बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, September 13, 2019

रुके


      तीन संबंधित फिल्मों, The Lord of the Rings की श्रंखला के विषय हो रही चर्चा के दौरान एक किशोर ने कहा कि उसे कहानियाँ फिल्मों की बजाए पुस्तकों में अधिक पसन्द हैं। जब उससे पूछा गया कि ऐसा क्यों, तो उस जवान ने उत्तर दिया, “क्योंकि पुस्तक में मैं जितनी देर चाहूँ उतनी देर तक एक स्थान पर रुका रह सकता हूँ। किसी भी पुस्तक में एक स्थान पर रुके रहने, विशेषकर परमेश्वर के वचन बाइबल में रुके रहने और उसकी बातों में रम जाने के अपने ही लाभ हैं।

      बाइबल में इब्रानियों 11 अध्याय को “विश्वास का अध्याय” कहा जाता है, और इसमें उन्नीस लोगों का नाम आया है। उनमें से प्रत्येक को कठिनाइयों और संदेह के मार्ग से होकर निकालना पड़ा, परन्तु उन्होंने परमेश्वर की आज्ञाकारिता में बने रहने को चुना। उनके लिए इब्रानियों का लेखक कहता है, “ये सब विश्वास ही की दशा में मरे; और उन्होंने प्रतिज्ञा की हुई वस्तुएं नहीं पाईं; पर उन्हें दूर से देखकर आनन्‍दित हुए और मान लिया, कि हम पृथ्वी पर परदेशी और बाहरी हैं” (पद 13)।

      हमारे लिए बहुत सहज होता है बाइबल को शीघ्रता से पढ़ जाना बिना उसके लेख में वर्णित लोगों और घटनाओं पर मनन किए, या उनके बारे में कोई विचार किए। हमने जो अपने दैनिक कार्यों के लिए समय-सारिणी बनाई होती है, वह हमें परमेश्वर के वचन की गहराइयों  में जाने और हमारे जीवनों के लिए उसकी योजना के बारे में जानने नहीं देती है। परन्तु जब हम कुछ देर परमेश्वर के वचन में रुके रहते हैं, तो हम भी अपने आप को अपने ही समान लोगों के जीवनों की घटनाओं में होकर निकलता हुआ पाते हैं, जिन्होंने अपने जीवनों के लिए परमेश्वर की विश्वासयोग्यता पर भरोसा किया।

      जब हम परमेश्वर के वचन को खोलते हैं, तो इस बात का एहसास रखना हमारे लिए अच्छा है कि हम जितनी देर चाहें, उतनी देर तक उसमें रुके रह सकते हैं। - डेविड मैक्कैस्लैंड

परमेश्वर के वचन में रुके रहें, और आपको विश्वास की कहानियाँ मिलेंगी।

हर एक पवित्रशास्‍त्र परमेश्वर की प्रेरणा से रचा गया है और उपदेश, और समझाने, और सुधारने, और धर्म की शिक्षा के लिये लाभदायक है। ताकि परमेश्वर का जन सिद्ध बने, और हर एक भले काम के लिये तत्‍पर हो जाए। - 2 तिमुथियुस 3:16-17

बाइबल पाठ: इब्रानियों 11:8-13
Hebrews 11:8 विश्वास ही से इब्राहीम जब बुलाया गया तो आज्ञा मानकर ऐसी जगह निकल गया जिसे मीरास में लेने वाला था, और यह न जानता था, कि मैं किधर जाता हूं; तौभी निकल गया।
Hebrews 11:9 विश्वास ही से उसने प्रतिज्ञा किए हुए देश में जैसे पराए देश में परदेशी रह कर इसहाक और याकूब समेत जो उसके साथ उसी प्रतिज्ञा के वारिस थे, तम्बूओं में वास किया।
Hebrews 11:10 क्योंकि वह उस स्थिर नेव वाले नगर की बाट जोहता था, जिस का रचने वाला और बनाने वाला परमेश्वर है।
Hebrews 11:11 विश्वास से सारा ने आप बूढ़ी होने पर भी गर्भ धारण करने की सामर्थ पाई; क्योंकि उसने प्रतिज्ञा करने वाले को सच्चा जाना था।
Hebrews 11:12 इस कारण एक ही जन से जो मरा हुआ सा था, आकाश के तारों और समुद्र के तीर के बालू के समान, अनगिनित वंश उत्पन्न हुआ।
Hebrews 11:13 ये सब विश्वास ही की दशा में मरे; और उन्होंने प्रतिज्ञा की हुई वस्तुएं नहीं पाईं; पर उन्हें दूर से देखकर आनन्‍दित हुए और मान लिया, कि हम पृथ्वी पर परदेशी और बाहरी हैं।

एक साल में बाइबल: 
  • नीतिवचन 16-18
  • 2 कुरिन्थियों 6