बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, November 5, 2014

व्यावाहरिक एवं कारगर विश्वास


   इंगलैंड में 19वीं शताब्दी में मज़दूरों के लिए कार्य करने और रहने की परिस्थितियाँ बहुत खराब थीं। पुरुष, महिलाएं और बच्चे सारा दिन खतरनाक कारखानों में श्रम करते थे और शाम को गन्दी झुग्गी-झोंपड़ियों में आकर रात बिताते थे। कारखानों के मालिक अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य और भलाई की कम ही चिन्ता किया करते थे। लेकिन उस काल में भी कैडबरी चॉकलेट कंपनी के मालिक अलग ही प्रवृति के थे।

   कैडबरी कंपनी के मालिक व्यवसाय की दृष्टि से प्रतिभावान और मसीही विश्वास की दृष्टि से क्वेकर्स थे, जो परमेश्वर के वचन बाइबल की आज्ञाकारिता में रहने के लिए जाने जाते थे। उन्होंने अपनी कंपनी में कार्य करने वाले 200 कर्मचारियों की कार्य परिस्थिति सुधारने के प्रयास किए। उन्होंने उपलब्ध जानकारी के अनुसार सबसे आधुनिक कारखाना बनवाया, जहाँ कपड़े बदलने के लिए गर्म कमरे, रसोई घर और आराम तथा मनोरंजन के लिए स्थल भी बनावाए। उन कर्मचारियों की आत्मिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए प्रतिदिन उनके कार्य समय का आरंभ बाइबल अध्ययन से होता था। बाइबल हमें सिखाती है कि परमेश्वर ने मेहनत करने वालों के लिए सदा उचित पारिश्रमिक और कार्य-स्थितियों की आज्ञा दी है ना कि उन्हें दबाने या उनसे अनुचित व्यवहार की। प्रेरित पौलुस ने कुलुस्से के मसीही विश्वासियों को लिखी अपनी पत्री में लिखा: "हे स्‍वामियों, अपने अपने दासों के साथ न्याय और ठीक ठीक व्यवहार करो, यह समझकर कि स्वर्ग में तुम्हारा भी एक स्‍वामी है" (कुलुस्सियों 4:1)। कैडबरी कंपनी के मालिकों ने भी यही किया, और ना केवल अपने कर्मचारियों की शारीरिक आवश्यकताओं का ध्यान रखा, वरन साथ ही आत्मिक आवश्यकताओं को भी पूरा किया। क्योंकि उन्होंने परमेश्वर के वचन को आदर दिया, परमेश्वर ने उनको भी आदर का पात्र बनाया और आज भी कैडबरी सारे संसार भर में चॉकलेट और उससे संबंधित उत्पादों के लिए सबसे अधिक जाना-माना और विश्वसनीय नाम है।

   आज चाहे हम किसी कंपनी के मालिक ना भी हों, लेकिन लोगों के साथ हमारा नियमित रूप से संपर्क और संवाद होता रहता है, और मसीही विश्वासी होने के नाते यह हमारे लिए अनिवार्य है कि सभी के साथ हमारा व्यवहार नैतिक और हमारे मसीही विश्वास के अनुरूप हो। यह सिद्धांत ना केवल लोगों के साथ व्यवहार में, वरन परिवार में और कार्य-स्थल पर भी लागू होता है। दूसरों के लिए प्रार्थना करने, उन्हें प्रोत्साहित करने और उनकी शारीरिक तथा आत्मिक आवश्यकतओं की पूर्ति में योगदान के द्वारा हम अपने मसीही विश्वास को उनके सामने व्यावाहरिक एवं कारगर रीति से प्रस्तुत कर सकते हैं। - डेनिस फिशर


परमेश्वर हमें अपनी आशीषों से परिपूर्ण करके हमें उन्हें दूसरों तक पहुँचाने का स्त्रोत बनाता है।

इसलिये जहां तक अवसर मिले हम सब के साथ भलाई करें; विशेष कर के विश्वासी भाइयों के साथ। - गलतियों 6:10

बाइबल पाठ: कुलुस्सियों 3:17 - 4:1
Colossians 3:17 और वचन से या काम से जो कुछ भी करो सब प्रभु यीशु के नाम से करो, और उसके द्वारा परमेश्वर पिता का धन्यवाद करो।
Colossians 3:18 हे पत्‍नियों, जैसा प्रभु में उचित है, वैसा ही अपने अपने पति के आधीन रहो। 
Colossians 3:19 हे पतियों, अपनी अपनी पत्‍नी से प्रेम रखो, और उन से कठोरता न करो। 
Colossians 3:20 हे बालको, सब बातों में अपने अपने माता-पिता की आज्ञा का पालन करो, क्योंकि प्रभु इस से प्रसन्न होता है। 
Colossians 3:21 हे बच्‍चे वालो, अपने बालकों को तंग न करो, न हो कि उन का साहस टूट जाए। 
Colossians 3:22 हे सेवकों, जो शरीर के अनुसार तुम्हारे स्‍वामी हैं, सब बातों में उन की आज्ञा का पालन करो, मनुष्यों को प्रसन्न करने वालों की नाईं दिखाने के लिये नहीं, परन्तु मन की सीधाई और परमेश्वर के भय से। 
Colossians 3:23 और जो कुछ तुम करते हो, तन मन से करो, यह समझ कर कि मनुष्यों के लिये नहीं परन्तु प्रभु के लिये करते हो। 
Colossians 3:24 क्योंकि तुम जानते हो कि तुम्हें इस के बदले प्रभु से मीरास मिलेगी: तुम प्रभु मसीह की सेवा करते हो। 
Colossians 3:25 क्योंकि जो बुरा करता है, वह अपनी बुराई का फल पाएगा; वहां किसी का पक्षपात नहीं। 
Colossians 4:1 हे स्‍वामियों, अपने अपने दासों के साथ न्याय और ठीक ठीक व्यवहार करो, यह समझकर कि स्वर्ग में तुम्हारा भी एक स्‍वामी है।

एक साल में बाइबल: 
  • यूहन्ना 11-13