बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, April 9, 2020

प्रेम



     एक दिन, हमारी फिज़िक्स की क्लास के दौरान  हमारे शिक्षक ने हम सभी से प्रश्न पूछा – बिना पीछे मुड़कर देखे बताएं कि क्लास के पीछे की दीवार का रंग क्या है? हम में से कोई भी उत्तर नहीं देने पाया, क्योंकि हमने कभी ध्यान ही नहीं दिया था। कभी-कभी हम जीवन की अनेकों बातों को अनदेखा कर देते हैं, क्योंकि या तो हम हर बात को याद नहीं रखने पाते हैं, या हम उसे जो हमेशा वहीं होता है, ध्यान पूर्वक देखने नहीं पाते हैं।

     मेरे साथ भी यही हुआ जब मैंने परमेश्वर के वचन बाइबल में से प्रभु यीशु द्वारा अपने शिष्यों के पैर धोने के वृतांत को एक बार फिर से पढ़ा। यह एक जाना-पहचाना वृतांत है, जिसे ईस्टर से पूर्व  के सप्ताह में अकसर पढ़ा जाता है। यह बात कि हमारा उद्धारकर्ता प्रभु और राजा अपने शिष्यों के पैर धोने के लिए झुकता है अपने आप में अद्भुत और अनुपम है। प्रभु यीशु के दिनों में, यहूदी सेवकों को भी यह करने को नहीं कहा जाता था क्योंकि इसे उनकी मर्यादा से भी तुच्छ समझा जाता था। लेकिन इससे पहले जो बात मैंने ध्यान नहीं की थी, वह थी कि प्रभु यीशु ने, जो मनुष्य और परमेश्वर दोनों थे, यहूदा इस्करियोती के भी पैर धोए, यह जानते हुए भी कि कुछ ही समय में यहूदा उन्हें मारे जाने के लिए धोखा देकर पकड़वा देगा। परन्तु प्रभु यीशु ने फिर भी अपने आप को नम्र किया और यहूदा के पैर भी धोए।

     प्रभु का प्रेम उसके प्रति भी था जो उन्हें धोखा देने वाला था। जब हम प्रभु के जीवन के इस सपताह की घटनाओं पर विचार करते हैं, और प्रभु के मृतकों में से पुनरुत्थान के उत्सव को मनाने की तैयारी करते हैं, हम भी परमेश्वर से वैसी ही नम्रता का स्वभाव पाने के लिए प्रार्थना करें, जिससे हम प्रभु यीशु के प्रेम को औरों तक पहुंचा सकें, अपने विरोधियों और शत्रुओं को भी। - एमी बाउचर पाई


प्रेम में होकर ही प्रभु यीशु ने अपने आप को दीन किया और शिष्यों के पैर धोए।

मेरी आज्ञा यह है, कि जैसा मैं ने तुम से प्रेम रखा, वैसा ही तुम भी एक दूसरे से प्रेम रखो। इस से बड़ा प्रेम किसी का नहीं, कि कोई अपने मित्रों के लिये अपना प्राण दे। - यूहन्ना 15:12-13

बाइबल पाठ: यूहन्ना 13:1-17
यूहन्ना 13:1 फसह के पर्व से पहिले जब यीशु ने जान लिया, कि मेरी वह घड़ी आ पहुंची है कि जगत छोड़कर पिता के पास जाऊं, तो अपने लोगों से, जो जगत में थे, जैसा प्रेम वह रखता था, अन्‍त तक वैसा ही प्रेम रखता रहा।
यूहन्ना 13:2 और जब शैतान शमौन के पुत्र यहूदा इस्करियोती के मन में यह डाल चुका था, कि उसे पकड़वाए, तो भोजन के समय।
यूहन्ना 13:3 यीशु ने यह जानकर कि पिता ने सब कुछ मेरे हाथ में कर दिया है और मैं परमेश्वर के पास से आया हूं, और परमेश्वर के पास जाता हूं।
यूहन्ना 13:4 भोजन पर से उठ कर अपने कपड़े उतार दिए, और अंगोछा ले कर अपनी कमर बान्‍धी।
यूहन्ना 13:5 तब बरतन में पानी भरकर चेलों के पांव धोने और जिस अंगोछे से उस की कमर बन्‍धी थी उसी से पोंछने लगा।
यूहन्ना 13:6 जब वह शमौन पतरस के पास आया: तब उसने उस से कहा, हे प्रभु,
यूहन्ना 13:7 क्या तू मेरे पांव धोता है? यीशु ने उसको उत्तर दिया, कि जो मैं करता हूं, तू अब नहीं जानता, परन्तु इस के बाद समझेगा।
यूहन्ना 13:8 पतरस ने उस से कहा, तू मेरे पांव कभी न धोने पाएगा: यह सुनकर यीशु ने उस से कहा, यदि मैं तुझे न धोऊं, तो मेरे साथ तेरा कुछ भी साझा नहीं।
यूहन्ना 13:9 शमौन पतरस ने उस से कहा, हे प्रभु, तो मेरे पांव ही नहीं, वरन हाथ और सिर भी धो दे।
यूहन्ना 13:10 यीशु ने उस से कहा, जो नहा चुका है, उसे पांव के सिवा और कुछ धोने का प्रयोजन नहीं; परन्तु वह बिलकुल शुद्ध है: और तुम शुद्ध हो; परन्तु सब के सब नहीं।
यूहन्ना 13:11 वह तो अपने पकड़वाने वाले को जानता था इसी लिये उसने कहा, तुम सब के सब शुद्ध नहीं।
यूहन्ना 13:12 जब वह उन के पांव धो चुका और अपने कपड़े पहिनकर फिर बैठ गया तो उन से कहने लगा, क्या तुम समझे कि मैं ने तुम्हारे साथ क्या किया?
यूहन्ना 13:13 तुम मुझे गुरू, और प्रभु, कहते हो, और भला कहते हो, क्योंकि मैं वही हूं।
यूहन्ना 13:14 यदि मैं ने प्रभु और गुरू हो कर तुम्हारे पांव धोए; तो तुम्हें भी एक दुसरे के पांव धोना चाहिए।
यूहन्ना 13:15 क्योंकि मैं ने तुम्हें नमूना दिखा दिया है, कि जैसा मैं ने तुम्हारे साथ किया है, तुम भी वैसा ही किया करो।
यूहन्ना 13:16 मैं तुम से सच सच कहता हूं, दास अपने स्‍वामी से बड़ा नहीं; और न भेजा हुआ अपने भेजने वाले से।
यूहन्ना 13:17 तुम तो ये बातें जानते हो, और यदि उन पर चलो, तो धन्य हो।

एक साल में बाइबल: 
  • 1 शमुएल 13-14
  • लूका 10:1-24