बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, November 28, 2019

धन्यवाद



      परमेश्वर का वचन बाइबल हमें बताती है कि कई हज़ार वर्ष पहले परमेश्वर ने मूसा के माध्यम से अपने लोगों, इस्राएल को अपनी विधियां, नियम और पर्व दिए। उनमें से फसल से संबंधित पर्व भी थे – कटनी का पर्व और बटोरने का पर्व, जिनके विषय परमेश्वर ने कहा, “और जब तेरी बोई हुई खेती की पहिली उपज तैयार हो, तब कटनी का पर्ब्ब मानना। और वर्ष के अन्त में जब तू परिश्रम के फल बटोर के ढेर लगाए, तब बटोरन का पर्ब्ब मानना” (निर्गमन 23:16)।

      आज सारे संसार में इस प्रकार का पर्व कभी-न-कभी मनाया जाता है, धरती से होने वाली उपज के उपलक्ष्य में। अफ्रीका के घाना देश में लोग फसल की कटनी के समय यैम का पर्व मनाते हैं; ब्राजील में Dia de Acao de Gracas फसल के लिए धन्यवादी होने का समय है; चीन में पतझड़ के समय मून पर्व मनाया जाता है; और अमेरिका तथा कैनाडा में थैंक्सगिविंग (Thanksgiving) का पर्व मनाया जाता है।

      फसल की कटनी के पर्व के उद्देश्य को समझने के लिए हम जल प्रलय के तुरंत बाद परमेश्वर द्वारा नूह से कही गई बात पर चलते हैं। परमेश्वर ने नूह और उसके परिवार को – और उसमें होकर आज हमें – हमारे फलते-फूलते अस्तित्व के लिए उसके प्रावधानों का स्मरण करवाया। परमेश्वर ने कहा कि पृथ्वी पर ऋतुएँ, दिन और रात, तथा बोने और काटने के समय सदा होते रहेंगे (उत्पत्ति 8:22)। उस फसल के लिए जिससे हम भरण-पोषण पाते हैं, हमारा धन्यवाद और कृतज्ञता का एकमात्र पात्र केवल परमेश्वर ही है।

      आप चाहे जहां भी रहते हों, या अपने स्थान पर धरती से होने वाली उपज को चाहे जैसे भी मनाते हों, आज कुछ समय निकाल कर परमेश्वर का धन्यवाद करें – यदि उसकी कृपा न हो तो हमारे पास कोई उपज नहीं होगी, और न ही उसके प्रावधानों के लिए आनंदित होने के अवसर। परमेश्वर के धन्यवादी रहें। - डेव ब्रैनन

कृतज्ञता एक धन्यवादी हृदय द्वारा किया गया स्मरण है।

परन्तु सचमुच मसीह मुर्दों में से जी उठा है, और जो सो गए हैं, उन में पहिला फल हुआ। - 1 कुरिन्थियों 15:20

बाइबल पाठ: उत्पत्ति 8:15-9:3
Genesis 8:15 तब परमेश्वर ने, नूह से कहा,
Genesis 8:16 तू अपने पुत्रों, पत्नी, और बहुओं समेत जहाज में से निकल आ।
Genesis 8:17 क्या पक्षी, क्या पशु, क्या सब भांति के रेंगने वाले जन्तु जो पृथ्वी पर रेंगते हैं, जितने शरीरधारी जीवजन्तु तेरे संग हैं, उस सब को अपने साथ निकाल ले आ, कि पृथ्वी पर उन से बहुत बच्चे उत्पन्न हों; और वे फूलें-फलें, और पृथ्वी पर फैल जाएं।
Genesis 8:18 तब नूह, और उसके पुत्र, और पत्नी, और बहुएं, निकल आईं:
Genesis 8:19 और सब चौपाए, रेंगने वाले जन्तु, और पक्षी, और जितने जीवजन्तु पृथ्वी पर चलते फिरते हैं, सो सब जाति जाति कर के जहाज में से निकल आए।
Genesis 8:20 तब नूह ने यहोवा के लिये एक वेदी बनाई; और सब शुद्ध पशुओं, और सब शुद्ध पक्षियों में से, कुछ कुछ ले कर वेदी पर होमबलि चढ़ाया।
Genesis 8:21 इस पर यहोवा ने सुखदायक सुगन्ध पाकर सोचा, कि मनुष्य के कारण मैं फिर कभी भूमि को शाप न दूंगा, यद्यपि मनुष्य के मन में बचपन से जो कुछ उत्पन्न होता है सो बुरा ही होता है; तौभी जैसा मैं ने सब जीवों को अब मारा है, वैसा उन को फिर कभी न मारूंगा।
Genesis 8:22 अब से जब तक पृथ्वी बनी रहेगी, तब तक बोने और काटने के समय, ठण्ड और तपन, धूपकाल और शीतकाल, दिन और रात, निरन्तर होते चले जाएंगे।
Genesis 9:1 फिर परमेश्वर ने नूह और उसके पुत्रों को आशीष दी और उन से कहा कि फूलो-फलो, और बढ़ो, और पृथ्वी में भर जाओ।
Genesis 9:2 और तुम्हारा डर और भय पृथ्वी के सब पशुओं, और आकाश के सब पक्षियों, और भूमि पर के सब रेंगने वाले जन्तुओं, और समुद्र की सब मछलियों पर बना रहेगा: वे सब तुम्हारे वश में कर दिए जाते हैं।
Genesis 9:3 सब चलने वाले जन्तु तुम्हारा आहार होंगे; जैसा तुम को हरे हरे छोटे पेड़ दिए थे, वैसा ही अब सब कुछ देता हूं।

एक साल में बाइबल: 
  • यहेजकेल 33-34
  • 1 पतरस 5