बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, October 27, 2015

सामर्थी सहायक


   एक दिन प्रातः बहुत तड़के तेज़ हवा चलने लगी और बारिश की मोटी मोटी बूँदें मेरे घर पर कंकरों के समान गिरने लगीं। मैंने बाहर झाँककर धुँधले पीले-स्लेटी आकाश को और तेज़ हवा के थपेड़ों से पेड़ों को हिलते हुए देखा। आकाश में बिजली बार बार तेज़ी से कौंध रही थी और उसके कड़कने की आवाज़ हड्डियों को भी हिला रही थी। घर के अन्दर की बिजली कभी आती और कभी चली जाती, और मैं सोच में थी कि यह तूफान कब तक चलेगा?

   उस तूफान के गुज़र जाने के बाद मैंने अपने दैनिक मनन के लिए परमेश्वर के वचन बाइबल को खोला। मेरा ध्यान बाइबल में अय्युब की पुस्तक के उस भाग पर गया जहाँ तूफान के बल को परमेश्वर की सामर्थ को समझाने के लिए उपयोग किया गया है। अय्युब के मित्र एलिहू ने कहा, "ईश्वर गरज कर अपना शब्द अद्भूत रीति से सुनाता है, और बड़े बड़े काम करता है जिन को हम नहीं समझते" (अय्युब 37:5); "वह बिजली को अपने हाथ में ले कर उसे आज्ञा देता है कि दुश्मन पर गिरे" (अय्युब 36:32)। वास्तव में परमेश्वर "अति सामर्थी" है (अय्युब 37:23)।

   अति सामर्थी परमेश्वर के सामने हम मनुष्य बहुत ही सामर्थहीन हैं। ना तो हम अपने आप को आत्मिक रीति से संभाले रख सकते हैं, ना अपने मनों को स्वस्थ रख सकते हैं और ना ही उस अन्याय का कोई समाधान कर पाते हैं जिसे हमें अकसर सहना पड़ता है। लेकिन वह अति सामर्थी परमेश्वर हमें संभालता है, हमारी चिंता करता है, क्योंकि उसे हमारी सृष्टि स्मरण रहती है (भजन103:14)। ना केवल वह हमारी देखभाल और चिंता करता है वरन "वह थके हुए को बल देता है और शक्तिहीन को बहुत सामर्थ देता है" (यशायाह 40:29)। हम मसीही विश्वासी इस बात द्वारा आश्वस्त और निशचिंत रह सकते हैं कि हमारा परमेश्वर पिता हमारा सामर्थी सहायक भी है। - जेनिफर बेन्सन शुल्ट


परमेश्वर ही हमारी सामर्थ का स्त्रोत है।

क्योंकि वह हमारी सृष्टि जानता है; और उसको स्मरण रहता है कि मनुष्य मिट्टी ही है। - भजन 103:14 

बाइबल पाठ: अय्युब 37:14-24
Job 37:14 हे अय्यूब! इस पर कान लगा और सुन ले; चुपचाप खड़ा रह, और ईश्वर के आश्चर्यकर्मों का विचार कर। 
Job 37:15 क्या तू जानता है, कि ईश्वर क्योंकर अपने बादलों को आज्ञा देता, और अपने बादल की बिजली को चमकाता है? 
Job 37:16 क्या तू घटाओं का तौलना, वा सर्वज्ञानी के आश्चर्यकर्म जानता है? 
Job 37:17 जब पृथ्वी पर दक्खिनी हवा ही के कारण से सन्नाटा रहता है तब तेरे वस्त्र क्यों गर्म हो जाते हैं? 
Job 37:18 फिर क्या तू उसके साथ आकाशमण्डल को तान सकता है, जो ढाले हुए दर्पण के तुल्य दृढ़ है? 
Job 37:19 तू हमें यह सिखा कि उस से क्या कहना चाहिये? क्योंकि हम अन्धियारे के कारण अपना व्याख्यान ठीक नहीं रच सकते। 
Job 37:20 क्या उसको बताया जाए कि मैं बोलना चाहता हूँ? क्या कोई अपना सत्यानाश चाहता है? 
Job 37:21 अभी तो आकाशमण्डल में का बड़ा प्रकाश देखा नहीं जाता जब वायु चलकर उसको शुद्ध करती है। 
Job 37:22 उत्तर दिशा से सुनहली ज्योति आती है ईश्वर भययोग्य तेज से आभूषित है। 
Job 37:23 सर्वशक्तिमान जो अति सामथीं है, और जिसका भेद हम पा नहीं सकते, वह न्याय और पूर्ण धर्म को छोड़ अत्याचार नहीं कर सकता। 
Job 37:24 इसी कारण सज्जन उसका भय मानते हैं, और जो अपनी दृष्टि में बुद्धिमान हैं, उन पर वह दृष्टि नहीं करता।

एक साल में बाइबल: 
  • यिर्मयाह 12-14
  • 2 तिमुथियुस 1