बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, September 21, 2016

दावत


   कुछ समय पहले मैंने मध्य-कालीन समय पर आयोजित एक सम्मेलन में भाग लिया। उस सम्मेलन के एक हिस्से में हमने उस समय की विधियों से कई प्रकार के ऐसे भोजन बनाए जो उन दिनों में प्रचलित रहे होंगे। हमने दालचीनी और फलों को कूट कर जैम बनाने के लिए इमामदस्ते का प्रयोग किया; सन्तरे के छिलके को शहद और अदरक के साथ पका कर मीठा नाशता बनाया; बादाम को पानी और अन्य वस्तुओं के साथ कुचलकर बादाम का दूध बनाया; और चावल के साथ खाने के लिए एक पूरे मुर्गे को मुख्य भोजन के लिए पकाया। इन सभी भोजनों को तैयार कर के हम ने उन के स्वाद के अनुभव का आनन्द भी लिया।

   जब बात हमारे प्राणों के लिए आत्मिक भोजन की आती है तो, परमेश्वर ने अपने वचन बाइबल में हमें विविध प्रकार के वयंजनों का संकलन दिया है, जिन्हें हम समय तथा आवश्यकतानुसार प्रयोग में लाकर उनका लाभ पा सकें। ऐसा करने से हम ना केवल तृप्त एवं संतुष्ट होंगे, वरन विभिन्न परिस्थितियों का सामना करने के लिए आत्मिक बल-बुद्धि-सामर्थ भी प्राप्त करेंगे। बाइबल के विभिन्न अंश, जैसे इतिहास की पुस्तकें, भजन और काव्य, बुद्धिमता की शिक्षाएं, भविष्यवाणियाँ इत्यादि हमें कमज़ोरी के समयों में बल देती हैं; हमारी आवश्यकतानुसार हमें बुद्धिमता और प्रोत्साहन देती हैं (भजन 19:7-14; 119:97-104; इब्रानियों 5:12)। जैसा कि भजनकार कहता है: "तेरे वचन मुझ को कैसे मीठे लगते हैं, वे मेरे मुंह में मधु से भी मीठे हैं!" (भजन 119:103)

   परमेश्वर ने हम सब के लिए अपनी दावत तैयार करके सजाई हुई है; समस्त मानव जाति के लिए उसका खुला निमंत्रण है कि सब उसके पास आएं और उसकी दावत में शामिल हों, उसके व्यंजनों का आनन्द लें। तो अब देर किस बात की है? - डेनिस फिशर


बाइबल जीवन की वह रोटी है जो कभी बासी नहीं होती।

क्योंकि बुद्धि यहोवा ही देता है; ज्ञान और समझ की बातें उसी के मुंह से निकलती हैं। वह सीधे लोगों के लिये खरी बुद्धि रख छोड़ता है; जो खराई से चलते हैं, उनके लिये वह ढाल ठहरता है। वह न्याय के पथों की देख भाल करता, और अपने भक्तों के मार्ग की रक्षा करता है। - नीतिवचन 2:6-8

बाइबल पाठ: भजन 19:7-14
Psalms 19:7 यहोवा की व्यवस्था खरी है, वह प्राण को बहाल कर देती है; यहोवा के नियम विश्वासयोग्य हैं, साधारण लोगों को बुद्धिमान बना देते हैं; 
Psalms 19:8 यहोवा के उपदेश सिद्ध हैं, हृदय को आनन्दित कर देते हैं; यहोवा की आज्ञा निर्मल है, वह आंखों में ज्योति ले आती है; 
Psalms 19:9 यहोवा का भय पवित्र है, वह अनन्तकाल तक स्थिर रहता है; यहोवा के नियम सत्य और पूरी रीति से धर्ममय हैं। 
Psalms 19:10 वे तो सोने से और बहुत कुन्दन से भी बढ़कर मनोहर हैं; वे मधु से और टपकने वाले छत्ते से भी बढ़कर मधुर हैं। 
Psalms 19:11 और उन्हीं से तेरा दास चिताया जाता है; उनके पालन करने से बड़ा ही प्रतिफल मिलता है। 
Psalms 19:12 अपनी भूलचूक को कौन समझ सकता है? मेरे गुप्त पापों से तू मुझे पवित्र कर। 
Psalms 19:13 तू अपने दास को ढिठाई के पापों से भी बचाए रख; वह मुझ पर प्रभुता करने न पाएं! तब मैं सिद्ध हो जाऊंगा, और बड़े अपराधों से बचा रहूंगा।
Psalms 19:14 मेरे मुंह के वचन और मेरे हृदय का ध्यान तेरे सम्मुख ग्रहण योग्य हों, हे यहोवा परमेश्वर, मेरी चट्टान और मेरे उद्धार करने वाले!

एक साल में बाइबल: 
  • सभोपदेशक 7-9
  • 2 कुरिन्थियों 13