बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, May 7, 2014

समयानुसार


   मैं पहली बार सन 2005 में जमाइका के दक्षिणी तट के निकट पास्टर औडले ब्लैक के चर्च में आया था। तब उन्होंने अपने चर्च की आराधना सभा के लिए भवन के विस्तार का एक कार्यक्रम आरंभ किया ही था। उसके बाद मैं जितनी बार लौट कर वहाँ आया मैंने पाया कि उस भवन विस्तार में धीरे ही सही लेकिन कुछ ना कुछ बढ़ोतरी अवश्य ही होती जा रही थी। उन लोगों में इस बात को लेकर कोई निराशा नहीं थी कि भवन के पूरा होने में इतना समय लग रहा है। पास्टर ब्लैक और उस चर्च के अन्य लोग परमेश्वर के समय और जो कुछ वह उनके लिए कर रहा है उसको लेकर बहुत खुश रहते हैं। उनका यह धैर्य, आनन्द और विश्वास मेरे लिए एक प्रेर्णा और शिक्षा है।

   हम लोग सामान्यतः अधीर रहते हैं। हम चाहते हैं कि हमारा चर्च तेज़ी से बढ़े, चर्च के जवान तेज़ी से परिपक्व हों और हमारी सभी समस्याएं बस आज ही हल हो जाएं। हमें यह स्मरण दिलाया जाना आवश्यक है कि हर बात को कुछ समय लगता है, सब कुछ परमेश्वर के समयानुसार ही होता है। उदाहरण के लिए, जब इस्त्राएलियों ने मिस्त्र की गुलामी से छुड़ाए जाने के बाद वाचा किए हुए कनान देश की ओर कूच किया तो परमेश्वर ने उन्हें वहाँ पहुँचाने के लिए लंबे मार्ग को चुना (निर्गमन 13:17-18)। उस लंबे मार्ग की यात्रा के समय में वे बहुत सी चुनौतियों से होकर निकले, परमेश्वर ने उन्हें बहुत कुछ सिखाया और अनेक बातों में से निकालकर एक नए जीवन के लिए तैयार किया।

   हमारे आज के सब कुछ त्वरित रीति से करने की लालसा रखने वाले संसार में हमारा नज़रिया भी हमारे लिए सब कुछ बिना किसी विलंब के हो जाने का रहता है। लेकिन कई दफा यह शीघ्रता परमेश्वर की योजना के अनुसार नहीं होती। हम मसीही विश्वासियों को परमेश्वर की इच्छा और योजना जानते रहने वाला बनना चाहिए, उसके समयानुसार हर कार्य को होने देने को स्वीकार करने वाला होना चाहिए। - डेव ब्रैनन


परमेश्वर की समय-सारणी भले ही धीमी गति से बढ़े, लेकिन आगे की ओर स्थिरता के साथ बढ़ती है।

क्योंकि हर एक विषय का समय और नियम होता है, यद्यिप मनुष्य का दु:ख उसके लिये बहुत भारी होता है। - सभोपदेशक 8:6

बाइबल पाठ: निर्गमन 13:17-22
Exodus 13:17 जब फिरौन ने लोगों को जाने की आज्ञा दे दी, तब यद्यपि पलिश्तियों के देश में हो कर जो मार्ग जाता है वह छोटा था; तौभी परमेश्वर यह सोच कर उन को उस मार्ग से नहीं ले गया, कि कहीं ऐसा न हो कि जब ये लोग लड़ाई देखें तब पछताकर मिस्र को लौट आएं। 
Exodus 13:18 इसलिये परमेश्वर उन को चक्कर खिलाकर लाल समुद्र के जंगल के मार्ग से ले चला। और इस्राएली पांति बान्धे हुए मिस्र से निकल गए। 
Exodus 13:19 और मूसा यूसुफ की हड्डियों को साथ लेता गया; क्योंकि यूसुफ ने इस्राएलियों से यह कहके, कि परमेश्वर निश्चय तुम्हारी सुधि लेगा, उन को इस विषय की दृढ़ शपथ खिलाई थी, कि वे उसकी हड्डियों को अपने साथ यहां से ले जाएंगे। 
Exodus 13:20 फिर उन्होंने सुक्कोत से कूच कर के जंगल की छोर पर एताम में डेरा किया। 
Exodus 13:21 और यहोवा उन्हें दिन को मार्ग दिखाने के लिये मेघ के खम्भे में, और रात को उजियाला देने के लिये आग के खम्भे में हो कर उनके आगे आगे चला करता था, जिससे वे रात और दिन दोनों में चल सकें। 
Exodus 13:22 उसने न तो बादल के खम्भे को दिन में और न आग के खम्भे को रात में लोगों के आगे से हटाया।

एक साल में बाइबल: 
  • नहेम्याह 1-3