बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, January 12, 2017

कथा-वाचक


   अमेरिका के गृह-युद्ध (1861-1865) के बाद के वर्षों में मेजर जनरल ल्यु वॉलेस न्यू-मेक्सिको इलाके के; जो अभी तक अन्य संयुक्त राज्यों के साथ जोड़ा नहीं गया था, राज्यपाल थे। उस इलाके में उनके कार्य ने उन्हें उस समय के उन जाने-माने चरित्रों के साथ संपर्क करवाया, जिनके किस्सों को आज हम अमेरिका के ’वाइल्ड वेस्ट’ (प्रशासनिक नियंत्रण-विहीन पश्चिमी क्षेत्र) की कहानियों, कुछ सच्ची और अनेकों काल्पनिक, में पढ़ते हैं; जैसे कि ’बिल्ली द किड’ और ’शेरिफ़ पैट गैरट’। इसी समय में वॉलेस ने अपना सुप्रसिद्ध उपन्यास, ’बेन-हर: ए टेल ऑफ़ क्राईस्ट’ भी लिखा, जिसे उन्नीसवीं सदी की सबसे प्रभावशाली मसीही पुस्तक कहा गया है।

   गृह-युद्ध और ’वाइल्ड वेस्ट’ के समय की हिंसा में वॉलेस ने पाप का मानव जाति पर बहुत बुरा और भयानक प्रभाव देखा था। अपने जीवन काल के अनुभवों से ल्यु वॉलेस ने समझा कि केवल मसीह यीशु ही में पापों से मुक्ति और परमेश्वर के साथ मिल-मिलाप की सामर्थ है, और अपने लिखे लोक प्रीय उपन्यास में इस बात को दिखाया और समझाया।

   मसीह यीशु के अनुयायी के लिए, जीवन का सबसे उत्कृष्ट पल वह होता है जब, "उसी ने हमें अन्धकार के वश से छुड़ाकर अपने प्रिय पुत्र के राज्य में प्रवेश कराया। जिस में हमें छुटकारा अर्थात पापों की क्षमा प्राप्त होती है" (कुलुस्सियों 1:13-14)। यह क्षमा और छुटकारा पा लेने के पश्चात हम परमेश्वर द्वारा हमारे जीवन में किए गए इस अद्भुत कार्य के गवाह, उस कार्य से जीवन में आए परिवर्तन की कहानी को औरों को बताने वाले ’कथा-वाचक’ हो जाते हैं। - रैंडी किलगोर


मसीह यीशु द्वारा आपके जीवन में लाए परिवर्तन की कहानी, 
पाप से परेशान संसार को आप को अवश्य सुनानी चाहिए।

और वे मेम्ने के लोहू के कारण, और अपनी गवाही के वचन के कारण, उस पर जयवन्‍त हुए, और उन्होंने अपने प्राणों को प्रिय न जाना, यहां तक कि मृत्यु भी सह ली। - प्रकाशितवाक्य 12:11

बाइबल पाठ: कुलुस्सियों 1:13-23
Colossians 1:13 उसी ने हमें अन्धकार के वश से छुड़ाकर अपने प्रिय पुत्र के राज्य में प्रवेश कराया। 
Colossians 1:14 जिस में हमें छुटकारा अर्थात पापों की क्षमा प्राप्त होती है। 
Colossians 1:15 वह तो अदृश्य परमेश्वर का प्रतिरूप और सारी सृष्‍टि में पहिलौठा है। 
Colossians 1:16 क्योंकि उसी में सारी वस्‍तुओं की सृष्‍टि हुई, स्वर्ग की हो अथवा पृथ्वी की, देखी या अनदेखी, क्या सिंहासन, क्या प्रभुतांए, क्या प्रधानताएं, क्या अधिकार, सारी वस्तुएं उसी के द्वारा और उसी के लिये सृजी गई हैं। 
Colossians 1:17 और वही सब वस्‍तुओं में प्रथम है, और सब वस्तुएं उसी में स्थिर रहती हैं।
Colossians 1:18 और वही देह, अर्थात कलीसिया का सिर है; वही आदि है और मरे हुओं में से जी उठने वालों में पहिलौठा कि सब बातों में वही प्रधान ठहरे। 
Colossians 1:19 क्योंकि पिता की प्रसन्नता इसी में है कि उस में सारी परिपूर्णता वास करे। 
Colossians 1:20 और उसके क्रूस पर बहे हुए लोहू के द्वारा मेल मिलाप कर के, सब वस्‍तुओं का उसी के द्वारा से अपने साथ मेल कर ले चाहे वे पृथ्वी पर की हों, चाहे स्वर्ग में की। 
Colossians 1:21 और उसने अब उसकी शारीरिक देह में मृत्यु के द्वारा तुम्हारा भी मेल कर लिया जो पहिले निकाले हुए थे और बुरे कामों के कारण मन से बैरी थे। 
Colossians 1:22 ताकि तुम्हें अपने सम्मुख पवित्र और निष्‍कलंक, और निर्दोष बनाकर उपस्थित करे। 
Colossians 1:23 यदि तुम विश्वास की नेव पर दृढ़ बने रहो, और उस सुसमाचार की आशा को जिसे तुम ने सुना है न छोड़ो, जिस का प्रचार आकाश के नीचे की सारी सृष्‍टि में किया गया; और जिस का मैं पौलुस सेवक बना।

एक साल में बाइबल: 
  • उत्पत्ति 29-30
  • मत्ती 9:1-17