बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, December 13, 2018

समाचार



      इंटरनैट, टेलिविज़न, रेडियो और मोबाइल उपकरणों से होकर सँसार के समाचारों की बौछार हम तक पहुँचती रहती है। उसमें से अधिकांश समाचार यही बताते हैं कि सँसार में क्या गलत या बुरा हो रहा है – अपराध, आतंकवाद, युद्ध, और आर्थिक समस्याएं। फिर भी ऐसे भी समय होते हैं जब उदासी और निराशा के गहन अन्धकार को चीरते हुए कुछ अच्छे समाचार भी आते हैं – निःस्वार्थ किए गए कार्यों के विवरण, चिकित्सा पद्धति में होनेवाली कोई नई खोज, या युद्ध से बर्बाद स्थानों में शान्ति बहाली की कोई आशा।

      परमेश्वर के पुराने नियम खण्ड में दो लोगों के शब्दों से संघर्ष से व्यथित लोगों को बड़ी राहत मिली।

      एक क्रूर और बलवान देश पर आने वाले परमेश्वर के न्याय का वर्णन करते हुए नहूम ने कहा, “देखो, पहाड़ों पर शुभसमाचार का सुनाने वाला और शान्ति का प्रचार करने वाला आ रहा है!” (नहूम 1:15)। इस समाचार से उस क्रूरता से त्रस्त सभी लोगों में आशा का संचार हुआ।

      ऐसे ही शब्द यशायाह की पुस्तक में भी मिलते हैं: “पहाड़ों पर उसके पांव क्या ही सुहावने हैं जो शुभ समाचार लाता है, जो शान्ति की बातें सुनाता है और कल्याण का शुभ समाचार और उद्धार का सन्देश देता है” (यशायाह 52:7)।

      नहूम और यशायाह द्वारा की गई आशा की भविष्यवाणियों की परिपूर्णता अन्ततः उस पहले क्रिसमस के समय हुई जब, “तब स्वर्गदूत ने उन से कहा, मत डरो; क्योंकि देखो मैं तुम्हें बड़े आनन्द का सुसमाचार सुनाता हूं जो सब लोगों के लिये होगा। कि आज दाऊद के नगर में तुम्हारे लिये एक उद्धारकर्ता जन्मा है, और यही मसीह प्रभु है” (लूका 2:10-11)।

      प्रतिदिन हमारे जीवनों के लिए सबसे महत्वपूर्ण समाचार वही सर्वोत्तम सुसमाचार है – प्रभु यीशु ही सारे जगत का उद्धारकर्ता है! – डेविड मैक्कैस्लैंड


प्रभु यीशु के जन्म का समाचार ही वह सर्वोत्तम समाचार है जो सँसार ने कभी भी सुना है।

और किसी दूसरे के द्वारा उद्धार नहीं; क्योंकि स्वर्ग के नीचे मनुष्यों में और कोई दूसरा नाम नहीं दिया गया, जिस के द्वारा हम उद्धार पा सकें। - प्रेरितों 4:12

बाइबल पाठ: नहूम 1:7-15
Nahum 1:7 यहोवा भला है; संकट के दिन में वह दृढ़ गढ़ ठहरता है, और अपने शरणागतों की सुधी रखता है।
Nahum 1:8 परन्तु वह उमड़ती हुई धारा से उसके स्थान का अन्त कर देगा, और अपने शत्रुओं को खदेड़ कर अन्धकार में भगा देगा।
Nahum 1:9 तुम यहोवा के विरुद्ध क्या कल्पना कर रहे हो? वह तुम्हारा अन्त कर देगा; विपत्ति दूसरी बार पड़ने न पाएगी।
Nahum 1:10 क्योंकि चाहे वे कांटों से उलझे हुए हों, और मदिरा के नशे में चूर भी हों, तौभी वे सूखी खूंटी के समान भस्म किए जाएंगे।
Nahum 1:11 तुझ में से एक निकला है, जो यहोवा के विरुद्ध कल्पना करता और नीचता की युक्ति बान्धता है।
Nahum 1:12 यहोवा यों कहता है, चाहे वे सब प्रकार के सामर्थी हों, और बहुत भी हों, तौभी पूरी रीति से काटे जाएंगे और शून्य हो जाएंगे। मैं ने तुझे दु:ख दिया है, परन्तु फिर न दूंगा।
Nahum 1:13 क्योंकि अब मैं उसका जूआ तेरी गर्दन पर से उतार कर तोड़ डालूंगा, और तेरा बन्धन फाड़ डालूंगा।
Nahum 1:14 यहोवा ने तेरे विषय में यह आज्ञा दी है कि आगे को तेरा वंश न चले; मैं तेरे देवालयों में से ढली और गढ़ी हुई मूरतों को काट डालूंगा, मैं तेरे लिये कबर खोदूंगा, क्योंकि तू नीच है।
Nahum 1:15 देखो, पहाड़ों पर शुभसमाचार का सुनाने वाला और शान्ति का प्रचार करने वाला आ रहा है! अब हे यहूदा, अपने पर्व मान, और अपनी मन्नतें पूरी कर, क्योंकि वह ओछा फिर कभी तेरे बीच में हो कर न चलेगा, और पूरी रीति से नाश हुआ है।


एक साल में बाइबल: 
  • होशे 12-14
  • प्रकाशितवाक्य 4