बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, December 17, 2017

विश्राम


   लड़कपन में, पैसे कमाने के लिए, मैं अखबार बाँटने का काम किया करता था। क्योंकि मैं प्रातः के अखबार बाँटा करता था, इसलिए मुझे प्रति प्रातः, सप्ताह के सातों दिन, 3:00 बजे उठना होता था, जिससे मैं मुझे दिए गए 140 अखबार उनके घरों तक प्रातः के 6:00 बजने तक बाँट दूँ।

   परन्तु प्रति वर्ष एक दिन होता था जो अन्य दिनों से भिन्न था - हम क्रिसमस प्रातः का अखबार क्रिसमस संध्या को ही बाँट देते थे। इसका अर्थ था कि क्रिसमस ही वह एकमात्र दिन होता था जब मैं किसी भी अन्य सामान्य व्यक्ति के समान सुबह तक सोते हुए विश्राम ले सकता था।

   समय के साथ मैंने क्रिसमस की अनेकों कारणों से सराहना करना सीखा, परन्तु उन में से एक कारण जो उन दिनों मेरे लिए विशेष था, वह था, वर्ष के अन्य किसी भी दिन से अलग, क्रिसमस मेरे लिए विश्राम का दिन होता था।

   उस समय मैंने उस सच्चे विश्राम के बारे में, जो क्रिसमस लेकर आता है न अच्छे से समझा था और ना जाना था। लेकिन अब मैं जानता हूँ कि मसीह संसार में इसलिए आया कि जो लोग परमेश्वर के सम्मुख धर्मी ठहरने के लिए नियमों और व्यवस्था के कार्यों को पूरा करने के बोझ के तले दबे हुए हैं, जैसा कर पाना कभी संभव नहीं है, वे प्रभु यीशु मसीह से मिलने वाली पापों की क्षमा और उद्धार के द्वारा इस व्यर्थ कशमकश से छूटें और विश्राम पाएं। प्रभु यीशु ने कहा, "हे सब परिश्रम करने वालों और बोझ से दबे लोगों, मेरे पास आओ; मैं तुम्हें विश्राम दूंगा" (मत्ती 11:28)।

   इस संसार में, जिसका अकेले सामना करना, हमारी सहनशक्ति से बाहर है, प्रभु यीशु मसीह हमें विश्राम देता है, जब हम अपने पापों के लिए पश्चाताप और उसे किए गए समर्पण के द्वारा उसके साथ एक संबंध में बंध जाते हैं। - बिल क्राउडर


जब हम प्रभु परमेश्वर में विश्राम करते हैं; तब हमारी आत्मा भी विश्राम पाती है।

यहोवा जो तेरा छुड़ाने वाला और इस्राएल का पवित्र है, वह यों कहता है, मैं ही तेरा परमेश्वर यहोवा हूं जो तुझे तेरे लाभ के लिये शिक्षा देता हूं, और जिस मार्ग से तुझे जाना है उसी मार्ग पर तुझे ले चलता हूं। भला होता कि तू ने मेरी आज्ञाओं को ध्यान से सुना होता! तब तेरी शान्ति नदी के समान और तेरा धर्म समुद्र की लहरों के समान होता; - यशायाह 48:17-18

बाइबल पाठ: मत्ती 11:28- 12:8
Matthew 11:28 हे सब परिश्रम करने वालों और बोझ से दबे लोगों, मेरे पास आओ; मैं तुम्हें विश्राम दूंगा। 
Matthew 11:29 मेरा जूआ अपने ऊपर उठा लो; और मुझ से सीखो; क्योंकि मैं नम्र और मन में दीन हूं: और तुम अपने मन में विश्राम पाओगे। 
Matthew 11:30 क्योंकि मेरा जूआ सहज और मेरा बोझ हल्का है।
Matthew 12:1 उस समय यीशु सब्त के दिन खेतों में से हो कर जा रहा था, और उसके चेलों को भूख लगी, सो वे बालें तोड़ तोड़ कर खाने लगे। 
Matthew 12:2 फरीसियों ने यह देखकर उस से कहा, देख तेरे चेले वह काम कर रहे हैं, जो सब्त के दिन करना उचित नहीं। 
Matthew 12:3 उसने उन से कहा; क्या तुम ने नहीं पढ़ा, कि दाऊद ने, जब वह और उसके साथी भूखे हुए तो क्या किया? 
Matthew 12:4 वह क्योंकर परमेश्वर के घर में गया, और भेंट की रोटियां खाईं, जिन्हें खाना न तो उसे और उसके साथियों को, पर केवल याजकों को उचित था? 
Matthew 12:5 या तुम ने व्यवस्था में नहीं पढ़ा, कि याजक सब्त के दिन मन्दिर में सब्त के दिन के विधि को तोड़ने पर भी निर्दोष ठहरते हैं। 
Matthew 12:6 पर मैं तुम से कहता हूं, कि यहां वह है, जो मन्दिर से भी बड़ा है। 
Matthew 12:7 यदि तुम इस का अर्थ जानते कि मैं दया से प्रसन्न हूं, बलिदान से नहीं, तो तुम निर्दोष को दोषी न ठहराते। 
Matthew 12:8 मनुष्य का पुत्र तो सब्त के दिन का भी प्रभु है।

एक साल में बाइबल: 
  • अमोस 7-9
  • प्रकाशितवाक्य 8