बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, June 2, 2016

सावधानी


   जैमाइका में देखने वाले स्थलों में से मेरा सबसे पसंदीदा स्थल है ओको रियोस - डन्न नदी जल प्रपात का स्थान। उस जल प्रपात को देखना एक ऐसा अद्भुत दृश्य है जिसकी विलक्षण्ता कभी समाप्त नहीं होती। नदी का पानी क्रमवार अनेकों चट्टानों की लंबी श्रंखला पर से होकर बहता हुआ नीचे कैरिबियन सागर की ओर बहता है। दुस्साहसी सैलानी उस प्रपात के मार्ग पर उन गोल चट्टानों और पत्थरों पर नीचे से ऊपर की ओर की एक रोमांचक चढ़ाई का आनन्द भी ले सकते हैं। बहता हुआ पानी, पत्थरों की चिकनी फिसलन भरी सतह, ऊँचाई के खड़े कोण आदि मिलकर इस चढ़ाई को धीमा और खतरनाक बनाते हैं। ऊपर तक पहुँचने के लिए चढ़ने वालों को प्रत्येक कदम देखभाल कर सावधानी से लेना होता है; ज़रा सी चूक से गिर जाने की संभावना लगातार बनी रहती है। सफलता-पूर्वक ऊपर पहुँचने की कुँजी है एकाग्रता तथा सावधानी।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में इफसुस के मसीही विश्वासियों को प्रेरित पौलुस ने उनके मसीही विश्वास की यात्रा के संबंध में जो सचेत किया है, मेरे विचार से डन्न नदी के जल-प्रपात की चढ़ाई से बेहतर उसका चित्रण अन्य कोई नहीं हो सकता है। पौलुस ने लिखा, "इसलिये ध्यान से देखो, कि कैसी चाल चलते हो; निर्बुद्धियों की नाईं नहीं पर बुद्धिमानों की नाईं चलो" (इफिसियों 5:15)। स्पष्ट है कि जीवन मार्ग में हमारे विरोध में आने वाले अनेकों खतरों का सामना करते हुए जब हम ऊँचाईयों पर पहुँचने के लिए चढ़ते हैं तो अपने प्रभु यीशु के मार्गदर्शन में हम अपना प्रत्येक कदम बुद्धिमता एवं सावधानी से उठाएं और फिर उसे वहीं जमाएं जहाँ हमारा प्रभु चाहता है। पौलुस की यह चेतावनी साफ बताती है कि निर्बुद्धि लोग असावधानी से जीवन जीते हैं, किंतु बुद्धिमान लोग हर कदम सचेत और सावधान होकर बढ़ाते हैं जिससे वे ना तो लड़खड़ाएं और ना ही गिरें।

   जब पौलुस हमें कहता है कि हम परमेश्वर का अनुकरण करें (पद 1), तो यह उद्देश्य हमारे सावधानी और प्रेम में होकर चलने से पूरा होता है (पद 2, 15)। प्रत्येक मसीही विश्वासी में निवास करने वाले परमेश्वर के पवित्र-आत्मा की सहायता से हम सावधानी पूर्वक यह यात्रा परमेश्वर की महिमा के लिए पूरी कर सकते हैं। - डेव बैनन

यदि हम परमेश्वर को अपने मन-मस्तिष्क पर राज करने देंगे, 
तो वह हमारे कदमों को अपने सही मार्गों ले जाता रहेगा।

अपने पांव धरने के लिये मार्ग को समथर कर, और तेरे सब मार्ग ठीक रहें। - नीतिवचन 4:26

बाइबल पाठ: इफिसियों 5:1-17
Ephesians 5:1 इसलिये प्रिय, बालकों की नाईं परमेश्वर के सदृश बनो। 
Ephesians 5:2 और प्रेम में चलो; जैसे मसीह ने भी तुम से प्रेम किया; और हमारे लिये अपने आप को सुखदायक सुगन्‍ध के लिये परमेश्वर के आगे भेंट कर के बलिदान कर दिया। 
Ephesians 5:3 और जैसा पवित्र लोगों के योग्य है, वैसा तुम में व्यभिचार, और किसी प्रकार अशुद्ध काम, या लोभ की चर्चा तक न हो। 
Ephesians 5:4 और न निर्लज्ज़ता, न मूढ़ता की बातचीत की, न ठट्ठे की, क्योंकि ये बातें सोहती नहीं, वरन धन्यवाद ही सुना जाएं। 
Ephesians 5:5 क्योंकि तुम यह जानते हो, कि किसी व्यभिचारी, या अशुद्ध जन, या लोभी मनुष्य की, जो मूरत पूजने वाले के बराबर है, मसीह और परमेश्वर के राज्य में मीरास नहीं। 
Ephesians 5:6 कोई तुम्हें व्यर्थ बातों से धोखा न दे; क्योंकि इन ही कामों के कारण परमेश्वर का क्रोध आज्ञा ने मानने वालों पर भड़कता है। 
Ephesians 5:7 इसलिये तुम उन के सहभागी न हो। 
Ephesians 5:8 क्योंकि तुम तो पहले अन्धकार थे परन्तु अब प्रभु में ज्योति हो, सो ज्योति की सन्तान की नाईं चलो। 
Ephesians 5:9 (क्योंकि ज्योति का फल सब प्रकार की भलाई, और धामिर्कता, और सत्य है)। 
Ephesians 5:10 और यह परखो, कि प्रभु को क्या भाता है 
Ephesians 5:11 और अन्धकार के निष्‍फल कामों में सहभागी न हो, वरन उन पर उलाहना दो। 
Ephesians 5:12 क्योंकि उन के गुप्‍त कामों की चर्चा भी लाज की बात है। 
Ephesians 5:13 पर जितने कामों पर उलाहना दिया जाता है वे सब ज्योति से प्रगट होते हैं, क्योंकि जो सब कुछ को प्रगट करता है, वह ज्योति है। 
Ephesians 5:14 इस कारण वह कहता है, हे सोने वाले जाग और मुर्दों में से जी उठ; तो मसीह की ज्योति तुझ पर चमकेगी।
Ephesians 5:15 इसलिये ध्यान से देखो, कि कैसी चाल चलते हो; निर्बुद्धियों की नाईं नहीं पर बुद्धिमानों की नाईं चलो। 
Ephesians 5:16 और अवसर को बहुमोल समझो, क्योंकि दिन बुरे हैं। 
Ephesians 5:17 इस कारण निर्बुद्धि न हो, पर ध्यान से समझो, कि प्रभु की इच्छा क्या है?

एक साल में बाइबल: 

  • 2 इतिहास 17-18
  • यूहन्ना 13:1-20