बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, December 4, 2014

उदार


   एक बेघर व्यक्ति हमारे इलाके के स्थानीय पुस्तकालय में समय बिताता है। एक दोपहर को जब मैं पुस्त्कालय में बैठी कुछ लिख रही थी, मैंने भोजन करने के लिए अपना काम रोका और अपने साथ लाया हुआ भोजन खाने लगी। खाते-खाते मुझे उस व्यक्ति का चेहरा स्मरण हो आया और मैं भोजन खाते-खाते रुक गई। मैं उसके पास गई और बचा हुआ अछूता भोजन उसे प्रस्तुत किया, जो उसने ले लिया। इस छोटे सी घटना ने मुझे इस बात का एहसास करवाया कि जो परमेश्वर ने मुझे दिया है, मुझे उसे उन लोगों के साथ बाँटना भी है जिनके पास नहीं है।

   बाद में इस घटना के बारे में सोचते हुए मैंने परमेश्वर के वचन बाइबल से इस संबंध में मूसा के द्वारा व्यवस्था में दिए गए निर्देशों को पढ़ा। मूसा में होकर परमेश्वर ने इस्त्राएलियों से कहा: "जो देश तेरा परमेश्वर यहोवा तुझे देता है उसके किसी फाटक के भीतर यदि तेरे भाइयों में से कोई तेरे पास द्ररिद्र हो, तो अपने उस दरिद्र भाई के लिये न तो अपना हृदय कठोर करना, और न अपनी मुट्ठी कड़ी करना; जिस वस्तु की घटी उसको हो, उसका जितना प्रयोजन हो उतना अवश्य अपना हाथ ढीला कर के उसको उधार देना" (व्यवस्थाविवरण 15:7-8)। एक ढीला किया हुआ हाथ दिखाता है उस बात की आज्ञाकारिता को जो परमेश्वर ने अपने लोगों से कही - दरिद्रों के लिए स्वेच्छा और मुक्त-भाव से दो; कोई बहाना नहीं, कुछ रोक कर नहीं रखना।

   जब हम ऐसे उदार होकर गरीबों की सहायता करते हैं तो परमेश्वर हमें हमारी उदारता के लिए आशीषित करता है (भजन 41:1-3; नीतिवचन 19:17; यशायाह 58:10)। परमेश्वर की अगुवाई में विचार कीजिए कि आप किस प्रकार भूखों की सहायता कर सकते हैं और प्रभु यीशु के नाम में कैसे ज़रूरतमन्दों को दे सकते हैं। - जेनिफर बेन्सन शुल्ट


आप बिना प्रेम किए दे तो सकते हैं, लेकिन बिना दिए प्रेम नहीं कर सकते।

उदारता से भूखे की सहायता करे और दीन दु:खियों को सन्तुष्ट करे, तब अन्धियारे में तेरा प्रकाश चमकेगा, और तेरा घोर अन्धकार दोपहर का सा उजियाला हो जाएगा। - यशायाह 58:10

बाइबल पाठ: व्यवस्थाविवरण 15:7-11
Deuteronomy 15:7 जो देश तेरा परमेश्वर यहोवा तुझे देता है उसके किसी फाटक के भीतर यदि तेरे भाइयों में से कोई तेरे पास द्ररिद्र हो, तो अपने उस दरिद्र भाई के लिये न तो अपना हृदय कठोर करना, और न अपनी मुट्ठी कड़ी करना; 
Deuteronomy 15:8 जिस वस्तु की घटी उसको हो, उसका जितना प्रयोजन हो उतना अवश्य अपना हाथ ढीला कर के उसको उधार देना। 
Deuteronomy 15:9 सचेत रह कि तेरे मन में ऐसी अधम चिन्ता न समाए, कि सातवां वर्ष जो छुटकारे का वर्ष है वह निकट है, और अपनी दृष्टि तू अपने उस दरिद्र भाई की ओर से क्रूर कर के उसे कुछ न दे, और वह तेरे विरुद्ध यहोवा की दुहाई दे, तो यह तेरे लिये पाप ठहरेगा। 
Deuteronomy 15:10 तू उसको अवश्य देना, और उसे देते समय तेरे मन को बुरा न लगे; क्योकि इसी बात के कारण तेरा परमेश्वर यहोवा तेरे सब कामों में जिन में तू अपना हाथ लगाएगा तुझे आशीष देगा। 
Deuteronomy 15:11 तेरे देश में दरिद्र तो सदा पाए जाएंगे, इसलिये मैं तुझे यह आज्ञा देता हूं कि तू अपने देश में अपने दीन-दरिद्र भाइयों को अपना हाथ ढीला कर के अवश्य दान देना।

एक साल में बाइबल: 
  • इफिसियों 4-6