बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, December 7, 2019

प्राथमिकता



      जब हम वायु यान से यात्रा करते हैं तो उड़ान भरने से पूर्व विमान का एक कर्मचारी आपात स्थिति में बचाव संबंधी निर्देश बताता है, जिनमें यह भी बताता है कि विमान के अन्दर हवा के दबाव या ऑक्सीजन की कमी होने के कारण यदि उनके सामने ऑक्सीजन के मास्क लटकने लगें तो किसी अन्य की सहायता करने से पहले, प्रत्येक व्यक्ति अपना मास्क ठीक से पहन ले, और तब ही किसी अन्य की सहायता करे। ऐसा इसलिए क्योंकि यदि कोई स्वयं ही सही स्थिति में नहीं होगा तो फिर वह किसी अन्य की सही प्रकार से सहायता कैसे कर सकेगा। दूसरों की सहायता करने से पहले स्वयं को सचेत होना आवश्यक है।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरित पौलुस ने तिमुथियुस को लिखा कि वह अपने आत्मिक स्वास्थ्य को बनाए रखे, औरों की सेवा और सहायता करने से पूर्व। उसने तिमुथियुस को उसकी पास्टर होने की अनेकों जिम्मेदारियों का स्मरण करवाया, जैसे कि, झूठे शिक्षकों से संघर्ष (1 तिमुथियुस 4:1-5), गलत सैद्धांतिक शिक्षाओं को सही करना (पद 6-8)। परन्तु अपने दायित्वों का सही निर्वाह करने के लिए जो सबसे अधिक आवश्यक था वह था कि “...इन बातों पर स्थिर रह...” (पद 16)। प्रभु के साथ औरों के संबंध को बनाने या सुधारने से पहले, उसे प्रभु के साथ अपने संबंध की सही देखभाल करते रहने की आवश्यकता थी।

      पौलुस ने जो तिमुथियुस को सिखाया, वही आज हम पर भी वैसे ही लागू होता है। प्रतिदिन हमारा सामना ऐसे लोगों से होता है जो प्रभु को नहीं जानते हैं। जब हम परमेश्वर के वचन बाइबल के नियमित अध्ययन, प्रार्थना में उसके साथ बिताए गए समय, और पवित्र आत्मा की प्रेरणा से मिले निर्देशों के पालन के द्वारा अपनी आत्मिक दशा को सही रखते हैं, तब ही हम औरों की सही प्रकार से सहायता करने के लिए सचेत रह सकते हैं। हमें अपनी प्राथमिकताओं पर ध्यान देना चाहिए जिससे प्रभु के लिए उपयोगी बन सकें। - सी. पी. हिया

मसीही विश्वासी का जीवन वह खिड़की है जिसमें से संसार के लोग प्रभु यीशु को देखते हैं।

अन्यजातियों में तुम्हारा चालचलन भला हो; इसलिये कि जिन जिन बातों में वे तुम्हें कुकर्मी जान कर बदनाम करते हैं, वे तुम्हारे भले कामों को देख कर; उन्‍हीं के कारण कृपा दृष्टि के दिन परमेश्वर की महिमा करें। - 1 पतरस 2:12

बाइबल पाठ: 1 तिमुथियुस 4:12-16
1 Timothy 4:12 कोई तेरी जवानी को तुच्‍छ न समझने पाए; पर वचन, और चाल चलन, और प्रेम, और विश्वास, और पवित्रता में विश्वासियों के लिये आदर्श बन जा।
1 Timothy 4:13 जब तक मैं न आऊं, तब तक पढ़ने और उपदेश और सिखाने में लौलीन रह।
1 Timothy 4:14 उस वरदान से जो तुझ में है, और भविष्यद्वाणी के द्वारा प्राचीनों के हाथ रखते समय तुझे मिला था, निश्‍चिन्‍त न रह।
1 Timothy 4:15 उन बातों को सोचता रह, और इन्हीं में अपना ध्यान लगाए रह ताकि तेरी उन्नति सब पर प्रगट हो। अपनी और अपने उपदेश की चौकसी रख।
1 Timothy 4:16 इन बातों पर स्थिर रह, क्योंकि यदि ऐसा करता रहेगा, तो तू अपने, और अपने सुनने वालों के लिये भी उद्धार का कारण होगा।

एक साल में बाइबल: 
  • दानिय्येल 5-7
  • 2 यूहन्ना