बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, August 26, 2018

आदर



      अच्छे से प्रचार किए जा रहे अपने भाषण में एक राजनीतिज्ञ तथा सम्मानित नेता ने अपने राष्ट्र के ध्यान को अपनी ओर खींचा, यह कहने के द्वारा कि उसके देश के अधिकांश ‘आदरणीय’ सांसद बिलकुल भी आदरणीय नहीं हैं। उनके जीवनों में भ्रष्टाचार, अहंकारी आचरण, छिछोरी भाषा के प्रयोग, और अन्य बुराईयों का हवाल देते हुए उस नेता ने ऐसे सांसदों की निन्दा की और उनसे सुधरने का आग्रह किया। अपेक्षानुसार, उसकी ये टिप्पणियाँ उन सांसदों को पसन्द नहीं आईं और उन्होंने उसके विरुद्ध जवाबी आलोचना की।

      चाहे हम हम नेतृत्व के पदों पर आसीन सामाजिक अधिकारी न भी हों, परन्तु हम मसीह यीशु के अनुयाईयों को परमेश्वर के वचन बाइबल में “तुम एक चुना हुआ वंश, और राज-पदधारी याजकों का समाज, और पवित्र लोग, और (परमेश्वर की ) निज प्रजा हो” (1 पतरस 2:9) कहा गया है। इसलिए हमारा प्रभु हमें ऐसे जीवन जीने के लिए बुलाता है जिससे उसे आदर मिलता है।

      प्रभु के शिष्य पतरस ने ऐसा करने के लिए व्यावहारिक सुझाव दिया। उसने कहा, “उन सांसारिक अभिलाषाओं से जो आत्मा से युद्ध करती हैं, बचे रहो” (पद 11)। यद्यपि उसने आदरणीय शब्द का प्रयोग तो नहीं किया, किन्तु वह हमें मसीह के योग्य आचरण का जीवन व्यतीत करने के लिए कह रहा था।

      जैसे के प्रेरित पौलुस ने फिलिप्प्यों को लिखी अपनी पत्री में कहा, “निदान, हे भाइयों, जो जो बातें सत्य हैं, और जो जो बातें आदरणीय हैं, और जो जो बातें उचित हैं, और जो जो बातें पवित्र हैं, और जो जो बातें सुहावनी हैं, और जो जो बातें मनभावनी हैं, निदान, जो जो सदगुण और प्रशंसा की बातें हैं, उन्‍हीं पर ध्यान लगाया करो” (फिलिप्पियों 4:8)। वास्तव में ये ही वे गुण हैं जिनसे हमारे प्रभु को हमारे जीवनों के द्वारा आदर मिलता है। - लॉरेंस दरमानी


हम परमेश्वर को आदर देते हैं जब हम उसे पिता कहकर संबोधित करते हैं,
 और उसकी सन्तान के समान व्यवहार करते हैं।

और इस संसार के सदृश न बनो; परन्तु तुम्हारी बुद्धि के नये हो जाने से तुम्हारा चाल-चलन भी बदलता जाए, जिस से तुम परमेश्वर की भली, और भावती, और सिद्ध इच्छा अनुभव से मालूम करते रहो। - रोमियों 12:2

बाइबल पाठ: 1 पतरस 2:9-12
1 Peter 2:9 पर तुम एक चुना हुआ वंश, और राज-पदधारी याजकों का समाज, और पवित्र लोग, और (परमेश्वर की) निज प्रजा हो, इसलिये कि जिसने तुम्हें अन्धकार में से अपनी अद्भुत ज्योति में बुलाया है, उसके गुण प्रगट करो।
1 Peter 2:10 तुम पहिले तो कुछ भी नहीं थे, पर अब परमेश्वर ही प्रजा हो: तुम पर दया नहीं हुई थी पर अब तुम पर दया हुई है।
1 Peter 2:11 हे प्रियों मैं तुम से बिनती करता हूं, कि तुम अपने आप को परदेशी और यात्री जान कर उन सांसारिक अभिलाषाओं से जो आत्मा से युद्ध करती हैं, बचे रहो।
1 Peter 2:12 अन्यजातियों में तुम्हारा चालचलन भला हो; इसलिये कि जिन जिन बातों में वे तुम्हें कुकर्मी जान कर बदनाम करते हैं, वे तुम्हारे भले कामों को देख कर; उन्‍हीं के कारण कृपा दृष्टि के दिन परमेश्वर की महिमा करें।


एक साल में बाइबल: 
  • भजन 119:89-176
  • 1कुरिन्थियों 8