बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, January 12, 2019

अनुग्रह



      एक अन्तर्राष्ट्रीय शोध कंपनी ने सन 2015 में बताया कि लोगों पर निगरानी रखने के लिए, सँसार भर में, दो करोड़ पैंतालीस लाख कैमरे लगे हुए हैं, और उनकी संख्या प्रतिवर्ष 15 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है। इसके अतिरिक्त, प्रतिदिन करोड़ों लोग अपने मोबाइल फोन के द्वारा अनगिनित फोटो और वीडियो लेते रहते हैं, अपने जन्मदिन की पार्टी से लेकर बैक में की जा रही लूट तक की, हर प्रकार की घटनाओं की, या यूं ही। हम चाहे इस बढ़ती हुई सुरक्षा की सराहना करें, अथवा घटते हुए व्यक्तिगत समय, स्थान और जीवन की निन्दा करें, हम एक ऐसे समाज में रहते हैं जहाँ कैमरे के द्वारा हम निरन्तर निगाहों तथा सर्वेक्षण में बने रहते हैं।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में इब्रानियों की पुस्तक में लिखा है कि हम परमेश्वर के साथ अपने संबंध में उसकी दृष्टि में सदा बने रहते हैं, कैमरों की निगाहों में होने से कहीं अधिक। परमेश्वर का वचन, एक दो-धारी तलवार के समान, हमारे व्यक्तित्व के सबसे गहरे स्थान तक उतर जाता है और “...मन की भावनाओं और विचारों को जांचता है। और सृष्‍टि की कोई वस्तु उस से छिपी नहीं है वरन जिस से हमें काम है, उस की आंखों के साम्हने सब वस्तुएं खुली और बेपरदा हैं” (इब्रानियों 4:12-13)।

      क्योंकि हमारे उद्धारकर्ता प्रभु यीशु ने हमारे समान निर्बलताओं, परिस्थितियों और परीक्षाओं का अनुभव किया किन्तु पाप नहीं किया, इसलिए उसमें होकर हम “...अनुग्रह के सिंहासन के निकट हियाव बान्‍धकर चलें, कि हम पर दया हो, और वह अनुग्रह पाएं, जो आवश्यकता के समय हमारी सहायता करे” (पद 15-16)। हमें प्रभु परमेश्वर से भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है, परन्तु हमें उसमें आश्वस्त रहना चाहिए कि हम जब भी उसके पास आएँगे, उसका अनुग्रह हमारे लिए उपलब्ध एवँ कार्यकारी मिलेगा। - डेविड मैक्कैस्लैंड


प्रभु परमेश्वर की दृष्टि और अनुग्रह से हमारे जीवन की कोई भी बात छुपी नहीं है।

क्योंकि परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उसने अपना एकलौता पुत्र दे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे, वह नाश न हो, परन्तु अनन्त जीवन पाए। परमेश्वर ने अपने पुत्र को जगत में इसलिये नहीं भेजा, कि जगत पर दंड की आज्ञा दे परन्तु इसलिये कि जगत उसके द्वारा उद्धार पाए। - यूहन्ना 3:16-17

बाइबल पाठ: इब्रानियों 4:12-16
Hebrews 4:12 क्योंकि परमेश्वर का वचन जीवित, और प्रबल, और हर एक दोधारी तलवार से भी बहुत चोखा है, और जीव, और आत्मा को, और गांठ गांठ, और गूदे गूदे को अलग कर के, वार पार छेदता है; और मन की भावनाओं और विचारों को जांचता है।
Hebrews 4:13 और सृष्‍टि की कोई वस्तु उस से छिपी नहीं है वरन जिस से हमें काम है, उस की आंखों के साम्हने सब वस्तुएं खुली और बेपरदा हैं।
Hebrews 4:14 सो जब हमारा ऐसा बड़ा महायाजक है, जो स्‍वर्गों से हो कर गया है, अर्थात परमेश्वर का पुत्र यीशु; तो आओ, हम अपने अंगीकार को दृढ़ता से थामें रहे।
Hebrews 4:15 क्योंकि हमारा ऐसा महायाजक नहीं, जो हमारी निर्बलताओं में हमारे साथ दुखी न हो सके; वरन वह सब बातों में हमारे समान परखा तो गया, तौभी निष्‍पाप निकला।
Hebrews 4:16 इसलिये आओ, हम अनुग्रह के सिंहासन के निकट हियाव बान्‍धकर चलें, कि हम पर दया हो, और वह अनुग्रह पाएं, जो आवश्यकता के समय हमारी सहायता करे।
                                                                                                                                                        
एक साल में बाइबल: 
  • उत्पत्ति 29-30
  • मत्ती 9:1-17