बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, April 2, 2016

मित्र


   इलैक्ट्रोनिक सामाजिक संपर्क माध्यमों के व्यापक उपयोग का एक प्रतिकूल परीणाम है कि हम अपने आप को व्यक्तिगत रीति से अधिक अकेला पाते हैं। इंटरनैट पर एक लेख में लेखक ने पाठकों को सचेत किया है कि "जो लोगों द्वारा अधिकाई से अथवा पूर्णतया जीवन इन इलैक्ट्रोनिक सामाजिक संपर्क माध्यमों के साथ बिताने का विरोध करते हैं वे ऐसा इस दावे के आधार पर करते हैं कि इंटरनैट के अप्रत्यक्ष मित्र वास्तविक भौतिक संसार के प्रत्यक्ष मित्रों का स्थान नहीं ले सकते; और जो लोग उन अप्रत्यक्ष मित्रों को वास्तविक प्रत्यक्ष मित्रों से अधिक महत्व देते हैं वे और भी अधिक अकेले और खिन्न हो जाते हैं।"

   तकनीकी की बात छोड़ भी दें, तो भी हम सभी अकेलेपन और मायूसी के समयों से होकर निकलते हैं, हमें लगता है कि क्या कोई ऐसा है भी जो हमारे बारे में जानता है, हमें समझता है, हमारे बोझ की चिन्ता करता है, हमारे संघर्षों से अवगत है? लेकिन हम मसीही विश्वासियों के पास ऐसी परिस्थितियों के लिए हमारे प्रभु परमेश्वर से वह आश्वासन है जो थके हुए हृदयों को तरोताज़ा कर देता है। हमारे उद्धारकर्ता प्रभु परमेश्वर के अटल वचनों का आश्वासन, जैसा दाऊद ने अपने भजन में व्यक्त किया है: "चाहे मैं घोर अन्धकार से भरी हुई तराई में हो कर चलूं, तौभी हानि से न डरूंगा, क्योंकि तू मेरे साथ रहता है; तेरे सोंटे और तेरी लाठी से मुझे शान्ति मिलती है" (भजन 23:4)।

   चाहे हम अपने चुनावों के कारण अकेले पड़ गए हों, या हमारे आस-पास के समाज की सांसकृतिक मान्यताओं के प्रति हमारी असहमति के कारण, या फिर किसी प्रीय जन को खो देने के कारण - हमें अकेलेपन का एहसास करवाने वाली परिस्थिति चाहे कोई भी हो, किंतु प्रत्येक मसीही विश्वासी अपने प्रभु परमेश्वर यीशु मसीह की लगातार साथ बनी रहने वाली उपस्थिति से आश्वस्त रह सकता है कि वह कभी अकेला या बेसहारा नहीं है; उसके साथ सदा ही सृष्टिकर्ता और उस सृष्टीकर्ता की सामर्थ है।

   हमारे हर दुःख में साथ देने, हमारे हर एक बोझ को उठाने के लिए यीशु जैसा प्यारा मित्र और कोई नहीं है। - बिल क्राउडर


जो प्रभु यीशु को मित्र के रुप में जानते हैं वे कभी अकेले नहीं होते।

इस से बड़ा प्रेम किसी का नहीं, कि कोई अपने मित्रों के लिये अपना प्राण दे। जो कुछ मैं तुम्हें आज्ञा देता हूं, यदि उसे करो, तो तुम मेरे मित्र हो। अब से मैं तुम्हें दास न कहूंगा, क्योंकि दास नहीं जानता, कि उसका स्‍वामी क्या करता है: परन्तु मैं ने तुम्हें मित्र कहा है, क्योंकि मैं ने जो बातें अपने पिता से सुनीं, वे सब तुम्हें बता दीं। - यूहन्ना 15:13-15

बाइबल पाठ: भजन 23:1-6
Psalms 23:1 यहोवा मेरा चरवाहा है, मुझे कुछ घटी न होगी। 
Psalms 23:2 वह मुझे हरी हरी चराइयों में बैठाता है; वह मुझे सुखदाई जल के झरने के पास ले चलता है; 
Psalms 23:3 वह मेरे जी में जी ले आता है। धर्म के मार्गो में वह अपने नाम के निमित्त मेरी अगुवाई करता है। 
Psalms 23:4 चाहे मैं घोर अन्धकार से भरी हुई तराई में हो कर चलूं, तौभी हानि से न डरूंगा, क्योंकि तू मेरे साथ रहता है; तेरे सोंटे और तेरी लाठी से मुझे शान्ति मिलती है। 
Psalms 23:5 तू मेरे सताने वालों के साम्हने मेरे लिये मेज बिछाता है; तू ने मेरे सिर पर तेल मला है, मेरा कटोरा उमण्ड रहा है। 
Psalms 23:6 निश्चय भलाई और करूणा जीवन भर मेरे साथ साथ बनी रहेंगी; और मैं यहोवा के धाम में सर्वदा वास करूंगा।

एक साल में बाइबल: 
  • न्यायियों 16-18
  • लूका 7:1-30