बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, September 1, 2018

प्रार्थना



      आप अपनी चिंताओं का क्या करते हैं? क्या आप उन्हें अपने मन में रख लेते हैं, या फिर आप उन्हें ऊपर की ओर मोड़ देते हैं?

      परमेश्वर के वचन बाइबल में हम अश्शूर के क्रूर राजा सन्हेरीब के विषय पढ़ते हैं, वह यरूशलेम को नाश करने की योजना बना कर आया था। उसने राजा हिजकिय्याह को सन्देश भेजा कि उसका हाल भी उन सभी अन्य राजाओं के समान ही होगा जिन पर सन्हेरीब ने विजय प्राप्त की थी। हिजकिय्याह ने उसे कोई प्रत्युत्तर नहीं दिया, वरन सन्हेरीब के सन्देश को यरूशलेम में स्थित परमेश्वर के मंदिर में ले जाकर रख दिया और सर्वशक्तिमान परमेश्वर से अपनी तथा अपने राज्य की रक्षा की प्रार्थना की।

      कुछ समय पश्चात परमेश्वर का नबी यशायाह हिजकिय्याह राजा के पास आया और परमेश्वर से मिले उत्तर को उसे बताया, और कहा: “तब आमोस के पुत्र यशायाह ने हिजकिय्याह के पास यह कहला भेजा, इस्राएल का परमेश्वर यहोवा यों कहता है, तू ने जो अश्शूर के राजा सन्हेरीब के विषय में मुझ से प्रार्थना की है” (यशायाह 37:21)। पवित्र-शास्त्र हमें बताता है कि राजा हिजकिय्याह की प्रार्थना का उसी रात्रि उत्तर आ गया। परमेश्वर ने आश्चर्यजनक रीति से हस्तक्षेप किया, यरूशलेम के बाहर ही शत्रु सेना का नाश कर दिया और अश्शूर की सेना एक तीर भी नहीं चला सकी (पद 33), और सन्हेरीब यरूशलेम से लौट गया, और उसके अपने ही पुत्रों ने, उसके देवता के मंदिर में उपासना करते समय, उसकी हत्या कर दी गई।

      हिजकिय्याह को पहुँचे परमेश्वर के सन्देश में तीन शब्द महत्वपूर्ण हैं – “क्योंकि प्रार्थना की”; और ये शब्द हमें दिखाते हैं कि चिंताओं को लेकर जाने का सर्वोत्तम स्थान क्या है। क्योंकि हिजकिय्याह परमेश्वर की ओर मुड़ा, और उसे ही अपनी समस्या का समाधान तथा अपना बल-मूल माना, इसलिए परमेश्वर ने उसकी तथा उसकी प्रजा की रक्षा की। जब हम अपनी चिंताओं को विश्वास की अपनी प्रार्थनाएं बना लेते हैं, तब हम देखते हैं कि परमेश्वर अनपेक्षित रीतियों से हमारे प्रति विश्वासयोग्य होता है, और अद्भुत रीति से समाधान प्रदान करता है। - जेम्स बैंक्स


प्रार्थना उस हाथ को चलाती है जो हाथ सँसार को चलाता है। - ई. एम. बाउनड्स

किसी भी बात की चिन्‍ता मत करो: परन्तु हर एक बात में तुम्हारे निवेदन, प्रार्थना और बिनती के द्वारा धन्यवाद के साथ परमेश्वर के सम्मुख अपस्थित किए जाएं। तब परमेश्वर की शान्‍ति, जो समझ से बिलकुल परे है, तुम्हारे हृदय और तुम्हारे विचारों को मसीह यीशु में सुरिक्षत रखेगी। - फिलिप्पियों 4:6-7

बाइबल पाठ: यशायाह 37: 10-22, 33
Isaiah 37:10 कि तुम यहूदा के राजा हिजकिय्याह से यों कहना, तेरा परमेश्वर जिस पर तू भरोसा करता है, यह कहकर तुझे धोखा न देने पाए कि यरूशलेम अश्शूर के राजा के वश में न पड़ेगा।
Isaiah 37:11 देख, तू ने सुना है कि अश्शूर के राजाओं ने सब देशों से कैसा व्यवहार किया कि उन्हें सत्यानाश ही कर दिया।
Isaiah 37:12 फिर क्या तू बच जाएगा? गोज़ान और हारान और रेसेप में रहने वाली जिन जातियों को और तलस्सार में रहने वाले एदेनी लोगों को मेरे पुरखाओं ने नाश किया, क्या उनके देवताओं ने उन्हें बचा लिया?
Isaiah 37:13 हमात का राजा, अर्पाद का राजा, सपर्वैम नगर का राजा, और हेना और इव्वा के राजा, ये सब कहां गए?
Isaiah 37:14 इस पत्री को हिजकिय्याह ने दूतों के हाथ से ले कर पढ़ा; तब उसने यहोवा के भवन में जा कर उस पत्री को यहोवा के साम्हने फैला दिया।
Isaiah 37:15 और यहोवा से यह प्रार्थना की,
Isaiah 37:16 हे सेनाओं के यहोवा, हे करूबों पर विराजमान इस्राएल के परमेश्वर, पृथ्वी के सब राज्यों के ऊपर केवल तू ही परमेश्वर है; आकाश और पृथ्वी को तू ही ने बनाया है।
Isaiah 37:17 हे यहोवा, कान लगाकर सुन; यहोवा आंख खोल कर देख; और सन्हेरीब के सब वचनों को सुन ले, जिसने जीवते परमेश्वर की निन्दा करने को लिख भेजा है।
Isaiah 37:18 हे यहोवा, सच तो है कि अश्शूर के राजाओं ने सब जातियों के देशों को उजाड़ा है
Isaiah 37:19 और उनके देवताओं को आग में झोंका है; क्योंकि वे ईश्वर न थे, वे केवल मनुष्यों की कारीगरी, काठ और पत्थर ही थे; इस कारण वे उन को नाश कर सके।
Isaiah 37:20 अब हे हमारे परमेश्वर यहोवा, तू हमें उसके हाथ से बचा जिस से पृथ्वी के राज्य राज्य के लोग जान लें कि केवल तू ही यहोवा है।
Isaiah 37:21 तब आमोस के पुत्र यशायाह ने हिजकिय्याह के पास यह कहला भेजा, इस्राएल का परमेश्वर यहोवा यों कहता है, तू ने जो अश्शूर के राजा सन्हेरीब के विषय में मुझ से प्रार्थना की है,
Isaiah 37:22 उसके विषय यहोवा ने यह वचन कहा है, सिय्योन की कुमारी कन्या तुझे तुच्छ जानती है और ठट्ठों में उड़ाती है; यरूशलेम की पुत्री तुझ पर सिर हिलाती है।
Isaiah 37:33 इसलिये यहोवा अश्शूर के राजा कि विषय यों कहता है कि वह इस नगर में प्रवेश करने, वरन इस पर एक तीर भी मारने न पाएगा; और न वह ढाल ले कर इसके साम्हने आने वा इसके विरुद्ध दमदमा बान्धने पाएगा।


एक साल में बाइबल: 
  • भजन 135-136
  • 1 कुरिन्थियों 12