बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, November 8, 2014

गवाही


   एक दिन अपने दफतर में कार्य करते समय मुझे मेरी पत्नि का फोन आया और उसने कहा, "हमारे पड़ौस में कुछ हो रहा है; वहाँ बहुत सी कार और गाड़ियाँ आई हुई हैं।" मेरा मन अनहोनी की आशंका से घबरा गया, और शीघ्र ही ज्ञात हुआ कि मेरा शक सही था; अपने पेशे के कारण जिस बात की आशंका हमारे पड़ौसी के साथ लगी रहती थी, वह घट गई थी। हमारा पड़ौसी, ट्रेवर स्लौट, पेशे से एक पुलिस वाला था और खतरे उसके साथ बने रहते थे; दो बैंक डकैतों को भागने से रोकने प्रयास में उसे गोली लगी और उसकी मृत्यु हो गई। हमारा मोहल्ला इस दुर्घटना से स्तब्ध रह गया।

   ट्रेवर को अपनी मृत्यु के लिए तैयार होने का कोई समय नहीं मिला, लेकिन फिर भी वह तैयार था। प्रभु यीशु मसीह में किए गए विश्वास और समर्पण के कारण उसका अनन्त काल का भविष्य सुरक्षित था, और उसके इस विश्वास तथा समर्पण से प्रभु की महिमा और आज्ञाकारिता में जीवन जीने के कारण संसार के लोगों में उसकी गवाही भी उत्तम तथा सुरक्षित थी, उसका नाम बेदाग़ था। उसके अन्तिम संसकार में भाग लेने सैंकड़ों सह-पुलिसकर्मी आए, और उसके एक साथी अधिकारी ने उसके विषय में कहा, "वह एक समर्पित पुलिस अधिकारी तो था ही लेकिन उससे पहले वह अपनी पत्नि किम के लिए एक प्रेमी पति और अपने बच्चों कैटलिन तथा एबी के लिए एक अच्छा और स्नेही पिता था।" ट्रेवर के लिए जितने लोगों ने वहाँ अपनी श्रद्धांजलियाँ दीं, उन सब ने उसके महान व्यक्तित्व तथा अपने परिवार के प्रति उसके प्रेम तथा देखभाल की बात कही।

 ट्रेवर का जीवन प्रेरित पौलुस द्वारा कुलुस्से की मण्डली को लिखी पत्री में दिए गए निर्देशों: "इसलिये परमेश्वर के चुने हुओं की नाईं जो पवित्र और प्रिय हैं, बड़ी करूणा, और भलाई, और दीनता, और नम्रता, और सहनशीलता धारण करो। और यदि किसी को किसी पर दोष देने को कोई कारण हो, तो एक दूसरे की सह लो, और एक दूसरे के अपराध क्षमा करो: जैसे प्रभु ने तुम्हारे अपराध क्षमा किए, वैसे ही तुम भी करो" (कुलुस्सियों 3:12-13) का जीवन था। परमेश्वर के वचन बाइबल के निर्देशों के पालन के कारण उसकी उत्तम गवाही उसके बाद भी विद्यमान थी।

   हम में से कोई नहीं जानता कि कब और कैसे हमें इस संसार से विदा लेकर परमेश्वर के सम्मुख अपने जीवन का हिसाब देने खड़े होना पड़ जाएगा। यदि उस समय आपके पाप आपके साथ गए तो परिणाम बहुत दुखदायी और अपरिवर्तनीय होंगे। प्रभु यीशु से पापों की क्षमा माँग कर, उसे अपना जीवन समर्पित कर के ट्रेवर की भाँति आप भी अनन्तकाल की उस आशीष के लिए तैयार हो जाएं जो आपको इस जीवन में भी अच्छी गवाही प्रदान करेगी और मृत्योप्रांत के जीवन को भी सदा काल के लिए संवार देगी। तब आपके लिए हर दिन प्रभु के लिए एक जीवित गवाही बनकर आनन्द के साथ जीवन जीने का अवसर रहेगा, और आपकी यह गवाही दूसरों के लिए भी प्रेर्णा का स्त्रोत बन जाएगी। - डेव ब्रैनन


प्रतिदिन हम अपनी गवाही में कुछ भला या बुरा जोड़ते रहते हैं, वही हमारे बाद संसार के समक्ष रह जाएगा।

और एक दूसरे पर कृपाल, और करूणामय हो, और जैसे परमेश्वर ने मसीह में तुम्हारे अपराध क्षमा किए, वैसे ही तुम भी एक दूसरे के अपराध क्षमा करो। - इफिसियों 4:32

बाइबल पाठ: कुलुस्सियों 3:8-17
Colossians 3:8 पर अब तुम भी इन सब को अर्थात क्रोध, रोष, बैरभाव, निन्‍दा, और मुंह से गालियां बकना ये सब बातें छोड़ दो। 
Colossians 3:9 एक दूसरे से झूठ मत बोलो क्योंकि तुम ने पुराने मनुष्यत्‍व को उसके कामों समेत उतार डाला है। 
Colossians 3:10 और नए मनुष्यत्‍व को पहिन लिया है जो अपने सृजनहार के स्‍वरूप के अनुसार ज्ञान प्राप्त करने के लिये नया बनता जाता है। 
Colossians 3:11 उस में न तो यूनानी रहा, न यहूदी, न खतना, न खतनारिहत, न जंगली, न स्‍कूती, न दास और न स्‍वतंत्र: केवल मसीह सब कुछ और सब में है।
Colossians 3:12 इसलिये परमेश्वर के चुने हुओं की नाईं जो पवित्र और प्रिय हैं, बड़ी करूणा, और भलाई, और दीनता, और नम्रता, और सहनशीलता धारण करो। 
Colossians 3:13 और यदि किसी को किसी पर दोष देने को कोई कारण हो, तो एक दूसरे की सह लो, और एक दूसरे के अपराध क्षमा करो: जैसे प्रभु ने तुम्हारे अपराध क्षमा किए, वैसे ही तुम भी करो। 
Colossians 3:14 और इन सब के ऊपर प्रेम को जो सिद्धता का कटिबन्‍ध है बान्‍ध लो। 
Colossians 3:15 और मसीह की शान्‍ति जिस के लिये तुम एक देह हो कर बुलाए भी गए हो, तुम्हारे हृदय में राज्य करे, और तुम धन्यवादी बने रहो। 
Colossians 3:16 मसीह के वचन को अपने हृदय में अधिकाई से बसने दो; और सिद्ध ज्ञान सहित एक दूसरे को सिखाओ, और चिताओ, और अपने अपने मन में अनुग्रह के साथ परमेश्वर के लिये भजन और स्‍तुतिगान और आत्मिक गीत गाओ। 
Colossians 3:17 और वचन से या काम से जो कुछ भी करो सब प्रभु यीशु के नाम से करो, और उसके द्वारा परमेश्वर पिता का धन्यवाद करो।

एक साल में बाइबल: 
  • प्रेरितों 1-2