बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, April 8, 2018

स्थानांतरण


   अफ्रीका के घाना देश में लोग सामान्यतः निधन हो जाने की सूचनाएं दीवारों और विज्ञापन पट्टिकाओं पर लगा देते हैं। किसी प्रिय जन के निधन की या उसके अंतिम संस्कार की सूचना की भाषा भी ध्यान आकर्षित करने वाली होती है, जैसे कि “शीघ्र चले गए”, “जीवन का उत्सव”, “बहुत बड़ा सदमा”, आदि। एक बार ऐसी ही एक सूचना का शीर्षक था, “स्थानांतरित हुए” – जो कब्र से आगे के जीवन के लिए संकेत था।

   जब किसी निकट संबंधी अथवा मित्र का देहांत होता है, हम शोकित होते हैं, जैसे कि परमेश्वर के वचन बाइबल के नए नियम खण्ड में यूहन्ना रचित सुसमाचार में अपने भाई लाजार की मृत्यु को लेकर मार्था और मरियम हुए थे (यूहन्ना 11:17-27)। हमें दिवंगत प्रिय जन की कमी इतनी खलती है कि हमारे हृदय टूटते हैं और हम विलाप करते, रोते हैं, जैसे कि लाज़रस की मृत्यु के समय प्रभु यीशु भी रोए थे (पद 35)।

   परन्तु ऐसे ही दुखी करने वाले अवसर पर प्रभु यीशु ने मृत्योपरांत जीवन के संबंध में यह आनन्दित करने वाला कथन दिया: “...पुनरुत्थान और जीवन मैं ही हूं, जो कोई मुझ पर विश्वास करता है वह यदि मर भी जाए, तौभी जीएगा” (यूहन्ना 11:25)। प्रभु यीशु के इस आश्वासन के आधार पर हम मसीही विश्वासी अपने दिवंगत सह-विश्वासियों को अस्थायी विदा ही कहते हैं। क्योंकि, जैसे पौलुस ने कहा, “...हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे” (1 थिस्सलुनीकियों 4:17)। निःसंदेह, विदा कहना कष्टदायक होता है, परन्तु हम आश्वस्त रह सकते हैं कि जिन्हें हम विदा दे रहे हैं वे प्रभु के सुरक्षित हाथों में हैं।

   स्थानान्तरण आभास देता है कि हम केवल अपना निवास-स्थान बदल रहे हैं। चाहे हमारे लिए पृथ्वी पर जीवन का अन्त है, परन्तु हम अनंतकाल तक बेहतर स्थान और हालात में, वहाँ जहाँ प्रभु यीशु हैं, जीवित रहेंगे; इसीलिए, “इन बातों से एक दूसरे को शान्‍ति दिया करो” (1 थिस्सलुनीकियों 4:18)। - लॉरेंस दर्मानी


प्रभु यीशु के कारण हम सदा के लिए जीवित रह सकते हैं।

इसलिये हम ढाढ़स बान्‍धे रहते हैं, और देह से अलग हो कर प्रभु के साथ रहना और भी उत्तम समझते हैं। - 2 कुरिन्थियों 5:8

बाइबल पाठ: यूहन्ना 11:17-27
John 11:17 सो यीशु को आकर यह मालूम हुआ कि उसे कब्र में रखे चार दिन हो चुके हैं।
John 11:18 बैतनिय्याह यरूशलेम के समीप कोई दो मील की दूरी पर था।
John 11:19 और बहुत से यहूदी मारथा और मरियम के पास उन के भाई के विषय में शान्‍ति देने के लिये आए थे।
John 11:20 सो मारथा यीशु के आने का समाचार सुनकर उस से भेंट करने को गई, परन्तु मरियम घर में बैठी रही।
John 11:21 मारथा ने यीशु से कहा, हे प्रभु, यदि तू यहां होता, तो मेरा भाई कदापि न मरता।
John 11:22 और अब भी मैं जानती हूं, कि जो कुछ तू परमेश्वर से मांगेगा, परमेश्वर तुझे देगा।
John 11:23 यीशु ने उस से कहा, तेरा भाई जी उठेगा।
John 11:24 मारथा ने उस से कहा, मैं जानती हूं, कि अन्‍तिम दिन में पुनरुत्थान के समय वह जी उठेगा।
John 11:25 यीशु ने उस से कहा, पुनरुत्थान और जीवन मैं ही हूं, जो कोई मुझ पर विश्वास करता है वह यदि मर भी जाए, तौभी जीएगा।
John 11:26 और जो कोई जीवता है, और मुझ पर विश्वास करता है, वह अनन्तकाल तक न मरेगा, क्या तू इस बात पर विश्वास करती है?
John 11:27 उसने उस से कहा, हां हे प्रभु, मैं विश्वास कर चुकी हूं, कि परमेश्वर का पुत्र मसीह जो जगत में आनेवाला था, वह तू ही है।


एक साल में बाइबल: 
  • 1 शमूएल 10-12
  • लूका 9:37-62