बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, November 25, 2017

प्रावधान


   हमारे बेटे ने नर्सरी स्कूल जाना आरंभ ही किया था। पहले दिन वह बहुत रोया, और कहा, "मुझे स्कूल पसन्द नहीं है।" मेरे पति और मैंने उससे उसे समझाया, और आश्वस्त किया, कि हम चाहे शरीर में उसके निकट न भी हों, परन्तु हम उसके लिए प्रार्थना करते रहते हैं; और प्रभु यीशु तो सदा उसके साथ बने रहते हैं। उसने प्रश्न किया, "किंतु प्रभु यीशु मुझे दिखाई तो नहीं देते हैं?" मेरे पति ने उसे गले लगाते हुए कहा, "प्रभु तुम्हारे हृदय के अन्दर वास करते हैं; वे तुम्हें कभी नहीं छोड़ते हैं।" मेरे बेटे ने आशवस्त होकर अपने हृदय पर हाथ रखकर कहा, "हाँ, प्रभु यीशु मेरे अन्दर वास करते हैं।"

   केवल बच्चे ही अपनों से अलग होने पर चिंतित नहीं होते हैं, जीवन के हर चरण में हमें उनसे अलग होने की स्थितियों का सामना करते हैं जिनसे हम प्रेम करते हैं। यह भौगोलिक दूरियों के कारण हो सकता है या कभी मृत्यु के कारण। परन्तु हमें सदा स्मरण रखना चाहिए कि चाहे और कोई मनुष्य किसी भी कारणवश हमें छोड़ भी दे, तो भी हमारा प्रभु परमेश्वर हमें कभी नहीं छोड़ता है। उसने सदा हमारे साथ बने रहने का वायदा किया है। प्रभु ने हमारी सहायाता के लिए अपने पवित्र आत्मा को हमें सहायक और मार्गदर्शक के रूप में दिया है, और वह सदा हम में वास करता है (यूहन्ना 14:15-18)। हम उसकी प्रीय सन्तान हैं।

   हमारा बेटा भरोसा रखना सीख रहा है, और मैं भी। मेरे बेटे के समान ही मैं भी अपने अन्दर निवास करने वाले पवित्र-आत्मा को अपनी शारीरिक आँखों से देख नहीं पाती हूँ, परन्तु मैं अपने में और अपने लिए उसके कार्यों को अनुभव करती और देखती हूँ। वह प्रतिदिन मेरा मार्गदर्शन करता है, मुझे प्रोत्साहित करता है, परमेश्वर के वचन बाइबल को पढ़ने, समझने और जीवन में उपयोगी करने में मेरी सहायता करता है।

   हमें प्रभु परमेश्वर के इस अद्भुत प्रावधान, उसके पवित्र-आत्मा, के लिए सदा धन्यवादी रहना चाहिए, जिसके कारण हम मसीही विश्वासी कभी भी अकेले नहीं हो सकते हैं। - कीला ओकोआ


हम कभी अकेले नहीं हैं।

क्या तुम नहीं जानते, कि तुम परमेश्वर का मन्दिर हो, और परमेश्वर का आत्मा तुम में वास करता है? - 1 कुरिन्थियों 3:16

बाइबल पाठ: यूहन्ना 14:15-21
John 14:15 यदि तुम मुझ से प्रेम रखते हो, तो मेरी आज्ञाओं को मानोगे। 
John 14:16 और मैं पिता से बिनती करूंगा, और वह तुम्हें एक और सहायक देगा, कि वह सर्वदा तुम्हारे साथ रहे। 
John 14:17 अर्थात सत्य का आत्मा, जिसे संसार ग्रहण नहीं कर सकता, क्योंकि वह न उसे देखता है और न उसे जानता है: तुम उसे जानते हो, क्योंकि वह तुम्हारे साथ रहता है, और वह तुम में होगा। 
John 14:18 मैं तुम्हें अनाथ न छोडूंगा, मैं तुम्हारे पास आता हूं। 
John 14:19 और थोड़ी देर रह गई है कि फिर संसार मुझे न देखेगा, परन्तु तुम मुझे देखोगे, इसलिये कि मैं जीवित हूं, तुम भी जीवित रहोगे। 
John 14:20 उस दिन तुम जानोगे, कि मैं अपने पिता में हूं, और तुम मुझ में, और मैं तुम में। 
John 14:21 जिस के पास मेरी आज्ञा है, और वह उन्हें मानता है, वही मुझ से प्रेम रखता है, और जो मुझ से प्रेम रखता है, उस से मेरा पिता प्रेम रखेगा, और मैं उस से प्रेम रखूंगा, और अपने आप को उस पर प्रगट करूंगा।

एक साल में बाइबल: 
  • यहेजकेल 24-26
  • 1 पतरस 2