बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, November 4, 2014

साक्षी


   लगभग 20 वर्षों से डैन स्मिथ का नाम और चेहरा न्यू-यॉर्क शहर के छोटे व्यावासायिक स्थानों, कॉफी की दुकानों, दैनिक उपयोग की सामग्री की दुकानों आदि में लगे विज्ञापनों में दिखाई देता रहा है और प्रचलित रहा है। डैन स्मिथ का एक छोटे से वाक्य का छोटा सा विज्ञापन है: "डैन स्मिथ आपको गिटार सिखाएगा।" बस इस छोटे से विज्ञापन का परिणाम है कि डैन स्मिथ अपने छात्रों को गिटार बजाना सिखाने में व्यस्त रहता है; उसके पास काम की कमी नहीं है, अपनी व्यस्तता का स्तर वह स्वयं निर्धारित करता है। उसके सिखाए हुए छात्र फिर अन्य स्थानों पर उसके विज्ञापन को लगा देते हैं, जो उनकी साक्षी है कि डैन स्मिथ ने मुझे सिखाया और वह आपको भी सिखा सकता है।

   परमेश्वर के वचन बाइबल के पृष्ठ उन लोगों की साक्षियों से भरे पड़े हैं जिनके जीवनों में परमेश्वर ने अद्भुत रीति से कार्य किया है। इन अद्भुत साक्षियों में से एक है यूहन्ना के 9 अध्याय में दी गई जन्म से अन्धे व्यक्ति की साक्षी, जिसकी दृष्टि प्रभु यीशु ने ठीक कर दी। इस विषय में जब शक्की और प्रभु यीशु के प्रति बैर रखने वाले धर्म के अगुवों ने बार-बार उस व्यक्ति से प्रश्न किए तो, "उसने उत्तर दिया: मैं नहीं जानता कि वह पापी है या नहीं: मैं एक बात जानता हूं कि मैं अन्‍धा था और अब देखता हूं" (यूहन्ना 9:25)।

   यदि आप से कहा जाए कि एक छोटे वाक्य में किसी व्यक्ति को बताएं कि प्रभु यीशु ने आपके लिए ऐसा क्या किया है जो वह दूसरों के जीवन में भी कर सकता है, तो आप क्या कहेंगे? संभवतः आपका उत्तर होगा, "प्रभु यीशु आपके भी पाप क्षमा कर सकता है"; या फिर, "...आपको भी अनन्त जीवन की चिर-स्थाई आशा दे सकता है"; या "...अनन्त विनाश से आपके भी प्राण बचा सकता है"। यदि प्रभु यीशु ने हमारे जीवनों में परिवर्तन किया है तो हम भी अपने जीवन में अनुभव किए गए उसके सामर्थ कि साक्षी दूसरों के समक्ष रख सकते हैं, कि जो उसने मेरे जीवन में किया है वह आपके जीवन में भी कर सकता है, जैसे प्रभु यीशु से साक्षात्कार के बाद उस अन्धे व्यक्ति ने कहा और संसार भर के आत्मिक रीति से अनेक अन्धे कहते आ रहे हैं - "... मैं अन्‍धा था और अब देखता हूं"। - डेविड मैक्कैसलैंड


सावधान रहें कि लोग हमारे जीवनों में क्या पढ़ते हैं; क्योंकि हमारे जीवन ही मसीह यीशु के साक्षी पत्र हैं।

...और उस से कहा, अपने घर जा कर अपने लोगों को बता, कि तुझ पर दया कर के प्रभु ने तेरे लिये कैसे बड़े काम किए हैं। - मरकुस 5:19

