवन की सुगन्‍ध, और इन बातों के योग्य कौन है? 
2 Corinthians 2:17 क्योंकि हम उन बहुतों के समान नहीं, जो परमेश्वर के वचन में मिलावट करते हैं; परन्तु मन की सच्चाई से, और परमेश्वर की ओर से परमेश्वर को उपस्थित जानकर मसीह में बोलते हैं।
2 Corinthians 3:1 क्या हम फिर अपनी बड़ाई करने लगे? या हमें कितनों के समान सिफारिश की पत्रियां तुम्हारे पास लानी या तुम से लेनी हैं? 
2 Corinthians 3:2 हमारी पत्री तुम ही हो, जो हमारे हृदयों पर लिखी हुई है, और उसे सब मनुष्य पहिचानते और पढ़ते हैं। 
2 Corinthians 3:3 यह प्रगट है, कि तुम मसीह की पत्री हो, जिस को हम ने सेवकों के समान लिखा; और जो सियाही से नहीं, परन्तु जीवते परमेश्वर के आत्मा से पत्थर की पटियों पर नहीं, परन्तु हृदय की मांस रूपी पटियों पर लिखी है।

एक साल में बाइबल: 
  • नीतिवचन 6-7
  • 2 कुरिन्थियों 2