बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, August 5, 2019

अनुग्रह



      अमेरिका की मास्टर्स गोल्फ स्पर्धा का आरंभ 1934 में हुआ था, और तब से लेकर अब तक केवल तीन ही ऐसे खिलाड़ी हुए हैं जिन्होंने इसे लगातार दो वर्षों तक जीता हो। अप्रैल 10, 2016 को ऐसा लगा कि बाईस-वर्षीय जॉर्डन स्पिथ ऐसा करने वाले चौथे खिलाड़ी बन जाएँगे। परंन्तु ऐसा नहीं होने पाया और उन्हें दूसरे स्थान से ही संतोष करना पड़ा। अपनी हार के बाद, उस वर्ष के विजेता डैनी विल्लेट के प्रति, स्पिथ के व्यवहार में कोई कटुता नहीं थी; उन्होंने डैनी को जीतने की शुभकामनाएँ भी दीं, तथा “गोल्फ से भी अधिक महत्वपूर्ण” एक और उपलब्धि, डैनी के पहले बच्चे के जन्म के लिए उन्हें बधाई भी दी।

      इस विषय पर न्यूयॉर्क टाईम्स में लिखते हुए कैरेन क्राउस ने लिखा, “विजेता को ट्राफी दिए जाने और किसी अन्य की फोटो खींचते देखने के इतने कम समय के पश्चात एक उदार रवैया अपनाने के लिए अनुग्रह की आवश्यकता होती है। प्रतियोगिता के इस सारे सप्ताह चाहे स्पिथ गेंद को निशाने पर ठीक से नहीं खेलने पाए, किन्तु उनका चरित्र और व्यवहार सही निशाने पर ही रहा।”

      परमेश्वर के वचन बाइबल में हम देखते हैं कि कुलुस्से में स्थित मसीह यीशु के अनुयायियों को लिखते हुए पौलुस ने कहा, “अवसर को बहुमूल्य समझ कर बाहर वालों के साथ बुद्धिमानी से बर्ताव करो। तुम्हारा वचन सदा अनुग्रह सहित और सलोना हो, कि तुम्हें हर मनुष्य को उचित रीति से उत्तर देना आ जाए” (कुलुस्सियों 4:5-6)।

      क्योंकि हम मसीही विश्वासियों को परमेश्वर की क्षमा और अनुग्रह सेंत-मेंत बहुतायत से मिली है, इसलिए यह हमारा सौभाग्य तथा दायित्व है कि हम अपने जीवनों से परमेश्वर के इस अनुग्रह की प्रगट गवाही दें और जीवन की प्रत्येक परोस्थिति में, चाहे हम विजयी हों अथवा हारें, औरों के प्रति उस अनुग्रह को अपने जीवनों से प्रदर्शित करें। - डेविड मैक्कैस्लैंड


अनुग्रहपूर्ण शब्द सदा ही सही शब्द होते हैं।

इसलिये कि व्यवस्था तो मूसा के द्वारा दी गई; परन्तु अनुग्रह, और सच्चाई यीशु मसीह के द्वारा पहुंची। - यूहन्ना 1:17

बाइबल पाठ: कुलुस्सियों 4:1-6
Colossians 4:1 हे स्‍वामियों, अपने अपने दासों के साथ न्याय और ठीक ठीक व्यवहार करो, यह समझकर कि स्वर्ग में तुम्हारा भी एक स्‍वामी है।
Colossians 4:2 प्रार्थना में लगे रहो, और धन्यवाद के साथ उस में जागृत रहो।
Colossians 4:3 और इस के साथ ही साथ हमारे लिये भी प्रार्थना करते रहो, कि परमेश्वर हमारे लिये वचन सुनाने का ऐसा द्वार खोल दे, कि हम मसीह के उस भेद का वर्णन कर सकें जिस के कारण मैं कैद में हूं।
Colossians 4:4 और उसे ऐसा प्रगट करूं, जैसा मुझे करना उचित है।
Colossians 4:5 अवसर को बहुमूल्य समझ कर बाहर वालों के साथ बुद्धिमानी से बर्ताव करो।
Colossians 4:6 तुम्हारा वचन सदा अनुग्रह सहित और सलोना हो, कि तुम्हें हर मनुष्य को उचित रीति से उत्तर देना आ जाए।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 68-69
  • रोमियों 8:1-21