बाइबल पाठ: यूहन्ना 9:1-25
John 9:1 फिर जाते हुए उसने एक मनुष्य को देखा, जो जन्म का अन्‍धा था। 
John 9:2 और उसके चेलों ने उस से पूछा, हे रब्बी, किस ने पाप किया था कि यह अन्‍धा जन्मा, इस मनुष्य ने, या उसके माता पिता ने? 
John 9:3 यीशु ने उत्तर दिया, कि न तो इस ने पाप किया था, न इस के माता पिता ने: परन्तु यह इसलिये हुआ, कि परमेश्वर के काम उस में प्रगट हों। 
John 9:4 जिसने मुझे भेजा है; हमें उसके काम दिन ही दिन में करना अवश्य है: वह रात आनेवाली है जिस में कोई काम नहीं कर सकता। 
John 9:5 जब तक मैं जगत में हूं, तब तक जगत की ज्योति हूं। 
John 9:6 यह कहकर उसने भूमि पर थूका और उस थूक से मिट्टी सानी, और वह मिट्टी उस अन्धे की आंखों पर लगाकर। 
John 9:7 उस से कहा; जा शीलोह के कुण्ड में धो ले, (जिस का अर्थ भेजा हुआ है) सो उसने जा कर धोया, और देखता हुआ लौट आया। 
John 9:8 तब पड़ोसी और जिन्हों ने पहले उसे भीख मांगते देखा था, कहने लगे; क्या यह वही नहीं, जो बैठा भीख मांगा करता था? 
John 9:9 कितनों ने कहा, यह वही है: औरों ने कहा, नहीं; परन्तु उसके समान है: उसने कहा, मैं वही हूं। 
John 9:10 तब वे उस से पूछने लगे, तेरी आंखें क्योंकर खुल गईं? 
John 9:11 उसने उत्तर दिया, कि यीशु नाम एक व्यक्ति ने मिट्टी सानी, और मेरी आंखों पर लगाकर मुझ से कहा, कि शीलोह में जा कर धो ले; सो मैं गया, और धोकर देखने लगा। 
John 9:12 उन्होंने उस से पूछा; वह कहां है? उसने कहा; मैं नहीं जानता।
John 9:13 लोग उसे जो पहिले अन्‍धा था फरीसियों के पास ले गए। 
John 9:14 जिस दिन यीशु ने मिट्टी सानकर उस की आंखे खोलीं थी वह सब्त का दिन था। 
John 9:15 फिर फरीसियों ने भी उस से पूछा; तेरी आंखें किस रीति से खुल गईं? उस न उन से कहा; उसने मेरी आंखो पर मिट्टी लगाई, फिर मैं ने धो लिया, और अब देखता हूं। 
John 9:16 इस पर कई फरीसी कहने लगे; यह मनुष्य परमेश्वर की ओर से नहीं, क्योंकि वह सब्त का दिन नहीं मानता। औरों ने कहा, पापी मनुष्य क्योंकर ऐसे चिन्ह दिखा सकता है? सो उन में फूट पड़ी। 
John 9:17 उन्होंने उस अन्धे से फिर कहा, उसने जो तेरी आंखे खोलीं, तू उसके विषय में क्या कहता है? उसने कहा, यह भविष्यद्वक्ता है। 
John 9:18 परन्तु यहूदियों को विश्वास न हुआ कि यह अन्‍धा था और अब देखता है जब तक उन्होंने उसके माता-पिता को जिस की आंखे खुल गईं थी, बुलाकर। 
John 9:19 उन से न पूछा, कि क्या यह तुम्हारा पुत्र है, जिसे तुम कहते हो कि अन्‍धा जन्मा था? फिर अब क्योंकर देखता है? 
John 9:20 उसके माता-पिता ने उत्तर दिया; हम तो जानते हैं कि यह हमारा पुत्र है, और अन्‍धा जन्मा था। 
John 9:21 परन्तु हम यह नहीं जानते हैं कि अब क्योंकर देखता है; और न यह जानते हैं, कि किस ने उस की आंखे खोलीं; वह सयाना है; उसी से पूछ लो; वह अपने विषय में आप कह देगा। 
John 9:22 ये बातें उसके माता-पिता ने इसलिये कहीं क्योंकि वे यहूदियों से डरते थे; क्योंकि यहूदी एका कर चुके थे, कि यदि कोई कहे कि वह मसीह है, तो आराधनालय से निकाला जाए। 
John 9:23 इसी कारण उसके माता-पिता ने कहा, कि वह सयाना है; उसी से पूछ लो। 
John 9:24 तब उन्होंने उस मनुष्य को जो अन्‍धा था दूसरी बार बुलाकर उस से कहा, परमेश्वर की स्‍तुति कर; हम तो जानते हैं कि वह मनुष्य पापी है। 
John 9:25 उसने उत्तर दिया: मैं नहीं जानता कि वह पापी है या नहीं: मैं एक बात जानता हूं कि मैं अन्‍धा था और अब देखता हूं।

एक साल में बाइबल: 
  • यूहन्ना 7-10